चीन सीमा पर घुसपैठ को लेकर देश को सच्चाई बताए सरकार : कांग्रेस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 4 जून 2020

चीन सीमा पर घुसपैठ को लेकर देश को सच्चाई बताए सरकार : कांग्रेस

congress-ask-question-on-china
नयी दिल्ली 03 जून, कांग्रेस ने कहा है कि चीन सीमा पर पैदा हुई तनाव की स्थिति को लेकर सरकार को स्पष्ट नीति अपनाते हुए कोई तथ्य छिपाए बिना इस मुद्दे को साफ तौर पर जनता के सामने लाना चाहिए और इस मामले में देश की जनता को विश्वास में लिया जाना चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर कांग्रेस सरकार के साथ खडी है और वह जो भी कदम उठाएगी पार्टी उसका समर्थन करेगी लेकिन सरकार को इस मुद्दे पर कोई भी तथ्य छिपाना नहीं चाहिए। वह इस मामले को जितना छिपाएगी उससे उतनी ही ज्यादा समस्या पैदा होगा और देश इस बारे में उससे सवाल करता रहेगा। उन्होंने कहा कि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस बारे में जो बयान दिया है उसको लेकर सरकार ने आज स्पष्टीकरण देने का प्रयास किया है उससे लगता है कि सरकार कुछ छिपाने का प्रयास कर रही है। सरकार ने चीन सीमा पर घुसपैठ को लेकर कल जो बात कही उस पर आज स्पष्टीकरण दिया। प्रवक्ता ने कहा कि रक्षा मंत्री ने कल कहा था,“पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिक अच्छी खासी संख्या में आ गये हैं और भारत ने भी स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए हैं। चीनी वहां तक आ गये हैं जसको वे अपना होने का दावा करते हैं जबकि भारत का का मनना है कि यह उसका नहीं हमारा क्षेत्र है।” उन्होंने कहा कि रक्षा मत्री के एक दिन पहले दिए गये बयान पर सरकार के पत्र सूचना कार्यालय-पीआईबी ने आज स्पष्टीकरण दिया और कहा कि रक्षा मंत्री के बयान को गलत तरीके से लिया गया है और उनका मतलब यह नहीं था कि जिसे सरकार अपना इलाका मानती है वहां तक चीनी सैनिक पहुंच गये हैं। श्री सिंघवी ने कहा कि सरकार के बयान से स्पष्ट है कि वह गलत बोल रही है और देश को सीमा पर चीनी घुसपैठ को लेकर गुमराह कर रही है। सरकार की तरफ से यदि सब कुछ ठीक होता तो उसे पीआई से अजीबोगरीब स्पष्टीकरण देने की जरूरत नहीं पड़ती।

कोई टिप्पणी नहीं: