महाराष्ट्र तट से टकराया निसर्ग, मुंबई के निचले इलाकों में भरा पानी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 4 जून 2020

महाराष्ट्र तट से टकराया निसर्ग, मुंबई के निचले इलाकों में भरा पानी

cyclone-nisarg-mumbai
मुंबई 03 जून, चक्रवाती तूफान निसर्ग बुधवार को महाराष्ट्र तट से टकरा गया, जिसके कारण मुंबई और आसपास के क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है। मौसम विभाग की रिपोर्टाें में कहा गया है तूफान के जमीन से टकराने की प्रक्रिया शुरू हो गई है और यह अगले तीन घंटे में पूरी हो जाएगी। भारी बारिश होने के कारण शहर के उपनगरीय क्षेत्र के कई निचले इलाकों में पानी भर गया है। राज्य में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 10 टीमों को विभिन्न जगहों पर तैनात किया गया, जबकि सशस्त्र बलों को आपतालकालीन सेवाओं को लिए तैयार रखा गया है। मौसम की स्थिति को देखते हुए घरेलू उड़ानों के परिचालन कम कर दिया गया है। छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा ने घोषणा की है कि यहां से आज सिर्फ 19 विमानों का परिचालन होगा, जिसमें 11 उड़ाने यहां से रवाना होंगी। हवाई अड्डा सूत्रों के अनुसार एयर इंडिया, एयर एशिया, इंडिगो, गोएयर तथा स्पाइस जेट के विमानों का परिचालन होगा, लेकिन अंतिम समय में विमान के परिचालन के समय में बदलाव हो सकता है। मुंबई में निषेधाज्ञा आदेश जारी कर दिये गये हैं और मुंबई पुलिस तथा अन्य सुरक्षा एजेंसियां यह सुनिश्चित करने में जुटी हुई है, कि कोई भी व्यक्ति समुद्र की ओर अथवा खुले स्थानों की तरफ नहीं जाए। तूफान को देखते हुए कच्चे घरों में रहने वाले लगभग दो हजार लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया है, जबकि निचले क्षेत्रों के झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले करीब दो हजार लोगों को इन्हें खाली कर सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए कहा गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: