मधुबनी : बिहार सरकार आपदा में फेल : शीतलाम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 जुलाई 2020

मधुबनी : बिहार सरकार आपदा में फेल : शीतलाम्बर

government-fail-in-disaster-madhubani-congress
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) जिला कांग्रेस मधुबनी अध्यक्ष प्रो शीतलाम्बार झा ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि आज सम्पूर्ण जिला के लोग प्राकृतिक आपदा की दोहरी मार झेलने को विवश है। अत्यधिक बर्षा एवम नेपाल के नदियों से आने बाली पानी से जिला के सभी प्रखंडो में भयंकर बाढ़ का रूप धारण कर लिया है जिलों के सभी नदियों का जल स्तर आज भी खतरे की निशान से ऊपर बह रही है,लोग भयभीत है ,बाढ़ के पानी लोगों के घर मे घुसी हुई है,कई प्रखंड के जिला से सम्पर्क भंग हो चुकी है,कई गांवों का रास्ता बंद अबरुद हो गई ,आज जिला के हजारों परिवार विस्थापित जीवन जीने को विवश है,लाखों लोग बेघर हो गए,किसानों का फसल लगभग 80 प्रतिशत समाप्त हो गया,मजदूर त्राहिमाम कर रहा है,छात्र, नौजवान, बेरोजगार, छोटे दुकानदार, रिक्सा बाला,ठेला बाला सभी का रोजगार समाप्त हो गया है।जल जमाव से लोग बीमार हो रहा है।सरकार उदासीन बनी हुई है, लोगों को न राहत मिल रही है,न कहीं सामुदायिक किचन की व्यवस्था है,न नाव की व्यवस्था है,न मेडिकल टीम कार्यरत है,पशुओं के लिए न चारा ही उपलब्ध कराई जा रही है।कुल मिलाकर बिहार सरकार फेल हो गई है। प्रो झा ने सरकार एवम जिला प्रशासन को इस दोहरी विपदा में सम्वेदनशील होने को कहा है और सरकार से माँग किया है की सम्पूर्ण जिला को बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र घोषित किया जाय। जिला के सभी नागरिकों को दोहरी विपदा से लड़ने के लिए प्रति परिवार तत्काल 25 हजार रुपया सहायता दिया जाय। किसानों को फसल क्षति प्रति एकड़ 30 हजार रुपये के दर से अविलम्भ दिया जाय,बेघर हुए गरीबो को प्रधानमंत्री आवास तुरंत उपलब्ध कराई जय।छात्रों, नौजवानों, बेरोजगरों,छोटे दुकानदारों,रक्सा एवम ठेला बालों को तत्काल 10 हजार रुपया सहायता दिया जय।पशुओं का चारा उपलब्ध कराई जय।बाढ़ ग्रस्त इलाका में मेडिकल टीम एवम दवाई की व्यवस्था की जय।बाढ़ के पानी से डूब कर मरने बाले पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपया मुआवजा दिया जाय। यदि सरकार ने त्वरित कार्रवाई कर लोगों को मदद नही की तो कांग्रेस पार्टी पूरे जिला में आंदोलन करने पर विवश होगी जिसकी जवाबदेही सरकार एवम जिला प्रशासन पर होगी।

कोई टिप्पणी नहीं: