अमेरिका के बाद भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की सबसे अधिक जांच हुई: व्हाइट हाउस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 जुलाई 2020

अमेरिका के बाद भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की सबसे अधिक जांच हुई: व्हाइट हाउस

after-america-india-has-done-more-corona-virus-tests

वाशिंगटन 17 जुलाई, कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए सर्वाधिक 4.2 करोड़ नमूनों की जांच अमेरिका ने की है, इसके बाद सर्वाधिक 1.2 करोड़ नमूनों की जांच भारत में हुई है। व्हाइट हाउस ने यह जानकारी दी। अमेरिका में 35 लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए और संक्रमण से 1,38,000 लोगों की मौत हो चुकी है। विश्वभर में संक्रमण के 13.6 करोड़ से ज्यादा मामले सामने आए और 5,86,000 रोगियों की मौत हो चुकी है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनेनी ने बृहस्पतिवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया, ‘‘कोरोना वायरस की जांच के संबंध में, हमने 4.2 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की है। इसके बाद सर्वाधिक 1.2 करोड़ नमूनों की जांच भारत में हुई है। जांच के मामले में हम पूरे विश्व में सबसे आगे चल रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि रिकॉर्ड जांच करने का ट्रंप प्रशासन का कदम पूर्ववर्ती प्रशासन द्वारा उठाए कदमों के ठीक विपरीत है। मैकनेनी ने बताया कि सीबीएस टीवी के मुताबिक 2009 में ओबामा-बाइडेन प्रशासन नीत रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र ने राज्यों से एच1एन1 फ्लू की जांच बंद करने को और हर एक मामले को गिनना बंद करने को कहा था। मैकनेनी ने बताया कि टीके के संबंध में भी अच्छी खबर मिल रही है। उन्होंने बताया, ‘‘मॉडर्ना द्वारा जिस टीके का परीक्षण किया जा रहा है उसके शोध में शामिल 45 लोगों पर अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। जुलाई के अंत तक इस टीके का तीसरे चरण का परीक्षण होने की उम्मीद है जिसमें 30,000 लोगों को शामिल किया जाएगा।’’ मैकनेनी ने बताया कि कोविड-19 की उपचार पद्धति के संबंध में भी उत्साहजनक जानकारी मिली है।
<

कोई टिप्पणी नहीं: