झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 अगस्त 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 अगस्त

कोविड सेन्टर मे बच्चे के साथ आई माँ ने दिया बच्चे को जन्म जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ

jhabua news
’झाबुआ। बाढकुवा कोरोनो क्वारंटाइन सेन्टर झाबुआ  में थांदला से आई महिला जिसका 11 महीने का बच्चा कोरोना पॉजिटिव था व महिला नेगेटिव थी । उक्त महिला को अचानक प्रसव पीड़ा होने पर डॉक्टर त्रिवेदी सिस्टर सोनल एवं शिवानी के द्वारा सफलतापूर्वक प्रसव कराया गया। जच्चा एवं बच्चा दोनों ही स्वस्थ हैं और कुशल है दोनो कि डॉक्टर और सिस्टर के द्वारा सतत निगरानी की जा रही है।

कोविड सेंटर में हुए हंगामें को लेकर क्षेत्रीय विधायक कांतिलाल भूरिया ने कलेक्टर महोदय से बात कर कोविड सेंटर की बिगड़ी व्यवस्थाओं को सुधारने की मांग की 

झाबुआ । कोविड सेंटर झाबुआ में अव्यवस्थाओं को लेकर मंगलवार की सुबह संक्रमित मरिजों एवं वहां उपस्थित नर्सिंग स्टाॅप के बीच कहा सुनी एवं विवाद होने के बाद करीब चार घण्टे तक हंगामा हुआ। क्षेत्रीय विधायक कांतिलाल भूरिया ने इस हंगामें को लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर महोदय, से चर्चा कर इस संबंध में त्वरीत कार्रवाई करने की बात कही । कलेक्टर महोदय ने भूरिया जी को अवगत कराया कि वे इस मुदद्े को गंभीरता से ले रहे हैं तथा एस.डी.एम साहब को वहां भेजा जा रहा है। श्री भूरिया ने कोविड सेंटर में उपस्थित संक्रमित मरीजों एवं स्वास्थ्य कर्मीयों से फोन पर चर्चा की तथा वहां हो रही परेशानियों से रूबरू हुए।   ज्ञातव्य है कि विवाद होने के पश्चात कल स्वास्थ्य कर्मी कोविड सेंटर के मेन गेट से बाहर निकल आए थे काफी देर तक सेंटर का प्रवेशद्वार बंद रहा । इस दौरान कुछ मरीज एडमिट होने के लिए बाहर से आए थे लेकिन उन्हें बाहर ही इंतजार करना पड़ा । नर्सिंग स्टाॅफ ने सिविल सर्जन को ज्ञापन देकर मरिजों के द्वारा अभद्र व्यवहार की शिकायत की व काम करने से मना कर दिया । वरिष्ठ अधिकारियों की समझाईस के बाद नर्सिंग स्टाफ पुनः काम पर लौटा। संक्रमित मरीजों का कहना था कि यहां पर साफ सफाई का बिल्कुल भी ध्यान नहीं रखा जा रहा है। वहां पर व्याप्त गंदगियांे को लेकर मरीजों का कहना था कि बार-बार बोलने पर भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा था, हमें यहां पर स्वास्थ सेवा लाभ पाने के लिए लाया गया था। यदि गंदगी रहेगी तो हम अधिक बीमार हो जायेंगे, जब-जब भी हम इस सफाई के बारे में संबधित स्टाफ से बोलते हैं तो स्टाप नाराज हो जाता है। नर्सिंग स्टाफ का कहना है कि रोजाना लगातार संक्रमित मरिजों के आने से यह व्यवस्था कुछ समय के लिए गरबड़ा गई है, इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारीयों से भी इस बारे में बातचीत की । श्री भूरिया ने जिला प्रशासन एवं स्वास्थ प्रशासन से मांग की है कि कोविड संेटर में मरीजों को अच्छी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए तथा मरीजों के साथ अच्छा बर्ताव किया साफ सुथरे चददर एवं कंबल मरीजों को उपलब्ध कराया जाए, जिससे कि मरीज स्वास्थ का लाभ लेकर  अपने घर पहंुचे। श्री भूरिया ने क्षेत्र की जनता से अपिल की है कि वे कोविड 19 के नियमों का पालन करें तथा सावधानी बरतें। बिना वजह घर से बाहर नहंी निकलेे व बिना मास्क के बाजार में नहीं घुमें तथा अपने हाथ साबुन अथवा सेनेंटाईजर से साफ करते रहें। उक्त जानकारी जिला कांग्रेस प्रवक्ता हर्ष भटट् ने दी।


केन्द्र सरकार द्वारा आदिवासी संसदीय क्षेत्रों की की जा रही है उपेक्षा गुमानसिंह की उदासिनता को लेकर भूरिया जी कसा तंज

झाबुआ । केन्द्रीय सड़क परिवहन और राज्यमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने प्रदेश में कुल 11427 करोड़ रूपये से 1361 किमी. की 45 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रम में सहमति दी किंतु इन सड़क परियोजनाओं में रतलाम, झाबुआ संसदीय क्षेत्र में कोई सड़क योजना स्वीकृत नहंी की जो एक्सप्रेस हाईवे की बात तो वह तो पुरानी योजना को नई योजना बना दिया गया। श्री भूरिया ने केन्द्र सरकार पर आदिवासी संसदीय क्षेत्र की उपेक्षा करने में लगी हुई है, उनका ध्यान केवल लाभ प्राप्त करने वाले बड़े-बड़े उद्योगपतियों को लाभ पहंुचाने में लगा हुआ है, गरीब एवं आदिवासियों की भाजपा को रत्ती भर भी चिंता नहीं है। केन्द्र सरकार के मंत्रीगण आविदवासी क्षेत्र की उपेक्षा करने में लगे हुए हैं। श्री भूरिया जी ने सांसद गुमानसिंह डामोर पर तंज कसते हुए कहा कि वे अपने संसदीय क्षेत्र को सड़क  योजना का लाभ दिलाने में पूरी तरह विफल रहे यह उनकी उदासिनता का परिचायक है। वे केवल अपने आप को महामंडित करने में लगे हुए हैं। भूरिया ने भाजपा पर भी आरोप लगाया है कि वह गरीब आदिवासियों की  हितेशी नही है। उनका कार्य तो बड़े-बड़े व्यापारीक प्रतिष्ठानों को व अमीर लोगों को लाभ पहुंचाने में है। भाजपा सरकार मध्यप्रदेश में उपचुनाव को देखते हुए उन्हीं क्षेत्रों में विशेष ध्यान दे रहे हैं एवं शासन का पैसा लगाकर मतदाताओं को लुभाने में लगेे हैं, जबकि प्रदेश के अन्य स्थान जहां पर चुनाव नहंीं है, वहां पर विकास कार्य बंद कर दिये गए है। श्री भूरिया ने के केन्द्रीय सड़क परिवहन और राज्यमार्ग मंत्री नितिन गडकरी वर्तमान में इंन्दौर अहमदाबाद हाईवे रोड केन्द्र सरकार द्वारा बनाए गए थे वे कई जगह से छतिग्रस्त हो चूकें है एवं उन्हे दूरूस्त किया जाए साथ इन्दौर अहमदाबाद नेशनल हाईवे मार्ग जो कि कुछ जगह पर अपूर्ण पड़ा हुआ है उसे पुरा करने हेतु आवश्यक कार्रवाई की जाए ।

भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी इशिता का झाबुआ में एक दिवसीय दौरा 27 को
 युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित युवा संवाद कार्यक्रम में भाग लेगी!

jhabua-news
झाबुआ। भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रभारी इशिता सेढाजी झाबुआ के एक दिवसीय दौरे पर 27 अगस्त गुरुवार को पधार रही है जिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया एवं उपाध्यक्ष विजय भगवान ने जानकारी देते हुए बताया कि इशिता जी दोपहर 2 बजे स्थानीय गोपाल कॉलोनी स्थित विधायक कार्यालय में युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित युवा संवाद कार्यक्रम में भाग लेगी जिला युवा कांग्रेस ने अपने सभी पदाधिकारियों से कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन एवं  मास्क पहनकर अनिवार्य रूप से  युवा संवाद कार्यक्रम में शामिल होकर कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील की है।

कोविड -19 मरीजों की सेवा में लगे कोरोना योद्धाओं से अभद्रता बर्दाश्त नही - डॉ बी एस बारिया
स्वास्थ्य विभाग व्यवस्थाओं पर ध्यान दे व कोविड मरीज धैर्य का परिचय दे 
jhabua news
झाबुआ। जिला मुख्यालय से महज 2 किमी दूर स्थित बाड़कुआ ग्राम के कोरंटाइन सेंटर में कार्यरत नर्सिंग स्टाफ आदि कर्मचारियों ने बिना वरिष्ठों को सूचना दिए काम बंद कर हड़ताल पर उतरने की खबर जरूर विस्मित करने वाली है। नर्सिंग स्टाफ द्वारा सेंटर में भर्ती कोविड मरीजों पर अभद्रता व अश्लीलता के आरोप समझ से परे जरूर है लेकिन उसकी सत्यता से इंकार भी नही किया जा सकता। वही दूसरी ओर सेंटर में भर्ती मरीजों ने विभाग पर अनियमितता व भेदभाव के आरोप लगाए जो कुछ हद तक माने जा सकते है जिसका कारण ठेका पद्धति पर कार्य होना होता है व उसकी निरन्तर देख रेख नही होना हो सकता है। मरीजों द्वारा सेंटर में साफ-सफाई व भोजन गुणवत्ता पर प्रश्न खड़े करना लाजमी है, लेकिन उसमें नर्सिंग स्टॉफ पर दोषारोपण व उनसे अभद्रता ठीक नही। वही कोविड मरीजों में भी किसे रखना किसे छोड़ना यह डॉक्टर्स पर छोड़ देना ही उचित है क्योंकि हर होनी अनहोनी के लिए वही उत्तरदायी भी है। सिविल सर्जन डॉ. बी एस बारिया, डॉ. सावन चैहान, डॉ. सुमित सोनी की दीर्घ दृष्टि व अनुभव से मामला शांत तो हो गया लेकिन अपने पीछे अनेक प्रश्न जरूर छोड़ गया है। आज दोनो पक्ष के हंगामें की वजह से राणापुर के नए कोविड मरीज ही नही अन्य कोविड मरीज भी परेशान व भयभीत हो रहे है। कोरोना भय के साथ स्वास्थ्य विभाग द्वारा अपनी जान जोखिम में डालकर दी जा रही सेवाओं को गौण कर उनकी नेक नियत पर शक किया जा रहा है लेकिन कोविड मरीज यह भूल जाते है कि इनकी किसी से कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नही है व वे भी यहाँ स्थायी रहने नही आये है बहरहाल कोविड मरीजों को अपने आक्रोश पर संयम रखते हुए डॉक्टर्स व उनकी टीम की सेवाओं को धन्यवाद देना चाहिए।


अ.भा. नाहर बन्धु जैन महासंघ (मध्यप्रदेश) पदाधिकारियों की बैठक सम्पन्न
  • महासंघ के ऊर्जावान अरविंद नाहर (नागदा) कार्यवाहक अध्यक्ष मनोनयन
  • संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी बाबूलाल नाहर (जावरा) के अमृत महोत्सव की रूप रेखा तैयार
jhabua news
झाबुआ। अखिल भारतीय नाहर बन्धु महासंघ मध्यप्रदेश के कार्यकारिणी पदाधिकारियों की ऑन लाइन बैठक दिनांक 24 अगस्त 2020 को प्रदेश अध्यक्ष डॉ. प्रवीणजी नाहर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। कोविड - 19 को देखते हुए नव निर्वाचन स्थिति को स्थगित कर सभी पदाधिकारियों को यथावत रखते हुए कार्यकारी अध्यक्ष पद पर अरविंदजी नाहर (नागदा) को मनोनीत किया। बैठक में दिनांक 13 सितंबर, 2020 को मध्यप्रदेश नाहर परिवार के पितृ पुरुष एवं राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष बाबूलाल नाहर (जावरा) के अमृत महोत्सव की नीव रखी गई थी उसको भव्यता प्रदान करने के लिये वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वीरेन्द्रजी नाहर (इंदौर) को कार्यक्रम संयोजक का दायित्व दिया गया।  शासन के नियमों को ध्यान में रखकर उक्त कार्यक्रम को कैसे यादगार बनाया जाए इस पर भी चर्चा हुई। आयोजन संयोजक वीरेंद्र नाहर ने बताया कि बाबूलाल नाहर के प्रयासों से मध्यप्रदेश ही नही दुनिया भर के नाहर एकजुट हुए है उनके कारण नाहर नाहर से मिल सके। इसके लिये विभिन्न टीम बनाकर कार्य विभाजन किया जा रहा है जिसमें बाबूलाल नाहर के सामाजिक एवं धार्मिक कर्तव्यों के निर्वहन से संबंधित एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी शामिल होगी। संघ बैठक में संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी नवीन नाहर, महेंद्र नाहर, पारसमल नाहर, राजेश नाहर, विनोद नाहर, अनिल नाहर आदि पदाधिकारियों ने भी अपने विचार रखे बैठक का संचालन महासंघ के प्रदेश महासचिव अभिषेक नाहर ने व सभी सदस्यों के प्रति पवन नाहर ने आभार प्रकट किया।

पर्युषण पर्व में सोशल डिस्टेंसिग के साथ पर्युषनपर्व अनुष्ठान प्रारम्भ, दिगम्बर जैन मंदिर में बह रही धर्म गंगा

jhbua news
झाबुआ।  कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए शासन के निर्देश अनुसार तथा जैन संतो के भी सुझाावो के अनुसार पर्युषण महार्वा मनाने हेतु सर्वानुमति से नियमानुसार इसका पालन किया जा रहा है। जिसमें पर्यूषण पर्व के दौरान सामुहिक अभिषेक शांति धारा प्रतिबंधित रहेगी। जिन श्राव की पूजन बारी तिथि अनुसार आती है उनके द्वारा ही अभिषेक शांति धारा संपन्न होगी। संबंधित परिवार द्वरा भी शुद्ध मास्क का पउयोग तथा सोश्यल डिस्टेसिंग का पालन किया जाना अनिवार्य रहेगा। पर्व के दौरान सामुहिक पूजन पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगे। निज मंदिर मे व्यक्तिगत तौर पर जिस श्रावक को अभिषेक करना है वह केवल एक ही चालित प्रतिमा का अभिषेक कर सकेगा तथा अभिषंेक के दौरान भगवान के चरण स्पर्श पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगे। व्यकितगत तौर पर शांतिधारा करना पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा। शांति नाथ मंदिर जी के साथ त्रिमूर्ति वेदी पर भी केवल पूजन बारी वाले श्रावक ही अभिेषेक कर सकेंगे। श्रावकगण व्यक्तिगतण तौर पर भी मंदिर जी के गर्भ गृह में अभिषेक के दौरान निर्धारित दूरी व अन्य सभी नियमो का पालन करते हयुे अभिषेक के बाद तुरंत बाहर निकल जायेगे। मंदिर जी में कोई भी श्रावक श्राविका पूजन, शास्त्र अध्ययन एवं माला गिनने के लिए नही रूकेंगे। पर्यूषण पर्व पर रात्रीकालीन सामूहिक आरती, भजन एवं प्रवचनो पर पूर्ण प्रतिबंध होगा। जिन श्रावक की पूजन बारी तिथि अनुसार आती है उनके द्वारा ही रात्री 8 बजे तक आरती की जायेगी। पर्यूषण पर्व के दौरान पडने वाली सुगंध दशमी को भी मंदिर जी में सामुहिक धूप दान नही होकर श्रावकगण दोपहर 3 से 4 बजे अपनी सुविधानुसार धूप एवं दान कर सकेगे। किसी भी प्रकार का जुलूस आदि आयोजन नही होगा। अंनंत चतुर्दशी को सामूहिक कलश महोत्सव क्षमा वाणी आदि कार्यक्रम नही होगे आरि ना ही किसाी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमो का आयोजन होगा। इस वर्ष पर्यूषण पर्व की समाप्ति पर किसी भी प्रकार की रथ यात्रा व रात्री जागरण का आयोजन नही होगा। प्रत्येक श्रावक श्राविका को मंदिर जी में दर्शन के समय शुद्ध मास्क तथा सोश्यल डिस्टेसिंग का पालन अनिवार्य होगा। ेश्रावकगण पर्यूषण पर्व के दौरान मंदिर जी में दर्शन के अलावा नही रूक सकेंगे। उपरोक्त नियम शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर के साथ चंद्रप्रभ नसिया में भी लागू होगे। वही इन सभी नियमो को पालन समाज के प्रत्येक सदस्य द्वारा अनिवार्य रूप से किया जायेगा।

पिछले 24 घण्टे में सर्वाधिक वर्षा मेघनगर में दर्ज

झाबुआ। जिले में पिछले 24 घण्टे में 3.7 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। सर्वाधिक वर्षा मेघनगर में 10.0 मि.मी. दर्ज की गई है। झाबुआ में 1.8 मि.मी., राणापुर में 4.0 मि.मी., पेटलावद में 5.6 मि.मी. तथा रामा में 1.2 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है। अधीक्षक भू - अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में इस वर्ष 1 जून से अब तक 799.6 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। थांदला में सर्वाधिक 1008.4 मि.मी. तथा सबसे कम रानापुर में 589.0 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है। इस दौरान झाबुआ में 799.3 मि.मी., पेटलावद में 797.5 मि.मी., रामा में 628.6 मि.मी.तथा मेघनगर में 974.8 मि.मी. वर्षा हो दर्ज की गई है। जिले की औसत वर्षा 773.4 मि.मी. निर्धारित है। जबकि गतवर्ष जिले में इसी अवधि में 874 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई थी। झाबुआ में 859.6 मि.मी. रामा में 1008.0 मि.मी. थांदला में 1113.6 मि.मी., पेटलावद में 840.8 मि.मी., राणापुर में 712.0 मि.मी. तथा मेघनगर में 710.0 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं: