बेतिया : जिले के 09 दिव्यांगजनों के मामलों की हुई आॅनलाइन सुन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 जून 2020

बेतिया : जिले के 09 दिव्यांगजनों के मामलों की हुई आॅनलाइन सुन

online-appeal-for-disablity-betiyah
बेतिया,21 जून। वैश्विक कोरोना काल में दिव्यांगों की सुधि ली जा रही है। आज पश्चिम चम्पारण जिले में आॅनलाइन सुनवाई की गयी। उन दिव्यांगजों की शिकायत सुनी गयी और राज्य आयुक्त्त, निःशक्तता ने 15 दिनों के अंदर प्राप्त शिकायतों का निराकरण करने का  निर्देश दिया। पश्चिम चम्पारण जिले के दिव्यांगजनों की शिकायतों एवं समस्याओं का आॅनलाइन सुनवाई आज 11 जून को राज्य आयुक्त, निःशक्तता की अध्यक्षता में वीडियो कांफ्रेंसिंग (जूम एप) के माध्यम से सुनवाई की गयी। इस सुनवाई में जिले के 09 दिव्यांगजनों ने अपनी-अपनी समस्याओं को रखा। आॅनलाइन सुनवाई में अधिकतर मामले राशन कार्ड, मनरेगा जाॅब कार्ड, प्रधानमंत्री आवास योजना एवं दिव्यांगता पेंशन बाधित होने के थे। राज्य आयुक्त, निःशक्तता द्वारा सभी फरियादियों की समस्याओं पर सुनवाई की गयी तथा संबंधित पदाधिकारियों को 15 दिनों के अंदर प्राप्त शिकायतों का निराकरण करने का निर्देश दिया।  राज्य आयुक्त, निःशक्तता द्वारा सभी जिला कार्यक्रम प्रबंधक, स्वास्थ्य को यह निर्देशित किया गया कि थैलेसेमिया बीमारी से ग्रसित मरीजों को नियमित अंतराल पर रक्त की आवश्यकता होती है। ऐसे मरीजों को बिना किसी डोनर के ही रक्त उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाय।  आॅनलाइन सुनवाई में जिला आपूर्ति पदाधिकारी, सहायक निदेशक, जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, स्वास्थ्य एवं जिला प्रबंधक, बुनियाद केन्द्र, पश्चिम चम्पारण आदि उपस्थित रहे। चयनित आंगनबाड़ी केन्द्रों के दीवारों पर बिल्डिंग एज लर्निंग एड के तहत करायी जायेगी पेंटिंग वापस लौटे श्रमिकों से दीवारों पर लर्निंग एड पेंटिंग कराने का निर्देश दिया। जिले के चयनित आंगनबाड़ी केन्द्रों के आंतरित एवं बाहरी दीवारों पर लर्निंग एड के तहत पेंटिंग करायी जायेगी। लर्निंग एड पेंटिंग हो जाने के उपरांत केन्द्रों पर आने वाले बच्चों को इससे लाभ मिलेगा। जिले के प्रत्येक प्रखंड में एक-एक आंगनबाड़ी का चयन किया गया जहां लर्निंग पेंटिंग करायी जायेगी। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उक्त बातें जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, आइसीडीएस, डाॅ. निरूमा कुमारी ने कही। वे आज समाहरणालय सभागार में आयोजित समीक्षात्मक बैठक में संबंधित अधिकारियों को संबोधित कर रही थी। उन्होंने पेंटिंग का कार्य निर्धारित समय सीमा के अंदर पूर्ण करा लेने का सख्त निर्देश दिया है ताकि आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आने वाले बच्चों को इसका लाभ जल्द से जल्द मिल सके। उन्होंने कहा कि विभागीय निर्देशानुसार जिले के लर्निंग एड पेंटिंग हेतु 32 आंगनबाड़ी केन्द्रों का चयन किया गया है। फिलहाल लर्निंग पेंटिंग का यह कार्य प्रत्येक प्रखंडों के एक-एक आंगनबाड़ी केन्द्रों पर किया जा रहा है। बाद में जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों को भी लर्निंग एड से आच्छादित किया जायेगा। समीक्षा बैठक कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, बेतिया श्री विजय उपाध्याय की अध्यक्षता में सम्पन्न हुयी। समीक्षा के क्रम में उन्होंने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि जिला पदाधिकारी, श्री कुंदन कुमार के निर्देश के आलोक में आंगनबाड़ी केन्द्रों के दीवारों पर लर्निंग एड के तहत पेंटिंग का कार्य लाॅकडाउन में वापस लौटे पेंटरों से ही कराना है। जिससे इन पेंटरों को रोजगार भी उपलब्ध हो सकेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: