झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 जुलाई 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जुलाई

प्रवीन्य सूची के विद्यार्थियों को सम्मानित

jhabua news
झाबुआ। बोर्ड परीक्षा परीणाम कक्षा 10 वी में जिले एवं राज्य की प्रावीन्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों का ’’सम्मान विद्यार्थी प्रतिभा सम्मान समारोह’’कार्यक्रम सांसद श्री गुमान सिह डामोर के मुख्य आतिथ्य में कलेक्टेªट सभा कक्ष में मंगल वार को सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में राज्य की प्रावीन्य सूची में 6 टाॅ स्थान प्राप्त करने वाले छात्र विनोद बबेरिया एवं जिले की प्रावीन्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थी कु. प्रियांशी श्रीवास्तव, कु.प्रिंसी शाह, कु.रक्षिता मेहता, एवं अंकित ढाकिया उपस्थित थे। श्री डामोर ने विद्यार्थियों का सम्मान कर अपने संबोधन में कहा कि एक सिद्धांत बनाये एवं दृढ़ता से उसका पालन करें तो सफलता अवश्य प्राप्त होती है। कार्यक्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष श्री लक्ष्मणसिंह नायक भी उपस्थित थे। जिन्होंने अपने विद्यार्थी जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यदि विद्यार्थी मेहनत करें तो हम जहाॅं बैठे है वहाॅ विद्यार्थी भी आ सकते हैं। और एक बड़ा मुकाम पा सकते हैं। कार्यक्रम में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, जिला पंचायत सी.ई.ओ. श्री सिद्धार्थ जैन, सहायक आयुक्त श्री प्रशांत आर्य, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एम.एस.सोलंकी एवं ए.डी.पी.सी. श्री जी.पी.ओझा भी उपस्थित थे।  द्यार्थियों के पालकों के साथ उनके शिक्षक भी उपस्थित थे । कार्यक्रम में उत्कृष्ट विद्यालय की प्राचार्य श्रीमति आयशा कुरेशी द्वारा आभार प्रदर्शन किया। विद्यार्थियों को पुस्तक, मेडल, प्रमाण पत्र देकर पुष्प माला से सम्मानित किया गया।

बैंक मैनेजर के बेटे प्रथम को सुयश

jhabua news
थांदला। सीबीएसई हायरसेकंडरी के परीक्षा परिणाम घोषित हो चुके है। इस बार टॉप रैंक में छात्र छात्राओं ने समान रूप से परीक्षा परिणाम में भागीदारी की। थांदला भारतीय स्टेट बैंक की कृषि शाखा बैंक मैनेजर एस बी मीणा केे बेटे प्रथम ने मैरिट लिस्ट में 97.8ः अंक हासिल कर सागर पब्लिक स्कूल गांधी नगर भोपाल में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। बिना कोचिंग के अथक परिश्रम से मुख्य विषय में 100 में से 100 अंक हासिल कर प्रथम ने विशेष योग्यता भी साबित की है। उनके परीक्षा परिणाम से प्रसन्न उनके माता - पिता गुरुजन ने उन्हें मंगल आशिर्वाद देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

राजस्व न्यायालय से वीरत रहने के लिए अभिभाषक संघ ने दिया ज्ञापन।

jhabua news
थांदला। अभिभाषक संघ थांदला द्वारा तहसील न्यायालय एसडीएम न्यायालय के राजस्व प्रकरणों से विरत रहने के लिए एक ज्ञापन थांदला मेघनगर एसडीएम श्री बघेल को सौंपा गया ।उक्त ज्ञापन में तहसील एवं एसडीएम न्यायालय में विचाराधीन प्रकरणों में  एडवोकेट्स को तथा पक्षकारों की उपस्थिति ना हो तथा प्रकरणों का विचारण भी ना हो इस उद्देश्य ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में कोविड-19 को देखते हुए अधिवक्ता और पक्षकारों को छूट प्रदान करने की तथा महामारी से बचने के लिए प्रकरणों के विचारण को रोकने के लिए आग्रह किया गया ।थांदला में बढ़ते हुए महामारी प्रकोप के चलते ज्ञापन देने के लिए अभिभाषक संघ के अध्यक्ष सलीम शेरानी, सचिव श्री तुषार भट्ट एवं वरिष्ठ अभिभाषक मो सलीम खान उपस्थित रहे।

मनुष्य के संस्कार उसकी जुबान से पता चलते है - निराले बाबा

jhbua news
रतलाम( मध्यप्रदेश ) । में दिव्यानंद निराले बाबा पशु पक्षी हॉस्पिटल के विशाल परिसर में  राष्ट्र संत , सर्वधर्म दिवाकर, जैनाचार्य श्री मद्  दिव्यानंद सूरीश्वर जी महाराज साहब( निराले बाबा जी) ने समाचार पत्र के द्वारा भक्त जनों को प्रेरणा देते हुए कहा कि  मनुष्य के शब्द नहीं बोलते अपितु उसका संस्कार बोलता है। शब्द किसी मनुष्य के संस्कारों के मूल्यांकन का सबसे प्रभावी और स्टीक आधार होता है।  स्वभाव में विनम्रता, शब्दों में मिठास और कर्म में कर्तव्य निष्ठा ये श्रेष्ठ संस्कारों के परिचायक हैं। इसका सीधा सा अर्थ यह हुआ है कि आपकी परवरिश श्रेष्ठ संस्कारों में हुई है। मनुष्य जीवन एक दुकान है तो जुबान उस दुकान का ताला है। जुबान रूपी ताला खुलने पर ही मालूम पड़ता है कि इसके अंदर क्या भरा पड़ा है, हीरे रुपी सद्गुण या कोयले रूपी कुसंस्कार..? माना कि शब्दों के दाँत नहीं होते मगर शब्द जब काटते हैं तो दर्द बहुत देते हैं। कभी - कभी घाव इतने गहरे होते हैं कि जीवन निकल जाता है पर शब्दों के घाव नहीं भर पाते हैं । इसलिए जीवन में जब भी बोला जाए मर्यादा में रहकर ही बोला जाए ताकि किसी दूसरे के द्वारा आपके संस्कारों के ऊपर कोई प्रश्न चिह्न खड़ा न किया जा सके। एक बात और  कुशब्द प्रयोग से निशब्द हो जाना कई गुना बेहतर है। दिव्यानंद निराले बाबा पशु पक्षी हॉस्पिटल के विशाल परिसर में विराजमान माँ श्री पद्मावती देवी की भव्य आरती करने का पुण्य लाभ भक्त जन प्रतिदिन शाम 7रू15 बजे लेते है ।

जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक आज

झाबुआ। कोविड-19 के बचाव एवं रोकथाम के लिये जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक 15 जुलाई को दोपहर 3 बजे यहां कलेक्टेªट सभा कक्ष में कलेक्टर एवं जिला दण्ड़ाधिकरी श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में आयोजित की गई है।

श्री चैहान को थांदला पदस्थ

झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने प्रशासनीक सुविधा की दृष्टि से तहसीलदार श्री शक्तिसिंह चैहान को तहसीलदार थांदला में पदस्थ किया है। श्री चैहान के पास मेघनगर तहसीलदार का भी अतिरिक्त प्रभार रहेगा।

कृषि विभाग द्वारा किसानों को आवश्यक सलाह

झाबुआ। जिले में खरीफ मौसम अन्तर्गत विभिन्न फसलों के लक्षित 189000 हैक्टयर क्षेत्र के विरूद्ध 174888 हैक्टयर में बुवाई कार्य सम्पन्न हो चूका है, जो कि कुल आच्छादित रकबे का 92.3 फिसदी पूर्ण हो चुका है। खरीफ मौसम की वर्षा भी अद्यतन स्थिति है 186.3 मि.मी. रही है जो कि जिले की औसतन वर्षा 773.4 मि.मी. से काफी कम 228.7 है। ऐसी स्थिति में किसान खेत फसल में नमी बनाये रखने के लिए ये करें -खेत फसल में निदाई-गुडाई करें। फसल पंक्तियों के बीच डौरा चलाये। 2 प्रतिशत यूरिया का घोल बनाकर खड़ी फसलों में छिड़काव करें। जिन किसानों के पास सिंचाई के साधन है वह फसलों में सिंचाई करे। मल्चींग का उपयोग करंे।
खरीफ फसलों में कीट व्याधियों का प्रकोप होने पर उनके नियंत्रण के लिए कृषक भाई ये करें-खेत का नियमित निरीक्षण करें। खेत फसल के साथ-साथ खेत के मेड़ को साफ सुथरा रखंे। मुख्य फसल के किनारे पर गार्ड फसल के रूप में मूँगफली, लोबिया की एक कतार लगायंे। कीट नियंत्रण के लिए प्रारंभिक तोर पर नीम तेल का छिड़काव करें। खेत में कीट का प्रकोप बढने पर कीटनाशक दवाई क्यूनालफाॅस, क्लोरीपाईरीफास, प्रोपेनोफास$सायफर मेथ्रिन दवाई का उचित घोल (जैसे 30 से 40 मि.ली. प्रति स्प्रे पंप) बनाकर छिडकाव करें। छिडकाव के लिए तैयार घोल में 10 से 15 ग्राम डिटरजेन्ट पाउडर, सैम्पू मिला कर छिड़काव करें। दवाई का छिड़काव हवा के विपरित दिशा में न करें। खेत फसल में दवाई का छिड़काव करते समय किसी प्रकार का धुम्रपान न करें और नाक, मुह इत्यादि कपड़े से ढक कर रखें। खेत फसल के चारों ओर गहरी खाई खोदे जिससे इल्ली या खेत में प्रवेश न हो सकंे। मक्का फसल में फाॅल आर्मी वर्म के नियंत्रण के लिये-उर्वरकों का संतुलित मात्रा में उपयोग करंे। हाथो से अंड गुच्छों एवं इल्लियों को नष्ट करें। फयुजीपरडा फिरोमोन प्रपंच 15,हे. का उपयोग करें। टी आकार की खुटियां लगाये 30-40 प्रति हेक्टर में। ग्रसित फसल की पोगली में बारीक सूखी रेत, राख अथवा बुरादा डाले। प्रकोप की प्रारंभिक अवस्था में नीम तेल 10000 पी.पी.एम. या एन.एस.के.ई. 5 प्रतिशत का एक लीटर,हे. छिड़काव करें। जैविक कीटनाशक जैसे बिवैरिया बेसियाना, मैटारायजियम, एनीसोपोली या बैसिलस थुरिन्जेन्सिस (बी.टी.) या एन.पी. वायरस का 1 लीटर,हे. की दर से छिड़काव करेें। सिन्थेटिक कीटनाश कों में थायोडीकार्य 75 डब्लू.पी. का 1 किलोग्राम या फ्लूबैन्डामाइट 480 एस.सी. का 150 मि.ली. या इमामेक्टीन बेन्जोएट 5 एस जी का 200 ग्राम या स्पीनोसेड 45 एस.सी. का 200 मि.ली.,हेक्टेयर उपयोग करें। जहरीला चुग्गा का प्रयोग करें इसके लिये 10 कि.ग्रा. धान के चोकर में 2 कि.ग्रा. गुड़ तथा 2-3 लीटर पानी में 100 ग्राम थायोडिकार्प मिलाकर पौधों की पोंगली में डाले।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवश्यक सावधानी बरतनें की अपील

झाबुआ। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिये जिले के नागरिकों से आवश्यक सावधानी बरतनें की अपील की है। वे मास्क आवश्यक रूप से लगायें या रूमाल या कपड़ा मंुह पर बांधे ताकि खांसते व छींकने पर किटाणु न फैल सकें। साथ ही एक मीटर से अधिक की दूरी पर रहें ताकि थुक आदि के संक्रमित कण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में न पहुचें। कम से कम लोगों से हाथ मिलाए। हाथ मिलाने के बाद तथा किसी संक्रमित वस्तु को छूने आदि के बाद हाथ आवश्यक रूप से धोयें। भोजन ग्रहण करने से पहले हाथों को यथा संभव साबुन या विसंक्रामक घोल से धोयंे। साथ ही भीड़-भाड़ वाले स्थानों जैसे माॅल, बाजार, मेला, आदि स्थानों पर जाने में प्रहेज करें। सर्दी, खांसी, बुखार जैसे लक्षण होने पर अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण करायें।

कोई टिप्पणी नहीं: