बिहार : एनडीए को परास्त करने के लिए एकताबद्ध होकर मैदान में उतरेगा विपक्ष - माले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 अगस्त 2020

बिहार : एनडीए को परास्त करने के लिए एकताबद्ध होकर मैदान में उतरेगा विपक्ष - माले

माले ने वामपंथी दलों व महागठबंधन से बातचीत की प्रक्रिया तेज किया,  सीटों के संबंध में भी हुई आरंभिक चर्चा
cpi-ml-fight-bihar-election
पटना 27 अगस्त, बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर चुनावी वार्ता के लिए गठित भाकपा-माले की टीम के हवाले से पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य  धीरेन्द्र झा ने आज कहा कि आगामी चुनाव में भाजपा-जदयू को हराना हमारी पार्टी का प्रमुख कंसर्न है. इसके लिए महागठबंधन की पार्टियों व वामपंथी दलों के बीच लगातार विभिन्न स्तरों पर बातचीत की प्रक्रिया जारी है. हमें उम्मीद है कि इस बार विपक्ष मजबूत एकता के साथ चुनाव में उतरेगा और फासीवादी भाजपा और जनादेश से गद्दारी करने वाले नीतीश कुमार के गठबंधन को शिकस्त देगा. उन्होंने कहा कि बातचीत में भाजपा-जदयू के खिलाफ चुनावी रणनीति तय करने से लेकर सीट शेयरिंग पर भी आरंभिक बातचीत हुई है. विगत दिनों भाकपा-माले के नेताओं ने सीपीआई, सीपीआइएम, राजद व कांग्रेस के नेताओं से बातचीत की है और चुनाव संबंधी विभिन्न पहलुओं पर बातचीत की है. अन्य दल भी लगातार एक दूसरे के संपर्क में हैं और बातचीत की प्रक्रिया चल रही है. माले नेता धीरेन्द्र झा ने कहा कि भाजपा-जदयू के खिलाफ हर स्तर पर विक्षोभ है, इसलिए ये दल वर्चुअल तरीके से चुनाव करवाकर चुनाव को हड़प लेने की कोशिश कर रही हैं. विपक्ष की पार्टियां उनके इस मंसूबे को बखूबी समझती है, इसलिए हम लगातार बैलेट से चुनाव करवाने तथा कोविड के संक्रमण को कम करने के लिए 250 वोटरों पर बूथ का गठन करने की मांग कर रहे हैं. पोस्टल बैलेट का हम विरोध कर रहे हैं, क्योंकि व्यापक पैमाने पर उसे जारी किए जाने से चुनाव में धांधली की व्यापक गुंजाइश पैदा होती है. जहां तक खुद हमारी पार्टी का सवाल है, हमने जमीनी स्तर पर तैयारी आरंभ कर दी है. सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार के लिए अभी तक हमने 30 हजार व्हाट्सऐप ग्रुप बना लिए हैं. हम हर तरह से भाजपा-जदयू गठबंधन को सबक सिखाने की तैयारी कर रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: