सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 जून 2020

सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी

tribute-to-sushant-singh-rajput
पटना (आर्यावर्त संवाददाता) बाॅलीवुड के अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को दीघा विधान सभाई क्षेत्र के लोगों के द्वारा द्वारा श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी गयी. श्रद्धांजलि सभा की अध्यक्षता समाज सेवक पप्पू राय ने की. हजारों की संख्या में लोग अपने चहेते स्वर्गीय सुशांत सिंह राजपूत जी को श्रद्धांजलि अर्पित किए. इसके बाद श्रद्धांजलि स्थल कुर्जी मोड़ से लेकर राजीव नगर रेलवे लाइन तक हजारों की संख्या में कार्यकर्ता पैदल मार्च किये. पटना नगर निगम के वार्ड संख्या-22 सी की वार्ड पार्षद रजनी देवी के वार्ड पार्षद प्रतिनिधि हैं पप्पू राय. उन्होंने रजनी देवी को वार्ड पार्षद बनाने एवं विजयी करवाने में अहम किरदार अदा किये थे. उसी समय से खुद को दीघा विधान सभा के प्रत्याशी समझने लगे थे. लाॅकडाउन एवं अनलाॅक टाइम में जरूरतमंद लोगों के बीच में पर्याप्त मात्रा में खाघ सामग्री वितरण किये.जो आज भी जारी है. इसका प्रतिफल विधान सभा के परिणाम विजयी के रूप में देखना चाहते हैं.बातचीत क्रम में पप्पू राय ने कहा कि मैंने 15 वर्षों से अधिक समय से ही समाज सेवा कर रहा हूं. राष्ट्रीय जनता दल के साथ गहरी दोस्ताना है. सामाजिम न्याय के पक्षधर हैं. समाज सेवक के रूप में विख्यात पप्पू राय कहते हैं कि दीघा बिन्दटोली के लोगों को रेलवे परियोजना के चलते विस्थापन का दंश झेलना पड़ा.जिला प्रशासन ने दीघा बिन्दटोली के लोगों को विभिन्न तरह का प्रलोभन देकर कुर्जी दियारा क्षेत्र में बसा दिया. वहां पर न्यूनतम व्यवस्था नहीं की गयी. प्रशासन के द्वारा जो शौचालय निर्माण करवाया गया,उसको इस्तेमाल बिन्द लोग करते ही हैं. आज भी खुले आकाश में शौचक्रिया करने को बाध्य हैं. उनके लिए उनके अनुसार ही शौचालय निर्माण करवाने का प्रयास हो रहा है.जो चापाकल बनाया गया वह जानवरों को बांधने लायक खुट्टा बनकर रह गया.वहां पर आपूर्ति जल की व्यवस्था करायी गयी. यहां पर आकर लोग नल का पानी लेते हैं. दीघा विधान सभा के विधायक के कहने के बावजूद लोगों को गढ्डे में बसा दिया गया था. उनके निवास स्थान और रोड पर बालू और मिट्टी भरकर स्तर को उंचा कर दिया गया. इतना कहने के बाद समाज सेवक पप्पू राय कहते हैं कि बाॅलीवुड के सुशांत सिंह राजपूत को दीघा विधान सभाई क्षेत्र के लोगों के द्वारा द्वारा श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गयी. इसकी अध्यक्षता समाज सेवक ने ही की. हजारों की संख्या में लोग अपने चहेते स्वर्गीय सुशांत सिंह राजपूत जी को श्रद्धांजलि अर्पित किए. इसके बाद श्रद्धांजलि स्थल कुर्जी मोड़ से लेकर राजीव नगर रेलवे लाइन तक हजारों की संख्या में कार्यकर्ता पैदल मार्च किये.पदयात्रियों ने एक स्वर से केंद्र और राज्य सरकार से सी.बी.आई. से जांच करवाने की मांग की है. इसके अलावे पदयात्रियों ने नवनिर्मित आर ब्लॉक से दीघा सिक्स लाइन पथ का नाम सुशांत सिंह राजपूत रखने की मांग राज्य सरकार की है. लोग इतना उत्साहित हो गये थे कि वहां पर बाबू सुशांत सिंह राजपूत के नाम से बोर्ड भी लगा दिया गया. बोर्ड को पटना नगर निगम स्वीकृत प्रदान करके अधिकृत बोर्ड लगाने का आग्रह नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा से की गयी है.इसके अलावे दिवंगत अभिनेता बाबू सुशांत सिंह राजपूत के नाम पर राजधानी पटना में किसी चैक का नाम से रखा जाए.

सुशांत की मौत के बाद पिता ने की मीडिया से बात
अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद उनके पिता के.के. सिंह ने पहली बार पत्रकारों से बातचीत किये.उनके पिता ने कहा कि राजीव नगर आवास को स्मारक बनाया जाएगा. वहां पर पुत्र के सारे पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ के सामग्री रखे जाएंगे.उन्होंने कहा कि सुशांत की शादी लाॅकडाउन के कारण नहीं हो सका था. उन्होंने चांद पर प्लाट खरीदने को लेकर कई खुलासे किए हैं. चांद पर घर खरीदने के सवाल का जवाब देते हुए केके सिंह कहा कि मेरे बेटे के सपने बहुत ही बड़े थे. वह बहुत ही आत्मविश्वासी वाला व्यक्तित्व का धनी था. आगे उन्होंने  कहा कि ये बात सही है वह चांद पर अपना एक प्लाट खरीदा था, जिसको वह हर रोज 55 लाख की दूरबीन से देखता था.

कोई टिप्पणी नहीं: