बिहार : ज्यादा से ज्यादा व्यक्तियों को स्वरोजगार दिलाने के लिए कार्रवाई का निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 20 अगस्त 2020

बिहार : ज्यादा से ज्यादा व्यक्तियों को स्वरोजगार दिलाने के लिए कार्रवाई का निर्देश

dm-betiya-order-generate-job
बेतिया,20 अगस्त। पश्चिम चम्पारण के जिलाधिकारी कुदंन कुमार ने कहा है कि हमलोग समेकित प्रयास करके आपदा की इस घड़ी को अवसर में तब्दील कर सकते हैं। मौका था 02 कामगारों को जिलाधिकारी के द्वारा15 लाख रुपये का लोन सेंशन लेटर सौंपना। इस अवसर पर आगे कहा कि गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत बेहतर प्रदर्शन करने वाले देश के पाँच जिलों में पश्चिम चम्पारण भी शामिल है।लाॅकडाउन के दौरान वापस लौटे कामगारों/श्रमिकों को उनके हुनर के अनुसार इसी जिले में उपलब्ध कराया जा रहा है रोजगार। कोविड-19 के मद्देनजर लाॅकडाउन के दौरान जिले में वापस लौटे कामगारों/श्रमिकों को इसी जिले में उनके हुनर के अनुसार रोजगार मुहैया कराने का कार्य लगातार किया जा रहा है। इस कार्य में जिला प्रशासन की पूरी टीम पूरी तत्परतापूर्वक अपने कर्तव्यों का निवर्हन कर रही है। लाॅकडाउन के दौरान जिले में लगभग 01 लाख कामगार/श्रमिक वापस लौटे हैं। जिला प्रशासन ज्यादा से ज्यादा व्यक्तियों को उनके हुनर के अनुसार इसी जिले में रोजगार मुहैया कराने के लिये कृतसंकल्पित है। जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार ने कहा कि आपदा की इस घड़ी को जिला प्रशासन की पूरी टीम समन्वित प्रयास के द्वारा अवसर में बदलने का कार्य कर रही है। इस कार्य में जिले में वापस लौटे कामगारों/श्रमिकों तथा अन्य राज्यों में कार्य करने वाले उद्यमियों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। वे आज समाहरणलय सभाकक्ष में आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े कामगारों/श्रमिकों को संबोधित कर रहे थे। 


जिलाधिकारी ने कहा कि हम सभी समन्वित प्रयास करके जिले में ही टेक्सटाइल्स, चमड़ा उद्योग, बैट्स, जैकेट्स आदि का कलस्टर बनाने की दिशा में कार्य कर रहे हैं। दर्जनों कामगारों/श्रमिकों को उद्यमी भी बना दिया गया है तथा वे अपने यहां कईयों को रोजगार मुहैया भी करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा वापस लौटे कामगारों/श्रमिकों के हित के लिए कई कार्यक्रम चला रहा है। इन सभी को छोटे-छोटे समूहों में विभक्त कर उन्हें विभिन्न सरकारी संसाधनों से लाभान्वित किया जा रहा है। उद्योग अधिष्ठापित कराने हेतु विभिन्न योजनाओं के माध्यम से ऋण की भी व्यवस्था की गयी है।  उन्होंने कहा कि जिले को उत्पादन हब बनाने की दिशा में शीघ्र ही सफलता मिलेगी। इस दिशा में जिला प्रशासन द्वारा सभी प्रकार के कारगर उपाय किये जा रहे हैं ताकि वर्तमान पीढ़ी सहित आने वाली पीढ़ियों को एक बेहतर परिवेश दिलाया जा सके। ज्यादा से ज्यादा व्यक्तियों को इसी जिले में कैसे रोजगार मुहैया कराया जाय इस संदर्भ में लगातार समीक्षा बैठक आयोजित की जा रही है।  इसी क्रम में आज रेडिमेड गारमेंट का कुटीर उद्योग अधिष्ठापित करने हेतु सूरत से वापस आये श्री धर्मवीर प्रसाद को 05 लाख रूपये का लोन सेन्सन लेटर जिलाधिकारी द्वारा प्रदान किया गया। वहीं श्री सूरज कुमार यादव को पेवर ब्लाॅक संयंत्र अधिष्ठापित करने हेतु 10 लाख रूपया का लोन सेन्सन लेटर सौंपा गया ताकि वे पेवर ब्लॉक का अपना उद्योग अच्छे तरीके से चला सके।  इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि  गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत बहुत सारे लोगों को लाभान्वित किया जा चुका है तथा अन्य लोगों को लाभान्वित करने की प्रक्रिया की जा रही है। उन्होंने कहा कि मिनिस्ट्री आॅफ रूरल डेवलपमेंट, नई दिल्ली द्वारा समूचे देश में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना में बेहतर प्रदर्शन करने वाले पांच जिलों की सूची जारी की है जिसमें पश्चिम चम्पारण भी शामिल है। आज दूरदर्शन की टीम ने बेतिया पहुँच कर कामगारों का डॉक्यूमेंट्री भी बनाया है। यह अत्यंत ही गौरव वाला क्षण है। गरीब कल्याण रोजगार योजना के बेहतर क्रियान्वयन में जिला प्रशासन की संबंधित टीम पूरी तत्परतापूर्वक लगी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं: