पाकिस्तान क्रिकेट जगत ने धोनी की तारीफों के पुल बांधे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 18 अगस्त 2020

पाकिस्तान क्रिकेट जगत ने धोनी की तारीफों के पुल बांधे

pakistan-cricket-praised-dhoni
कराची, 18 अगस्त, पाकिस्तान के क्रिकेट समुदाय ने एक सुर में महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ करते हुए उन्हें भारत के महानतम कप्तानों में से एक और खेल को अपने तरीके से प्रभावित करने वाला खिलाड़ी बताया। शनिवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने वाले धोनी की कप्तानी में भारत ने टी20 विश्व कप, 50 ओवर का विश्व कप और चैंपियन्स ट्रॉफी का खिताब जीता जबकि टेस्ट क्रिकेट में दुनिया की नंबर एक टीम भी बना। इंजमाम उल हक, बासित अली, वसीम अकरम, वकार यूनिस, मुदस्सर नजर, शाहिद अफरीदी और कई अन्य ने धोनी की सराहना की। पाकिस्तान के लिए सबसे अधिक मैच खेलने वाले क्रिकेटर इंजमाम ने कहा, ‘‘मेरी नजर में वह भारत के महानतम क्रिकेट कप्तानों में से एक है। असली मैच विजेता जिसके खिलाफ खेलने का मैंने काफी लुत्फ उठाया।’’ राशिद लतीफ का मनना है कि भारतीय क्रिकेट में धोनी की विरासत को हमेशा याद रखा जाएगा लेकिन उसके संन्यास का मतलब है कि विराट कोहली अब अपनी विरासत तैयार कर सकता है। राशिद ने कहा, ‘‘शानदार खिलाड़ी और कप्तान। उसमें खेल को सटीकता के साथ पढ़ने की क्षमता थी और प्रत्येक स्थिति के अनुसार अपने खिलाड़ियों का इस्तेमाल करता था और वह परफेक्ट फिनिशर था।’’


पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज मुदस्सर ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि धोनी खेल के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर में से एक है। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पहली बार उसे तब देखा जब मैं कीनिया को कोचिंग दे रहा था। नैरोबी में त्रिकोणीय टूर्नामेंट था और धोनी ने लगातार दो शतक लगाए। लेकिन तब मुझे नहीं पता था कि वह भारतीय क्रिकेट और विश्व क्रिकेट पर इतना बड़ा असर छोड़ेगा।’’ शीर्ष बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ ने कहा कि कप्तान और विकेटकीपर के रूप में रन बनाने की धोनी की क्षमता शानदार थी। उन्होंने कहा, ‘‘उसने अलग अलग स्थानों पर बल्लेबाजी की और हमेशा नतीजा दिया। मुझे 2011 विश्व कप के फाइनल में उसकी पारी याद है। यह मास्टर स्ट्रोक थी जिस तरह वह बल्लेबाजी क्रम में खुद को ऊपर लाए और विजयी छक्का जड़ा।’’ बासित अली ने कहा कि उन्होंने अपने करियर में कभी धोनी से अधिक विविधता वाला खिलाड़ी नहीं देखा। उन्होंने कहा, ‘‘भारत और चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए उसका रिकॉर्ड देखिए, यह शानदार है। जब वह 2016 और 2017 में पुणे के लिए खेला तो उनकी टीम ने आईपीएल फाइनल में जगह बनाई। किसी भी टीम पर उसका प्रभाव इस तरह का था। ’’ पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज और मुख्य चयनकर्ता मोहसिन खान ने कहा कि धोनी का सबसे बड़ा योगदान यह रहा कि उन्होंने ऐसी टीमों की कप्तानी की जिसमें शीर्ष सीनियर खिलाड़ी मौजूद थे और साथ ही युवा खिलाड़ियों को निखारा और प्रोत्साहित किया। पूर्व कप्तान और विकेटकीपर मोइन खान ने कहा, ‘‘निजी तौर पर मुझे वह काफी रोमांचक और स्तरीय खिलाड़ी लगा जो प्रभाव छोड़ने वाले खिलाड़ी की परिभाषा में फिट बैठता है।’’ आक्रामक आलराउंडर शाहिद अफरीदी ने भी ट्वीट करके धोनी की तारीफ की और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। अफरीदी ने लिखा, ‘‘खेल के महान खिलाड़ियों में से एक और महानतम कप्तानों में से एक।’’

कोई टिप्पणी नहीं: