आरोग्य सेतु ऐप की तर्ज पर टाटा स्टील बना रहा सुरक्षा ऐप, कर्मचारियों को मिलेंगे कई लाभ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 जून 2020

आरोग्य सेतु ऐप की तर्ज पर टाटा स्टील बना रहा सुरक्षा ऐप, कर्मचारियों को मिलेंगे कई लाभ

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने भविष्य की चिंता को बढ़ाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व को बढ़ा दिया है. इसको लेकर अधिकतर काम अब डिजिटल तरीके से होने लगा है. ऐसे में टाटा स्टील कंपनी सुरक्षा ऐप नाम से एक ऐप लांच करने जा रही है. यह ऐप कर्मचारियों के मूवमेंट को कम से कम करेगा.
tata-steel-creating-app-for-covid
जमशेदपुर (आर्यावर्त संवाददाता) आरोग्य सेतु ऐप की तर्ज पर टाटा स्टील कंपनी सुरक्षा ऐप नाम से एक ऐप लांच करने जा रही है. यह ऐप कर्मचारियों की सुविधाओं और दिन प्रतिदिन होने वाले कामों को ध्यान में रखकर बनाया जा रहा है. इस ऐप के माध्यम से छोटे-छोटे काम जिसके लिए कर्मचारियों को कई अधिकारी और अलग-अलग विभाग में जाना पड़ता है. इससे वे एक से ज्यादा व्यक्ति के संपर्क में आते हैं. इससे सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन में समस्या आएगी. सुरक्षा ऐप कर्मचारियों को ऐसी ही सुविधा देगा जो उनके मूवमेंट को कम से कम करेगा. उदाहरण के तौर पर अगर किसी कर्मचारी या उनके परिवार के किसी सदस्य की मेडिकल बुक गुम हो गई हो तो कर्मचारी को अब न तो आवेदन की हार्ड कॉपी जमा करनी होगी और न जिन जिन विभागों में उन्हें जाना पड़ता था वहां जाना होगा. ऐप में ही कर्मचारी एक रिक्विजिशन भेज देंगे. मेडिकल बुक बनने के बाद उन्हें कहां से (ड्रॉप बॉक्स) मिलेगा, इसकी जानकारी ऐप के माध्यम से कर्मचारी को दे दी जाएगी. बता दें कि भारत सरकार ने देश में लोगों को कोरोना के प्रति सतर्क करने के लिए आरोग्य सेतु नाम का एक ऐप शुरु किया है. अगर कोई व्‍यक्ति किसी भी कोरोना पॉजिटिव रोगी के साथ निकट संपर्क में आता है, तो यह ऐप उसे एलर्ट कर देगा. आरोग्य सेतु ऐप ब्लूटूथ और लोकेशन जनरेटेड सोशल ग्राफ के माध्यम से ट्रैकिंग का काम करता है. यह कोविड-19 मरीज के संपर्क में आने की पुनरावृत्ति और निकटता के आधार पर यूजर में संक्रमण होने के जोखिम को कैलकुलेट करके उसे आगाह करता है. इस ऐप के द्वारा किसी भी व्‍यक्ति को यह पता चल जाता है कि उसे कोरोना संक्रमण का खतरा कितना कम या ज्‍यादा है

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...