5 माह बाद आज से शुरू हो गई वैष्णो देवी यात्रा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 16 अगस्त 2020

5 माह बाद आज से शुरू हो गई वैष्णो देवी यात्रा

vaishno-devi-trip-starts
नयी दिल्ली : कोरोना के चलते पिछले 5 महीनों से बंद वैष्णो देवी धाम की यात्रा आज रविवार से फिर शुरू हो गयी। जम्मू में कटरा के निकट त्रिकुटा की पहाड़ियों पर स्थित प्रसिद्ध माता वैष्णो देवी मंदिर के कपाट आज से फिर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए। यात्रा में उन्हीं श्रद्धालुओं को शामिल होने की अनुमति दी जा रही है जिन्होंने ऑनलाइन पंजीकरण करा रखा है। कोरोना के कारण करीब पांच महीने तक यात्रा बंद रही है। हालांकि यात्रा शुरू होने के पहले दिन श्रद्धालुओं की संख्या काफी कम रही और स्थानीय लोग ही यात्रा में शामिल हुए। सभी की स्कैनिंग की जा रही है। यह यात्रा कोरोना महामारी के कारण 18 मार्च से बंद थी। श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि यात्रा में शामिल होने के लिए पंजीकरण ऑनलाइन करवाना होगा। दूसरे प्रदेशों और जम्मू-कश्मीर के रेड जोन जिलों के लोगों को कोरोना निगेटिव रिपोर्ट भी अपनी साथ रखनी होगी। इसकी जांच भवन को जाने के दौरान हेलीपैड, ड्योढ़ी गेट, बाणगंगा और कटरा में की जा रही है। श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी ने बताया कि तीर्थयात्रियों के लिए मास्क, फेस कवर पहनना अनिवार्य होगा। भीड़ से बचने के लिए अटका आरती और विशेष पूजा में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाएगी। भक्तों की सुविधा के लिए क्लाक रूम खोला गया है जबकि कंबल स्टोर बंद हैं। यात्रा में पहले सप्ताह प्रतिदिन दो हजार तीर्थयात्री शामिल होंगे। इन यात्रियों में जम्मू-कश्मीर के 1900 और अन्य 100 दूसरे राज्यों के लोग होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: