बिहार : 22 सितंबर को आयोजित होगी बीएड प्रवेश परीक्षा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 24 अगस्त 2020

बिहार : 22 सितंबर को आयोजित होगी बीएड प्रवेश परीक्षा

b-ed-exam-bihaar-on-22-september
पटना : वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के कारण 29 मार्च 2020 को आयोजित होने वाली CET-B.Ed.-2020 के प्रवेश परीक्षा मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) के तहत अब नए तिथि 22 सितंबर 2020 को आयोजित की जाएगी। विदित हो कि बिहार के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति द्वारा 2 वर्षीय बीएड. प्रवेश प्रक्रिया संपन्न करने के लिए ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा को नोडल विश्वविद्यालय नामित किया गया है। कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण 29 मार्च को प्रस्तावित प्रवेश परीक्षा स्थगित कर दी गई थी। मानव संसाधन विकास मंत्रालय एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा परीक्षा के लिए जारी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) जारी किया गया, जिसके अंतर्गत आवागमन, परीक्षा हॉल में बैठने की व्यवस्था, सामाजिक दूरी से संबंधित दिशा-निर्देश है । इन्हीं को ध्यान में रखते हुए CET-B.Ed.-2020 के प्रवेश परीक्षा की तिथि 22 सितंबर, 2020 निर्धारित की गई है। इस क्रम में राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो अजीत कुमार सिंह ने बताया कि SOP के अंतर्गत भी राज्य सरकार की वृहत भूमिका है, खासकर, आवागमन की व्यवस्था को लेकर । इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए राज्य नोडल पदाधिकारी, प्रोफेसर अजीत कुमार सिंह द्वारा प्रधान सचिव, कुलाधिपति सचिवालय, बिहार; प्रधान सचिव, शिक्षा विभाग, बिहार सरकार एवं निदेशक, उच्च शिक्षा विभाग, बिहार सरकार को सहयोग एवं आवश्यक कार्यार्थ हेतु पत्र प्रेषित किया गया है। उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्रों का निर्धारण भी हो चुका है।

ज्ञातव्य हो कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अनुमोदित CET-B.Ed.-2020 के प्रोग्राम के अनुसार यह परीक्षा 29 मार्च, 2020 को होनी थी, परंतु कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न संकट एवं देश व्यापी लॉकडाउन के आलोक में इस परीक्षा तिथि को स्थगित कर दिया गया थाI सर्वोच्च न्यायालय के अनुमोदन की प्रत्याशा में इस परीक्षा के आयोजन के लिए 19 जुलाई की तिथि निर्धारित की गई, परंतु, मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार एवं राज्यपाल सचिवालय, पटना से निर्गत पत्र के आलोक में इसे पुनः स्थगित कर दिया गया। अब मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा निर्गत SOP एवं इसमें दिए गए निर्देश के आलोक में यह परीक्षा ली जानी हैI तदनुसार इस परीक्षा को सफल बनाने हेतु बिहार सरकार से नोडल यूनिवर्सिटी अपेक्षाएं करती हैं कि राज्य सरकार प्रतिबंधित क्षेत्रों में आवागमन के अनुमति दे, छात्रों को जारी किए गए एडमिट कार्ड को छात्रों के आवागमन के लिए पास माना जाए; स्टेट नोडल ऑफिसर, नोडल ऑफिसरों, केन्द्राधीक्षकों द्वारा निर्गत पत्र को आवागमन के लिए पास माना जाए; यदि उस समय तक परिवहन सेवा सामान्य नहीं होती है तो आवागमन के लिए परीक्षा तिथि एवं उससे पूर्व एक दिन एवं उसके पश्चात एक दिन परिवहन सेवा सामान्य कर दी जाए अथवा परीक्षार्थियों के आवागमन के लिए किराए के साथ परिवहन की विशेष व्यवस्था की जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: