जमशेदपुर : क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे कुल 450 लोगों को इम्यूनिटी बूस्टर होम्योपैथिक दवा दिया गया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 जून 2020

जमशेदपुर : क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे कुल 450 लोगों को इम्यूनिटी बूस्टर होम्योपैथिक दवा दिया गया

distribute-medicine-jamshedpur-quarentine-center
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) प्रखंड विकास पदाधिकारी श्री संजय कुमार दास एवं अंचलाधिकारी श्री रिंकू कुमार द्वारा आज प्रखंड अंतर्गत क्वॉरेंटाइन सेंटर में(घाटशिला कॉलेज, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय एवं महुलिया हाई स्कूल) होम्योपैथिक दवा दी गई। इस बाबत प्ररवंड विकास पदाधिकारी द्वारा बताया गया की यह दवा आर्सेनिक एल्बम 30 भारत सरकार द्वारा प्रमाणित की गई है,  यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास करता है। सभी लोगों को दवा लेने के तरीकों के के बारे में बताया गया कि सभी व्यस्क इस दवा की चार गोली एवं छोटे बच्चे जो 10 साल या उससे कम उम्र के हैं वे दो गोली 3 महीने तक 3 दिन प्रातः काल में लेंगे एवं प्रातः काल दवा लेने के पश्चात आधे घंटे तक पानी या नाश्ता या कुछ भी नही किया जाना है क्योंकि इससे दवा का असर खत्म हो जाता है। इसके अलावा क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे जवानों को भी यह दवा दी गई तथा सभी लोगों से अपील की गई कि सरकार द्वारा बनाए गए सुरक्षात्मक उपायों का पालन करें एवं अपने आत्मविश्वास को बनाए रखें क्योंकि किसी भी बीमारी से लड़ने के लिए सबसे ज्यादा हमें अपने आत्मविश्वास की जरूरत होती है। यह दवा लोगों की रोग से लडने की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है जो कोविड 19 जैसे वैश्विक महामारी से लडने के लिए माकूल है। इसके अलावे प्ररवंड विकास पदाधिकारी द्वारा क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे लोगों को सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने, सैनिटाइजर, मास्क का प्रयोग,यत्र -तत्र न थूकने एवं उपरोक्त सुरक्षात्मक उपायों को क्वारंटाइन अवधि की समाप्ति के पश्चात भी पालन करने का निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव का सबसे बेहतर उपाय सतर्कता है। इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य एवं चिकित्सक मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: