एस एच ओ अजय करण शर्मा को कोरोना योद्धा सम्मान पत्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 जुलाई 2020

एस एच ओ अजय करण शर्मा को कोरोना योद्धा सम्मान पत्र

sho-ajay-karn-corona-wrrior
नई दिल्ली। देशभर में फैले कोरोना महामारी के संकट से लागू लॉकडाउन के कारण देश भर में अफरा तफरी के दौरान जरूरतमंदों की मदद के लिए निरंतर आगे बढकर सेवा कार्य करने के ज़ज़्बे और लॉकडाउन में दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिये विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर अजय करण शर्मा को कोरोना योद्धा सम्मान से सम्मानित किया।गौरतलब है कि एसएचओ  संसद मार्ग थाना अजय करण शर्मा ने अपना एक अलग मुकाम अपनी मेहनत और अपनी शिक्षा से हासिल किया है। यूपीएससी से उपनिरीक्षक परीक्षा पास करने 1996 में भर्ती होने वाले इस जांबाज अधिकारी ने अपराध शाखा,स्पेशल स्टाफ,चौकी प्रभारी रहते हुए अनेक अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुँचाया है। इंस्पेक्टर अजय करण शर्मा को अपराधियो के बीच वह ख़ौफ़ का पर्याय और गरीब ,असहाय लोगों के लिये मददगार के रूप में जाने जाते रहे है। देश की राजधानी दिल्ली की अपराध पर लगाम लगाने और मानवीयता के साथ असहाय लोगों की मदद करने के इसी जज्बे को सलाम करते हुए विश्व पत्रकार महासंघ (रजि.) दिल्ली प्रदेश द्वारा उन्हें कोरोना योद्धा प्रमाण - पत्र देकर संसद मार्ग थाने में सम्मानित किया। इस मौके पर विश्व पत्रकार महासंघ (रजि.) दिल्ली प्रदेश के प्रभारी एवं वरिष्ठ पत्रकार अशोक कुमार निर्भय ने कहा कि मैंने एस एच ओ अजय करण शर्मा  की सादगी और सख्ती दोनों देखी है। पत्रकारिता के अनुभव से कहा जा सकता है इनके अंदर कानून के प्रति अटूट विश्वास और आस्था के साथ साथ मानवता भी है। मैंने देखा है कि मादीपुर कॉलोनी में हुए दंगों को रोकने में इनकी भूमिका बहुत सराहनीय रही है। कोरोना संकट के समय लगे लॉकडाउन में आपने जो सेवा का जज्बा दिखाया और आगे बढ़कर दिल्ली से पलायन कर रहे मजदूरों की मदद हो असहाय बीमार लोगों को भोजन उपलब्ध कराने प्रकल्प दोनों का निर्वाह किया साथ ही दिल्ली की कानून व्यवस्था और अराजकता न फैले और भ्रष्टाचार नहीं बढे इसके लिए बहुत प्रशंसनीय कार्य किया है। हमें गर्व होता है की दिल्ली पुलिस में अभी ऐसे लोगों के कारण कानून और मानवता दोनों जीवित हैं। इस मौके पर दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एवं युवा पत्रकार विक्रम गोस्वामी ने कहा कि हमने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों और कर्मचारियों का चयन इस सम्मान के लिए इसलिए किया की उन्होंने कर्तव्य के साथ मानवीयता को भी बचाये रखा और स्वयं की रक्षा के साथ दूसरे लोगों की रक्षा भी की और मदद भी की। इस मौके पर दिल्ली प्रदेश महासचिव मणि आर्य ने अपने विचार रखते हुए कहा कि हमको हमेशा कानून का पालन करवाने और करने वालों का सम्मान करना चाहिए क्योंकि संविधान ही हमारा सर्वोपरि है बाकि सब बाद में आता है आखिर देश के प्रति हमारी नागरिक जिम्मेदारी अधिक बढ़ जाती है। इस मौके पर विश्व पत्रकार महासंघ (रजि.) दिल्ली प्रदेश के प्रति आभार ज्ञापित करते हुए एस एच ओ अजय करण शर्मा ने भरोसा दिलाया की दिल्ली में भ्रष्टाचार,कानून व्यवस्था तोड़ने वालों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।क्षेत्र के नागरिक निष्पक्ष और भय रहित होकर कभी भी उनके कार्यालय में मिलकर अपनी शिकायत दर्ज़ करा सकते हैं।  अपराध मुक्त समाज की स्थापना करना आखिर हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है।

कोई टिप्पणी नहीं: