बिहार : होम आइसोलेट हुए लोगों की भी होगी स्वास्थ्य विभाग से निगरानी : मंगल पांडेय - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 15 जुलाई 2020

बिहार : होम आइसोलेट हुए लोगों की भी होगी स्वास्थ्य विभाग से निगरानी : मंगल पांडेय

home-isolation-servilance-mangal-pandey
पटना ( आर्यावर्त संवाददाता)  बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार हो रहे इजाफे के बीच स्वास्थ्य विभाग में स्थिति की गहन समीक्षा उच्चधिकारियों के साथ करते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने आइसोलेशन व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ करने का निर्देश दिया। साथ ही होम कोरेंटाइन हुए 922 लोगों की जिला स्तर पर दूरभाष से माॅनिटरिंग करने का भी निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि राज्य में तीन प्रकार के आइसोलेशन सेंटर मौजूद हैं, उसकी भी गहन समीक्षा की गयी। इसके अलावा आइसोलेशन सेंटर के भीतर मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 441 कोविड केयर सेंटर, 74 डेडिकेटेड कोविड सेंटर बनाये गये हैं। इसके अलावा 4 डेडिकेटेड कोविड अस्पताल क्रमशः एनएमसीएच, पटना, एएनएमसीएच, गया, एम्स, पटना एवं जेएलएनएमसीएच, भागलपुर को बनाया गया है। इसके अलावा अन्य छह सरकारी मेडिकल काॅलेज सह अस्पताल में भी सौ-सौ बेड कोविड मरीजों के लिए तैयार किये जाने का भी निर्देश समीक्षा बैठक में दिया गया। उन्होंने बताया कि सभी संस्थानों में कोरोना मरीजो की माॅनिटिरिंग का निर्देश भी स्वास्थ्य समिति को दिया गया है। साथ ही इन सभी आइसोलेशन सेंटर में मरीजों के लिए भोजन, पेयजल एवं साफ-सफाई आदि की बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित करने के साथ-साथ ऑक्सीजन सिलेंडर, पल्स ऑक्सिमीटर, इन्फ्रा रेड थर्मामीटर तथा जरूरी दवाओ के भंडारण का भी निर्देश दिया गया है। राज्य में अब कोरोना की जांच का विस्तार 55 केंद्रों पर किया गया है। उन्होंने बताया कि अभी प्रतिदिन 10 हजार सैंपलों की जांच हो रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि वर्तमान में 39 हजार 517 बेड की तैयारी विभिन्न आइसोलेशन केद्रों पर की गयी है। इन केंद्रों पर चिकित्सक, पारा मेडिकल स्टाफ, नर्सेस एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। साथ ही स्वास्थ्यकर्मियों के संक्रमित होने की स्थिति में आइसोलशन की समुचित व्यवस्था का निर्देश भी दिया गया है, ताकि इन्हें किसी भी संक्रमण की स्थिति में आइसोलेशन की भरपूर सुविधा दी जा सके। उन्होंने बताया कि वत्र्तमान में 1430 ऑक्सीजन कंसट्रेटर को क्रय करने का निर्देश भी दिया गया है, जिसमें एक कंसट्रेटर से दो मरीजों का सुविधा मिलेगी। यह कंसट्रेटर सभी डेडिकेटेड अस्पताल में उपलब्ध रहेगा। उन्होंने कहा कि इस कोरोना संकट में मरीजों को बेहतर सुविधा देने के लिए सरकार प्रतिबद्धता के साथ अग्रसर है और हर तरह की समुचित व्यवस्था की गयी है और की जा रही है। समीक्षा बैठक में विभाग के प्रधान सचिव, स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक और अपर कार्यपालक निदेशक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: