देश की रक्षा में हमेशा आगे खड़ा रहना होगा : डॉ. अशफ़ाक़ अहमद अंसारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 15 अगस्त 2020

देश की रक्षा में हमेशा आगे खड़ा रहना होगा : डॉ. अशफ़ाक़ अहमद अंसारी

डॉ.अंसारी क्लिनिक व अंसारी हॉस्पिटल सागर पुर  ने लगाया हेल्थ चेकअप कैंप 
heaalath-checkup-camp
नई दिल्ली (अशोक कुमार निर्भय)। जब पूरा देश आज़ादी के जश्न की छुट्टी मना रहा है और पतंगो से आसमान को छूने की कोशिश में जुटा है ऐसे में कोरोना महामारी के दौर में भी स्वतंत्रता दिवस 2020 के उपलक्ष्य में डॉ.अंसारी क्लिनिक व अंसारी हॉस्पिटल सागर पुर के संयुक्त तत्वाधान में मादीपुर जे जे कॉलोनी में निशुल्क हेल्थ चेकअप कैम्प का आयोजन किया गया। जिसमें दिल्ली की मुख्यमंत्री श्रीमति शीला दीक्षित से बेस्ट डाक्टर सम्मान पाने वाले जाने माने चिकित्सक डॉ. अशफ़ाक़ अहमद अंसारी, डॉ. आई.ए अंसारी ने स्वास्थ्य शिविर में आये लोगों की बल्ड प्रेशर,शुगर,हड्डियों का कैल्शियम,त्वचा रोगों,ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन लेवल की जाँच आदि के साथ अन्य स्वास्थ्य जाँच की गयी। इस मौके पर सोशल डिस्टेंसिंग,मास्क और सेनिटज़र के प्रयोग,थर्मल चेकिंग से नियमों का पालन किया गया। इस शिविर के मौके पर उपस्थित लोगों ने डॉ ए.ए अंसारी के सानिध्य में वीर शहीद स्वतंत्रता सेनानियों व सेना और अर्ध सैनिक बलों के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस मौके पर अपने विचार प्रकट करते हुए डॉ.अशफ़ाक़ अहमद अंसारी ने कहा की भारत देश में जीतनी विविधता है उतनी कहीं नहीं है लेकिन हम सभी की रगो में देशभक्ति और अपने देश प्रेम का लहू दौड़ रहा है। भारत को बनाने में डॉ.अब्दुल कलाम आज़ाद,अशफउल्ला खान,कैप्टन अब्दुल हामिद और ना जाने कितने वीर शहीदों ने अपने प्राणों की आहुति देकर देश की अंखण्डता और सम्प्रभुता और स्वाभिमान को जिन्दा रखा है। हम देश की गंगा जमुनी संस्कृति में रहते हैं क्योंकि जिस घाट पर रसखान रहते हैं उसी घाट पर बाबा गोस्वामी तुलसी दास भी रहते हैं। हमको अपने भारत देश की रक्षा में हमेशा आगे खड़ा रहना होगा क्योंकि बाहरी ताकतें हमारी एकता और संस्कृति को धर्म,जाति,मजहब में बटाने की फ़िराक़ में हमेशा रही है। हमको प्रण करना होगा की हम किसी भी हालत में अपने भारत देश की रक्षा में अपने प्राणों तक की आहुति देंगे। उन्होंने सभी स्वास्थ्य शिविर में हिस्सा लेने आये क्षेत्रीय लोगों व प्रबुद्ध लोगों के प्रति आभार प्रकट किया।


कोई टिप्पणी नहीं: