सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 अगस्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 2 अगस्त 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 02 अगस्त

प्रशासन के निर्देशों का पालन करे व्यापारी दुकानदार, मास्क लगाकर दो गज की दूरी रखे बाजार में नागरिक- विधायक राय

sehore news
सीहोर। विधायक सुदेश राय ने कोरोना पॉजीटिव 11व्यक्तियों की मृत्यु पर दुख प्रकट किया है। कोरोना केयर सेंटर से स्वास्थ्य होकर घर लौटे 130 धैर्यवान कोरोना विजेताओं की विधायक श्री राय ने प्रशंसा भी की है। उन्होने कहा की आईसोलेशन वार्ड और कोरोना केयर सेंटर में विशिष्ठ डॉक्टरों की निगरानी में उपचार करा रहे नागरिक भी कोरोना को मात देकर अपनों बीच घर पर हो एैसे ईशवर से प्रार्थना है। विधायक श्री राय ने कहा की महामारी से नागरिकों को बचाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रहीं है। नागरिकों से महामारी के दौर में सावधानी की अपील करते हुए विधायक सुदेश राय ने व्यापारियों दुकानदारोंं और घरों से निकलकर खरीददारी करने बाजार में आने वाले नागरिकों को हमेशा मास्क लगाकर रखने,दो गज की दूरी बनाए रखने सैनिटाईजर का उपयोग करने जरूरत पडऩे पर दस्ताने पहने, बीमार होने पर तत्काल डॉक्टर को दिखाने और प्रशासन के निर्देशों का पालन करने अफवाहों पर ध्यान नही देने की सलाह दी । उन्होने कहा की कोरोना किसी को भी अपना शिकार बना सकता है सावधानी से हीं इस से बचा जा सकता है। कोरोना तेजी से बढ़ रहा है शहर को पार कर गांव तक पहुंच गया है। बाजार से निकलकर घर भी पहुंच सकता है। जागरूकता सावधानी हीं हमारे मूल अस्त्र शस्त्र है।

सरकारी दस्तावजों में अपमानित (हरिजन) शब्द का उपयोग अम्बेडकर प्रतिमा के नीचे काली पटटी बांधकर किया विरोध
  • बाबा साहब को बोद्ध धर्म की दीक्षा देने वाले भंते चंद्रमंणी महाखेरो के शिष्य भंते मोख्यरत्न बोद्ध ने किया संबोधित
  • राष्ट्रपति से सुप्रीम कोर्ट के आदेश का देश में पालन कराने की मांग
sehore news
सीहोर। अनुसुचित जाति बहूल वार्ड क्रमांक ११ के डॉ अम्बेडकर पार्क के अंदर बाबा साहब डॉक्टर अम्बेडकर की प्रतिमा के नीचे मुंह पर मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए काली पटटी बांधकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अवहेलना करते हुए शासन के दस्तावेजों में अपमानित (हरिजन) शब्द का उपयोग किये जाने को लेकर रविवार को जिले के अनेकों को सामाजिक संगठनों के द्वारा  डॉ अम्बेडकर सार्वहारा बेजूवान अधिकारिकता परिषद के प्रदेशाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन किया गया। कुशीनगर उत्तर प्रदेश से सीहोर पहुंचे बाबा भीमराव अम्बेडकर को बोद्ध धर्म की नागपुर मेंं दीक्षा दिलाने वाले भंते चंद्रमंणी महाखेरो के शिष्य भंते मोख्यरत्न बोद्ध धर्म प्रचारक ने कहा की यह शब्द (हरिजन) हमारे समाज के लिए घोर अपमान का सूचक है, हम इस शब्द की कड़ी निंदा करते है। भंते मोख्यरत्न ने कहा की राष्ट्रपति इस अपमानित शब्द को लेकर स्यवं संज्ञान ले और केंद्र से लेकर राज्य सरकार तक सभी सरकारी दस्तावेजों से उक्त अपमानित शब्द को हटाने के निर्देश राज्यपालों को जारी करें। शासन के दस्तावेजों से इस शब्द को हटाया जाना चौथी श्रेणी के भारतीय समाज के लिए अति आवशयक है। संविधान निर्माता बाबा साहब अम्बेडकर ने भी (हरिजन) शब्द को लेकर महात्मा गांधी के साथ वहस की थी। बाबा साहब इस शब्द के घोर विरोधी रहे उन्होने महात्मा गांधी से कहा था अगर यह शब्द  सम्मानीय  है तो आप अपने और समाज के लिए शब्द का उपयोग क्यों नहीं करते है। विरोध प्रदर्शन के दौरान क्षेत्रीय पार्षद आरती खंगराले, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष राजेश मालवीय, बहुजन क्रांति मोर्चा के जिला संयोजन जितेंद्र मालवीय, राष्ट्रीय  अनुसुचित जाति जनजाति संघ के जिलाध्यक्ष  शुभम कचनेरिया,  युवा बेरोजगार मोर्चा कें प्रदेशाध्यक्ष जनम सिंह परमार, सदभावना सत्संग सेवा समिति के अध्यक्ष डीआर सागर, कबीर आश्रम समिति जिला समिति अध्यक्ष मूल्लालाल मालवीय ने भी संबोधित किया। राष्ट्रीय मूल निवासी महिला संघ की अध्यक्ष चांदकिरण धु्रवे ने किया। संत रविदास फाउंडेशन समाज की प्रदेश अध्यक्ष अनौखी वर्मा ने आभार व्यक्त किया। प्रदर्शन में मदनलाल मालवीय, पन्नालाल खंगराले, श्यामलाल महोबिया, डीएस भदोरिया, मनीष मालवीय, रामचरण मालवीय, धमेंद्र मालवीय, प्रेमनारायण परमार, रामकिशन मालवीय, अनार सिंह मालवीय, जगदीश भदोरिया, जीवन सिंह धराना आदि लोग शामिल रहे।  

आज 6 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई
  • आज 23 व्यक्ति स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए वर्तमान में कुल पॉजीटिव एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 151
sehore news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकार डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि  आज 6 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिसमें सीहोर के इंग्लिशपुरा क्षेत्र से 2, इछावर के वार्ड नंबर 5 से 3 तथा श्यामपुर अन्तर्गत ग्राम सुआखेड़ी से 1 व्यक्ति शामिल है।  जिले में वर्तमान में पॉजीटिव /एक्टिव व्यक्तियों की संख्या 151 है। आज 23 व्यक्तियों को कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किया गया है। डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों में सीहोर के 13, नसरूल्लागंज के 6 तथा इछावर के 4 व्यक्ति शामिल है। जिले में अब तक 130 व्यक्तियों को स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है। जिले में अब तक 11 कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी  है। आज 17 व्यक्तियों के  सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। जिसमें  सीहोर के कुल 11 सैम्पल तथा इछावर के 6 सैम्पल शामिल है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है। सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम., आशा कार्यकर्ता,आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 292 है जिसमें से 11 की मृत्यु हो चुकी है 130 स्वस्थ्‍ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 151 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है। आज कुल 17 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 4919  सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 4099 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 43 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 499 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 29 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर.7247704181 है कोविड.19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104  नंबर पर ई.परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई.संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562.226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

सीहोर शहरी क्षेत्र के कन्टेनमेंट एरिया में कोविड -19 जनजागरूकता रथ द्वारा किया गया प्रचार-प्रसार व सन्देश प्रसारण 

sehore news
रविवार को जागरूकता रथ जिला चिकित्सालय सीहोर से आरएमओ डॉ सुधीर श्रीवास्तव व  चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रशांत श्रीवास्तव द्वारा हरी झंडी दिखाकर शहरी क्षेत्र के कोरोना प्रभावित क्षेत्रो के लिए रवाना किया गया। इस अवसर पर जिला मीडिया सलाहकार श्री शैलेश कुमार सहित जिला चिकित्सालय का अन्य स्टॉफ उपस्थित था। जागरुकता रथ द्वारा कोविड -19 प्रभावित क्षेत्र स्वदेशनगर, गुलजारी का बगीचा, गंज, मंडी, चाणक्यपुरी, ब्रह्मपुरी, क़स्बा, नेहरू नगर, तिलक पार्क, इंग्लिशपुरा, देव नगर, गुलाब विहार, इंदौर नाका, जमशेदनगर, मेवातपुरा, पल्टन एरिया, सुभाष नगर, रेलवे स्टेशन, बड़ी ग्वालटोली, दिवान बाग़, प्रेमनगर, डांगी स्टेट,, दुर्गा कालोनी में कोविड -19 की सावधानी और बचाव से सम्बंधित प्रचार -प्रसार आडियो सन्देश के माध्यम से कर जागरूकता पाम्पलेट का वितरण किया गया। इस दौरान सीहोर के इंग्लिशपुरा कोविड-19 प्रभावित क्षेत्र के लिए कन्टेनमेंट एरिया से सहायक कन्टेनमेंट चिकित्सा अधिकारी डाक्टर अशोक मालवीय द्वारा जन जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस अवसर पर युवा विकास मण्डल के क्षेत्रीय प्रेरक कचरूलाल सूर्यवंशी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत नवीन पात्र हितग्राहियों को जोड़ने के दिए निर्देश 

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत सम्मिलित 25 श्रेणी के परिवारों को स्थानीय निकाय द्वारा सत्यापित एवं वर्तमान में सम्मिलित पात्र परिवारों में से छूटे सदस्यों को जोड़कर नवीन पात्रता पर्ची जारी करने एवं अनुपलब्ध हितग्राहियों को पृथक किए जाने की समय सीमा निर्धारित की गई है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत नवीन पात्र हितग्राहियों को जोड़ने के संबंध में सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ, सीएमओ तथा सहायक एवं कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। निर्धारित समय सीमा के तहत नवीन सत्यापित परिवारों के सभी सदस्यों के आधार सीडिंग का कार्य स्थानीय निकायों के द्वारा किया जाएगा। अनुपलब्ध हितग्राहियों की सूची का प्रिंट एम राशन मित्र पोर्टल से जेएसओ लॉगिन से निकलवाकर ग्राम पंचायत, स्थानीय निकाय एवं शासकीय उचित मूल्य दुकानों पर चस्पा कराया जाएगा। अनुपलब्ध परिवार, सदस्यों के द्वारा प्रस्तुत दावे-आपत्तियों का निरीकरण नगरीय क्षेत्र में एसडीएम तथा ग्रामीण क्षेत्र में संबंधित तहसीलदार द्वारा किया जाएगा। सभी संबंधित अधिकारियों को कार्ययोजना अनुसार उन्हें सौंपे गए दायित्व समय सीमा में पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

सभी शासकीय और अशासकीय विद्यालय 31 अगस्त तक बंद रहेंगे

उप सचिव मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग ने  आदेश जारी किया है कि नोबेल कोरोना वायरस (कॉविड 19) व उससे जनित बीमारी के संक्रमण से बचाव हेतु  प्रदेश के संभी शासकीय और अशासकीय विधालाय 31 अगस्त तक बन्द रखने के आदेश जारी किए है।विभागीय समसंख्यक आदेश दिनांक 29 जून 2020 द्वारा प्रदेश के समस्त शासकीय एवं अशासकीय विद्यालय 30 जुलाई 2020 तक बंद रखे जाने संबंधी निर्देश प्रसारित किए गए थे। राज्य शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि लोक स्वास्थ्य एवं लोक हित में प्रदेश की समस्त शासकीय, अशासकीय विद्यालय 31 अगस्त 2020 तक बंद रहेंगे। समय-समय पर जारी विभागीय आदेश अनुसार ऑनलाइन अध्यापन की गतिविधियां जारी रखी जा सकेगी।

माँ के दूध से शिशु को रोगों से लड़ने की शक्ति मिलती है- श्रीमती इमरती देवी 

महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने एक अगस्त से 7 अगस्त 2020 तक संचालित होने वाले विश्व स्तनपान सप्ताह का ऑनलाइन शुभारंभ किया। मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने विश्व स्तनपान सप्ताह का शुभारंभ के दौरान विभाग के अधिकारी व कर्मचारी तथा सरपंचों को संबोधित करते हुए कहा कि जन्म के एक घंटे के तत्काल बाद एवं 6 माह तक शिशु के लिये माँ का दूध अमृत है। माँ का दूध पिलाने से बच्चा बार-बार बीमार नहीं पड़ता, बल्कि माँ के दूध से शिशु को रोगों से लड़ने की शक्ति भी प्राप्त होती है। माँ का दूध बच्चों को जीवनभर दवा का काम करता है। श्रीमती इमरती देवी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि चिकित्सक, नर्स, पैरामेडीकल स्टाफ, सफाईकर्मी सहित महिला एवं बाल विकास विभाग की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका तथा पर्यवेक्षक आदि द्वारा कोविड-19 के संक्रमण को रोकने में एवं जन जागरूक करने में कोरोना योद्धा के रूप में कार्य कर अपनी जिम्मेदारी का बेहतर निर्वहन किया गया। इसी प्रकार लगन एवं मेहनत के साथ एक से 7 अगस्त 2020 तक संचालित होने वाले विश्व स्तनपान सप्ताह के संबंध में विभाग का मैदानी अमला घर-घर जाकर महिलाओं को जानकारी दे तथा शिशु को माँ के दूध के महत्व को बताएँ और माताओं को अपने शिशु को जन्म से 6 माह तक माँ का दूध पिलाने हेतु प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि ऐसी गरीब परिवार की महिलायें जो मेहनत मजदूरी के कारण अपने बच्चों पर ध्यान नहीं दे पाती हैं। उन परिवारों को घर पर पोषण आहार भेजने की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग के अमले के माध्यम से कई जिलों में कुपोषण मुक्त करने में अहम भूमिका निभाई गई। आगे भी विभाग के मैदानी कर्मचारी के कंधों पर बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने की अहम जिम्मेदारी है। इस कार्य को कार्यकर्ता, सहायिका एवं सुपरवाइजर बेहतर तरीके से करें ।मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने उनके नेतृत्व में जो प्रदेश में बेहतर कार्य किए हैं वह एक मंत्री के रूप में नहीं बल्कि उनकी बहन के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में कार्य किया है, जिसके लिये सभी बधाई के पात्र हैं। महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कोरोना काल में नवजात शिशुओं के साथ-साथ छोटे बच्चों के स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान देने की समझाइश माताओं को दें। उन्होंने कहा कि कोरोना बीमारी से घबराएं नहीं बल्कि इसका डटकर मुकाबला करें। घर से बाहर निकलते समय मास्क का उपयोग करें, हाथों को बार-बार साबुन से धोएं, सेनेटाइज करें, सामाजिक दूरी बनाकर रखें। कोरोना काल में गर्भवती महिलाओं के साथ छोटे बच्चों के पोषण पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

महाविद्यालयों में 5 अगस्त से प्रारंभ होगी ऑनलाइन ई-प्रवेश प्रक्रिया उच्च शिक्षा विभाग द्वारा दिशा-निर्देश जारी 

प्रदेश में कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए उच्च शिक्षा विभाग द्वारा महाविद्यालयों में छात्र-छात्राओं को प्रवेश देने के लिए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव के निर्देशन में विभाग द्वारा ऑनलाइन ई-प्रवेश की सुविधा प्रदान की गई है। प्रवेश प्रक्रिया 5 अगस्त से प्रारंभ होगी। इसी तरह बीएड की काउंसलिंग हेतु 4 अगस्त से ऑनलाइन आवेदन किये जा सकते हैं। ऑनलाइन ई-प्रवेश के तहत स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु अर्हताकारी परीक्षा का डाटा एमपी ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से सत्यापित किया जाएगा। एमपी ऑनलाइन के पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन सत्यापित आवेदकों को सत्यापन या प्रवेश के लिए महाविद्यालयों में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। आवेदक आवंटित महाविद्यालय में प्रवेश हेतु प्रवेश शुल्क का भुगतान ई-प्रवेश पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन डिजिटल विकल्पों का उपयोग करते हुए कर सकेंगे। ऑनलाइन प्रवेश के समय 50 प्रतिशत प्रवेश शुल्क ही देना होगा। शेष शुल्क दो किश्तों में संबंधित महाविद्यालय में अध्ययन के किए उपस्थित होने पर डिजिटल माध्यम से जमा कराना अनिवार्य होगा। ‌स्नातकोत्तर कक्षाओं में प्रवेश हेतु स्नातक अंतिम वर्ष के परीक्षा परिणाम घोषित न होने की स्थिति में प्रावधिक प्रवेश हेतु प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के प्राप्त अंकों का प्रतिशत ऑनलाइन पंजीयन के समय दर्ज करना होगा। शासकीय, अशासकीय एवं अनुदान प्राप्त महाविद्यालयों में स्नातक प्रथम वर्ष तथा स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में सत्र 2020-21 हेतु केंद्रीकृत ऑनलाइन प्रवेश की व्यवस्था होगी।

संबल अनुग्रह सहायता योजना के भुगतान हेतु लंबित स्वीकृत प्रकरणों के पुनः सत्यापन के निर्देश 

मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल अनुग्रह सहायता योजना के स्वीकृति उपरांत भुगतान के लिए लंबित प्रकरणों के पुनः सत्यापन उपरांत भुगतान की कार्यवाही के संबंध में श्रम विभाग के अपर मुख्य सचिव द्वारा सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल अनुग्रह सहायता योजना के स्वीकृत किन्तु सत्यापन के दौरान मृत्यु के कारण अपात्र घोषित लंबित भुगतान के प्रकरणों के पुनः सत्यापन की कार्यवाही 31 जुलाई 2020 तक सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए गए थे। वर्तमान में कोविड महामारी के कारण कई जिलों में लॉकडाउन की स्थिति निर्मित होने से पुनः सत्यापन में अपेक्षित प्रगति नहीं आई है। जिसे दृष्टिगत रखते हुए पुनः सत्यापन करने के लिए 07 अगस्त 2020 तक का समय निर्धारित किया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: