झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 28 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 28 अगस्त 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 28 अगस्त

पुलिया की साइट की मिट्टी धंसने से प्रवासी मजदूरों से भरी बस पलटी,  ड्राइवर समेत 27 लोग हुए घायल
घायलों को 108 की सहायता से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामा भेजा गया सात गंभीर घायलों को झाबुआ किया 
jhabua news
झाबुआ / कालीदेवी इंदौर बेतूल नेशनल हाईवे क्रमांक 47 के नेशनल हाईवे अथॉरिटी के अंतर्गत आने वाले अधूरे पड़े निर्माण में रोज जाम लग रहा है दुर्घटनाएं हो रही है लेकिन नेशनल हाईवे अथॉरिटी का इस ओर कोई ध्यान नहीं है वाहन चालक परेशान हो रहे हैं दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं गुरुवार अलसुबह 3 बजे  इलाहाबाद से अप्रवासी मजदूरों को लेकर सूरत जा रही यात्री बस खाकरा की सकरी पुलिया की साइड की मिट्टी धंसने से पलटी खा कर पुलिया के नीचे जा गिरी जिसमें ड्राइवर समेत 27 लोग घायल हुए प्राप्त जानकारी अनुसार इलाहाबाद से अप्रवासी  मजदूरों को लेकर सूरत जा रही यात्री बस क्रमांक जैसे ही माछलिया घाट सेक्शन उतर कर माछलिया घाट के नीचे स्थित ग्राम खाकरा की सकरी पुलिया पर आई अचानक साइड की मिट्टी धंसने से पलटी खाकर पुलिया के नीचे जा गिरी जिससे ड्राइवर समेत 27 यात्री घायल हुए घटना की  जानकारी लगते ही  माछलिया चैकी प्रभारी  नरेंद्रसिह राठौर  दल बल के साथ  मौके पर पहुंचे  व  108  की सहायता से  घायलों को  रामा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  भेजा गया जहाँ ड्यूटी डॉ. संजय बामनिया ने मरीजों का उपचार किया व सात गंभीर घायलों को  झाबुआ रेफर किया।


 यह हुए गंभीर घायल - मीना पति देशराज उम्र 28 वर्ष निवासी सतना, ज्ञानेंद्रसिंह पिता ज्ञानबहादुर उम्र 38 वर्ष निवासी सीधी, सुखनंदन पिता नारायण साहू उम्र 50 वर्ष निवासी सीधी, सुधेश कुमार पिता महावीर वर्मा उम्र 40 वर्ष निवासी सीधी, निलेश पिता प्रेमजी भाई उम्र 30 वर्ष निवासी सूरत गुजरात, उमा पति रामसेवक साहू उम्र 28 वर्ष निवासी सतना, रामसेवक पिता विश्वनाथ साहू उम्र 30 वर्ष निवासी सतना सभी गंभीर घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामा में प्राथमिक उपचार के बाद झाबुआ रेफर किया गया।
                
पेंश्नर एसोसिएशन ने कलेेक्टर से कि भेंट

jhabua news
झाबुआ । पेंश्नर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर के नेतृत्व में नवागत कलेक्टर रोहित सिंह से सोजन्य भेंट कर उपस्थित पदाधिकारियों का परिचय करवाया, पेषनर ऐसा. की संक्षिप्त जानकारी दी गई पश्चात सभी सदस्यों ने पुष्पगुच्छ से स्वागत किया । कलेक्टर महोदय ने धन्यवाद देते हुए आश्वासन दिया कि कोरोना वायरस सामान्य होने पर वे स्वयं पेशनर कार्यालय में आकर रूबरू होगेंसाथ ही कलेक्टर महोदय ने वरिष्ठजनों को कोविड 19 की गाईड लाईन में बताये निर्देर्शो का पालन करने हेतु भी समझाईश दी गईं इस अवार पर डाॅ लोकेन्द्रसिंह राठौर, महेशचन्द्र गुप्ता, बालमुकुन्द सिंह चैहान, गोपालसिंह चैहान एवं भेरूसिंह सोलंकी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री आयुषमान भारत योजना के अंतर्गत जिले में कार्ड बनाने की विशेष मुहीम चलाई जाए : श्री सिंह

jhaabua news
झाबुआ,। प्रधानमंत्री आयुषमान भारत योजना के अंतर्गत जिले में हितग्राहियों के कार्ड बनाने के लिये विशेष मुहीम चलाई जाए। जिसे हितग्राहियों को इस योजना का लाभ मिल सकेगा। इसके लिये जिला स्तर तथा विकास खण्ड स्तर पर प्रशिक्षण आयोजित किया जावेगा। यह निर्देश बुधवार को यहां कलेक्टेªट सभा कक्ष में स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्री रोहित सिंह ने दिये।
श्री सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि वे प्रधानमंत्री आयुषमान भारत योजना के अंतर्गत कार्ड बनाने के अभियान को सफल बनाने के लिये प्रशिक्षण का कार्यक्रम शीघ्र तय करें ताकि योजना के क्रियान्वयन में गति आ सकें। इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा जिला पंचायत की अहम भूमिका रहेगी। श्री सिंह ने इस बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की योजनाओं की प्रगति की खण्ड चिकित्सा अधिकारी वार सघन समीक्षा की। इस बैठक में थांदला खण्ड चिकित्सा अधिकारी बिना सूचना के बैठक में अनुपस्थित रहने तथा प्रभारी बीएमओ को प्रसव पूर्व जांच योजना की प्रगति संतोषजनक नहीं होने पर शोकाज नोटिस जारी करने के निर्देश दिये हैं। इस योजना में थांदला विकास खण्ड मात्र 74 प्रतिशत उपलब्धी हासिल की गई है। इस बैठक में विभिन्न पोर्टलों की समीक्षा की गई। प्रसव पूर्व जांच योजना के तहत् जिले में 33507 महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच करने का लक्ष्य था। जिसके विरूद्ध जुलाई माह तक क्रमशः 12188 तथा 12803 महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच की गई। बैठक में बताया गया की जिले में इस दौरान 6987 बच्चों को पंजीयन किया गया। झाबुआ, मेघनगर, पेटलावद, थांदला में कम प्रगति होने पर शतप्रतिशत प्रगति हासिल करने के लिये एक निश्चित समयावधी दी गई है। श्री सिंह ने पूर्ण टीकाकरण कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा की और टीकाकरण कार्यक्रम में कम प्रगति वाले विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे इस कार्यक्रम के निर्धारित लक्ष्य की पूर्ति आवंटित समय सीमा में करें। उन्हांेने संस्थागत प्रसव कार्यक्रम की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की और शतप्रतिशत लक्ष्य पूर्ति के लिये समय सीमा तय कर बीएमओ को आवंटित किया गया है। उन्होंने परिवार कल्याण कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा की और चिकित्सा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। इस बैठक में अंधत्व निवारण कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा की। श्री सिंह ने विकास खण्डों में एम्बुलेंस तथा जननी एक्सप्रेस वाहन की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त की और आवश्यक निर्देश दिये। श्री सिंह ने रामा विकास खण्ड विभिन्न पोर्टलों में बेहतर उपलब्धी प्रर्दसित करने पर बीएमओ की प्रशंसा की और उन्हें प्रमाण पत्र प्रदाय करने की प्रशंसा की। रामा बीएमओ के सबसे अधिक उपलब्धी होने पर सभी अधिकारियों ने ताली बजाकर प्रशंसा की। कलेक्टर ने चिकित्सा अधिकारियों से अपेक्षा करते हुए कहा कि दिये गये लक्ष्य निर्धारित समय में निश्चित रूप से वे पूर्ण करेंगे। इस बैठक में मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम की प्रगति की समीक्षा भी की गई। इस बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बी.एस. बघेल, डी.एच.ओ-2 श्री निसार खान पठान, डाॅ. राजा राम खन्ना, जिला मलेरिया अधिकारी, टीकाकरण अधिकारी, समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।


जिले में धारा 144 के तहत् प्रतिबंधात्मक आदेश जारी

झाबुआ। अपर कलेक्टर एवं अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री एस.पी.एस. चैहान ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए सम्पूर्ण झाबुआ जिले कि राजस्व सीमा में प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये हैं। इस आदेश के तहत् जिले में सभी सार्वजनिक स्थानों पर धार्मिक कार्य, त्यौहार का आयोजन तथा सर्वाजनिक स्थानों पर किसी भी प्रकार की मूर्तियां, ताजियां स्थापित करना प्रतिबंधित रहेगा। जिले में व्यक्तिगत रूप से मूर्तियों एवं ताजियों का नदियों एवं तालाबों अथवा अन्य जलाशयों में विसर्जन करना प्रतिबंधित रहेगा। मूर्तियों एवं ताजियों का विसर्जन प्रत्येक अनुभाग स्तर पर समस्त नगरीय, ग्रामीण क्षेत्रों में क्षेत्र अंतर्गत प्रशासन के द्वारा वार्डवार टैंकरों, वाहनों में एकत्रित कर किया जावेगा। जिले में सार्वजनिक रूप से नदियों, तालाबों तथा अन्य जलाशय वाले स्त्रोतों पर आमजन का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा। इस आदेश का उल्लंघन पाए जाने पर भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188, 269, 270 एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम- 2005 की धारा 51,60 एवं अन्य वैधानिक प्रावधानों के अंतर्गत विधि सम्मत कार्यवाही की जावेगी। यह आदेश आगामी आदेश तक प्रभावशील रहेगा।

कीटव्याधियों के प्रकोप के नियंत्रण के लिये डायग्नोस्टिक टीम का भ्रमण

झाबुआ। जिले में खरीफ मौसम की फसलों पर कीटव्याधियों के प्रकोप की सूचना मिलने पर डायग्नोस्टिक टीम द्वारा विकास खण्ड झाबुआ एवं रानापुर के विभिन्न ग्रामों का भ्रमण किया गया। इस टीम में उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास श्री एन.एस. रावत, कृषि वैज्ञानिक डाॅ. व्ही.के. सिंह, सहायक संचालक कृषि एस.एस. रावत, अनुविभागीय कृषि अधिकारी श्री व्ही.एस. रावत एवं विकासखण्ड स्तरीय मैदानी अमला शामिल है। भ्रमण के दौरान विकासखण्ड झाबुआ के ग्राम काकरादरा खुर्द के कृषक श्री गुमानसिंह-चैनसिंह भाबर के खेत में मक्का फसल का अवलोकन किया गया। मक्का फसल में फाॅल आॅर्मी वर्म का प्रकोप दिखाई देने पर नियंत्रण के लिये अनुशंसित कीटनाशक का छिड़काव करने के लिये समसामयिक सलाह दी गई विकासखण्ड झाबुआ के ही ग्राम पिटोल के कृषक नानसिह-सुकिया, बालु-रतना, खुमा-बाला, कालु, काना-हकला, माना, मानु एवं उमा-काना के खेतों में लगी सोयाबीन, मक्का फसल का अवलोकन किया गया। फसल अवलोकन के दौरान सोयाबीन फसल में पिला मोजैक का प्रकोप दिखाई देने पर अनुशंसित रसायन का उचित घोल बनाकर छिड़काव करने एवं जिन खेतो में जल भराव की स्थिति है वहां उचित जल निकास करने की सलाह दी गई। विकासखण्ड रानापुर के ग्राम कहुड़ा के कृषक श्री हिम्मत-सकरू, कंजा-कुदू एवं मंजू-बद्दू के खेतों में मक्का फसल के कीट प्रकोप के नियंत्रण के लिये आवश्यक सलाह दी गई। ग्राम मोरडुण्डिया के कृषक छगन-फतेसिंह, अलु-झेतु, नागरसिंह-नानुराम, भुरसिह-माचू के खेतों में सोयाबीन, उड़द फसल का अवालेकन किया गया। इस दौरान फसल में पिला मोजैक का प्रकोप होने पर नियंत्रण के लिये अनुशंसित रसायन का छिड़काव करने की सलाह दी गई। साथ ही ग्राम समोई के कृषक मलसिह-सवेसिह, रतनसिंह-सवेसिह, अमरसिह-पारसिह एवं नवलसिह-मकना के खेत में सोयाबीन फसल में इल्लियों का प्रकोप होने पर नियंत्रण के लिये सामुहिक चर्चा की गई। ग्राम बन के वसना-पिचया, सविता-गोवर्धन के खेत पर लगी सोयाबीन फस्ल में जल भराव की स्थिति देखने पर पानी की निकासी की सलाह दी गई।

कीटव्याधियों के नियंत्रण के लिये जिले के कृषकों को आवश्यक सलाह
पिला मोजैक से ग्रसित पौधों को खेत से निस्कासित करें।सफेद मक्खी के नियंत्रण हेतु अनुशंसित सम्पर्क रसायन मिश्रित सम्पर्क रसायन बीटासायफ्लुथ्रिन$इमिडाक्लोप्रीड 350 एम.एल. प्रति हैक्टेयर या थायोमिथाक्सम$लैम्बडा सायहेलोथ्रिन 125 एम.एल. प्रहैक्टेयर का छिड़काव करें, जिससे सफेद मक्खी के साथ-साथ पत्ती खाने वाले कीटो का भी एक साथ नियंत्रण हो सके। कुछ क्षेत्रों में लगातार हो रही रिमझिम वर्षा की स्थिति में पत्ती खाने वाली इल्लियों के नियंत्रण के लिये इन्डोक्साकाब 333 एम.एल. प्रति हैक्टेयर या लेम्बडा सायहेलोथ्रिन 4.9 सी.एस. 300 एम.एल. प्रति हैक्टेयर का छिड़काव करें। जिन क्षेत्रों में अधिक वर्षा से जल भराव की स्थिति है, संभावित नुकसान को कम करने के लिये शीघ्र जल निकासी की व्यवस्था करें। सोयाबीन, कपास की फसल में फफुँद जनित एन्थ्रेकनोज तथा राइजोक्टोनिया एरियल ब्लाईट नामक बीमारी का प्रकोप होने पर टेबुकोनेझोल 625 एम.एल. प्रति हैक्टेयर या टेबुकोनेझोल$सल्फर 1 कि.ग्रा. हैक्टेयर या हैक्साकोनेझोल 5 प्रतिशत ई.सी. 800 एम.एल. प्रति हैक्टेयर के मान से छिडकाव करें।

कोई टिप्पणी नहीं: