मधुबनी : सत्यनारायण सिंह के 13 वीं के दिन श्रधांजलि सभा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 14 अगस्त 2020

मधुबनी : सत्यनारायण सिंह के 13 वीं के दिन श्रधांजलि सभा

cpi-maadhubanai-condolance-to-satyanarayan-singh
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) दिवंगत पूर्व विधायक सीपीआई के पूर्व राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह के 13 वीं के दिन श्रधांजलि सह संकल्प सभा कॉम शिवनारायण यादव की अध्यक्षता में हुई । वक्ताओं ने कहा सत्यनारायण सिंह गरीब बसाओ भूमि आंदोलन के प्रणेता थे । स्वामी शहजानन्द सरस्वती के किसान आंदोलन को सम्पूर्ण बिहार में  मजबूती देने का काम किये । उनका जन्म खगड़िया जिला के चौथम विधान सभा अंतर्गत कैथी गांव में 1942 है हुआ था । एल एल बी ,एम ए करने के बाद वकालत एवं कॉलेज प्राध्यापक की नौकरी छोड़कर 1969 से कॉम्युनिस्ट आंदोलन में जुड़कर अपनी व्यक्तिगत जिंदगी को आम आवाम के लिए ,मजदूर किसान के लिए समर्पित कर दिए। लगातार अपने पंचायत के मुखिया , प्रखंड प्रमुख एवं दो बार विधायक रहते हुए कभी सत्यनारायण सिंह पीछे मुड़कर नही देखें । अपने कार्य क्षमता , गरीबो के प्रति समर्पित रहने की प्रवृति एवं पार्टी को आगे ले जाने का संकल्प ही था जो लगातार दूसरी बार भाकपा ,बिहार के सचिव के रूप में काम किये । वे जन-नेता थे । कर्मठता ,निर्भीकता एवं अपने कार्यकर्ताओं के प्रति स्नेह के कारण उनके समय मे संगठन में नया उभार आया । वाम जनवादी ताकत को एकजुट कर बिहार विधान सभा मे धर्मनिरपेक्ष शक्ति को मजबूत करने में अग्रणी भूमिका निभाने वाले कॉम सत्यनारायण सिंह बिहार एवं उत्तरी भारत के राजनीति को एक नई दिशा दे रहे थे । संघर्षो से कभी नही हारने वाले सत्यनारायण सिंह कोरोना महामारी से हार कर, 2 अगस्त 2020 को  कपङे जीवन का आंदोलन हर गए और उनकी मृत्यु हो गई ।  14 अगस्त 1942 को मधुबनी में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ आंदोलन में अग्रेजो की गोली से अकलू साह एवं गनेशी ठाकुर शहीद हुए थे । भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मधुबनी की ओर से शहीद अकलू-गनेशी को सलाम करते हुए श्रधांजलि दी गई । शहीद चौक पर निर्मित  अकलू-गनेशी शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि कर उन्हें नमन किया गया । श्रधांजलि देने वालों में पार्टी जिला मंत्री मिथिलेश झा , राज्य परिषद सदस्य अरविंद प्रसाद ,कृपानंद आजाद ,राजश्री किरण ,राकेश कुमार पांडेय ,मनोज मिश्रा ,शहर मंत्री मोतीलाल शर्मा , जिला परिषद सदस्य सत्यनारायण राय ,सन्तोष झा ,गणेश झा ,महेश यादव ,रामेश्वर प्रसाद  ,आनंद ठाकुर ,राजेन्द्र मिश्र , कलाम ,अवकाशप्राप्त महाविद्यालय शिक्षक देवनारायण मिश्र ,गजाधर ठाकुर  ,बद्रीनाथ झा एवं अन्य मौजूद थे । भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मधुबनी की ओर से शहीद अकलू-गनेशी को विनम्र श्रद्धांजलि साथ ही कॉम सत्यनारायण सिंह को श्रधांजलि देते हुए उनके अधूरे सपने को पूरा करने ,पार्टी संगठन को मजबूत कर आंदोलन मुखी बनाने का संकल्प लिया गया ।

कोई टिप्पणी नहीं: