रेलवे ने 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलायीं - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 जून 2020

रेलवे ने 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलायीं

railway-run-4155-shramik-express
नयी दिल्ली, दो जून, रेलवे ने 57 लाख से अधिक प्रवासी यात्रियों को पहुंचाने के लिए एक मई से 4155 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलायी हैं। ये ट्रेनें विभिन्न राज्यों से रवाना हुईं। पांच राज्यों या केंद्रशासित प्रदेशों से सर्वाधिक ट्रेनें चलीं। गुजरात से सर्वाधिक 1027 ट्रेनें, महाराष्ट्र से 802, पंजाब से 416, उत्तर प्रदेश से 288 तथा बिहार से 294 ट्रेनें रवाना हुईं। इन ट्रेनों के गंतव्य विभिन्न राज्यों में थे। उत्तर प्रदेश में 1670 ट्रेनें, बिहार में 1482 ट्रेनें, झारखंड में 194, ओडिशा में 180 ट्रेनें और पश्चिम बंगाल में 135 ट्रेनें पहुंचीं। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि अब चल रही ट्रेनें किसी भी यातायात संबंधी भीड़भाड़ का सामना नहीं कर रही हैं। इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा रेलवे 15 जोड़ी राजधानी स्पेशल ट्रेनें भी चला रही है । उसने एक जून से समय सारिणी वाली 200 ट्रेनें शुरू की है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनें मुख्यत: राज्यों के अनुरोध पर चलायी जा रही हैं जो कोविड-19 लॉकडाउन के चलते फंसे प्रवासी श्रमिकों को भेजना चाहते हैं। रेलवे का कहना है कि करीब 80 फीसद श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के गंतव्य उत्तर प्रदेश और बिहार में रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: