डेमोक्रेटिक पार्टी ने आधिकारिक रूप से बाइडेन को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 अगस्त 2020

डेमोक्रेटिक पार्टी ने आधिकारिक रूप से बाइडेन को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुना

biden-democratic-candidate-announced
न्यूयॉर्क, 19 अगस्त, डेमोक्रेटिक पार्टी ने मंगलवार रात को आधिकारिक रूप से जो बाइडेन को आगामी राष्ट्रपति चुनाव के लिए पार्टी का प्रत्याशी नामित किया। उनका मुकाबला अब तीन नवंबर को होने वाले मतदान में रिपब्लिकन पार्टी प्रत्याशी एवं मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से होगा। डेमोक्रेटिक पार्टी के डिजिटल राष्ट्रीय सम्मेलन में पूरे देश के पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने पुरजोर तरीके से पूर्व उपराष्ट्रपति बाइडेन का समर्थन किया। डेमोक्रेटिक पार्टी द्वारा नामित किया जाना बाइडेन के लिए बड़ी राजनीतिक जीत माना जा रहा है, जो पहले भी दो बार पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी हासिल करने का प्रयास कर चुके थे। हालांकि, डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उनका उम्मीदवार बनना तय था क्योंकि पार्टी प्राइमरी चुनावों में उन्होंने बढ़त बनाई थी और यह महज औपचारिकता थी। सम्मेलन के दूसरे दिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और युवा चेहरों ने उनका समर्थन किया। उनका मानना है कि बाइडेन के पास ट्रम्प द्वारा पैदा की गई अराजकता को ठीक करने के लिए अनुभव एवं ऊर्जा, दोनों है। पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन, पूर्व विदेशमंत्री जॉन कैरी, पूर्व रिपब्लकन विदेशमंत्री कॉलिन पॉवल इस दौरान मौजूद थे उन्होंने ‘ नेतृत्व मायने रखता ’ थीम का समर्थन किया। पूर्व राष्ट्रपति जिम्मी कार्टर भी 95 वर्ष की उम्र का होने के बावजूद सम्मेलन में दिखाई दिए। क्लिंटन ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘डोनाल्ड ट्रम्प कहते हैं कि हम विश्व का नेतृत्व कर रहे हैं। खैर हम दुनिया के सबसे बड़े औद्योगिकीकरण वाली एकमात्र अर्थव्यवस्था हैं और हमारी बेरोजगारी दर तिगुनी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज के वक्त में ओवल ऑफिस (अमेरिकी राष्ट्रपति का कार्यालय) को कमान केंद्र होना चाहिए न कि उथल-पुथल पैदा करने वाला। वहां अभी केवल अफरातफरी है।’’

कोई टिप्पणी नहीं: