आईपीएल के टाइटल प्रायोजक से इस साल हटी चीनी मोबाइल कंपनी वीवो - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 अगस्त 2020

आईपीएल के टाइटल प्रायोजक से इस साल हटी चीनी मोबाइल कंपनी वीवो


vivo-will-not-be-ipl-primer-financer
नयी दिल्ली, 04 अगस्त, भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव का असर अब खेलों पर दिखाई देने लगा है और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल प्रायोजक चीन की मोबाइल कंपनी वीवो भारत में उठे कड़े विरोध स्वर के बाद आईपीएल के 2020 सत्र में टाइटल प्रायोजन से हट गयी है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने आईपीएल के 13 वें संस्करण को 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कराने की घोषणा की है। आईपीएल की संचालन परिषद ने गत रविवार को यह घोषणा करने के साथ बताया था कि वीवो सहित उसके सभी प्रायोजकों को बरकरार रखा गया है लेकिन इसके बाद देश में विरोध के स्वर उठे कि कैसे बीसीसीआई एक चीनी कंपनी को आईपीएल का टाइटल प्रायोजक बनाये रख सकती है जबकि सीमा पर चीन के साथ तनाव में भारतीय सैनिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। क्रिकइंफो के अनुसार वीवो इस सत्र से हट गयी है हालांकि बीसीसीआई और वीवो ने अभी तक आधिकारिक रूप से कोई घोषणा नहीं की है। यह खबरें हैं कि वीवो आईपीएल के टाइटल प्रायोजक के रूप में 2022 और 2023 सत्र में लौट सकती है। यह भी खबर है कि बीसीसीआई 2020 सत्र के टाइटल प्रायोजन के लिए आगामी दिनों में निविदा जारी कर सकती है। वीवो ने 2017 में पांच साल (2018-2022) के लिए आईपीएल टाइटल प्रायोजन का करार 2199 करोड़ रुपये में जीता था । बीसीसीआई को एक सत्र में वीवो से 440 करोड़ रुपये मिलते हैं। जून में भारत और चीन के बीच राजनीतिक तनाव के बाद बीसीसीआई ने कहा था कि आईपीएल से सम्बंधित प्रायोजन करार की समीक्षा करेगा लेकिन भारतीय बोर्ड ने किसी ब्रांड का नाम नहीं लिया था। दो दिन पहले आईपीएल की संचालन परिषद की बैठक के बाद बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बयान जारी कर कहा था कि आईपीएल 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक यूएई में खेला जाएगा और वीवो इसका टाइटल प्रायोजक होगा। इस बीच कई फ्रैंचाइजी का कहना है कि आईपीएल ने उन्हें अभी कोई सूचना नहीं दी है। समझा जाता है कि हर फ्रैंचाइजी को वीवो अनुबंध से 20 करोड़ रुपये मिलते हैं। वीवो ने 2015 में दो वर्ष के लिए आईपीएल का टाइटल प्रायोजन हासिल किया था और फिर उसे 2017 में पांच साल के लिए बरकरार रखा था।

कोई टिप्पणी नहीं: