फिनिशर की भूमिका निभाने के लिये भी तैयार हूं : रहाणे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 28 अगस्त 2020

फिनिशर की भूमिका निभाने के लिये भी तैयार हूं : रहाणे

will-play-like-finisher-rahane
नयी दिल्ली, 27 अगस्त, अंजिक्य रहाणे को क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में पारी का आगाज करना पसंद है लेकिन दिल्ली कैपिटल्स में शीर्ष क्रम में कई बल्लेबाजों की मौजूदगी से भारतीय टेस्ट टीम के उप कप्तान को संयुक्त अरब अमीरात में होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में ‘फिनिशर’ की भूमिका निभानी पड़ सकती है जिसके लिये वे पूरी तरह से तैयार हैं। इस साल दिल्ली कैपिटल्स से जुड़ने वाले रहाणे के लिये शीर्ष क्रम में जगह बनाना मुश्किल होगा क्योंकि टीम में शिखर धवन और पृथ्वी साव हैं जिनके बाद श्रेयस अय्यर, शिमरोन हेटमेयर और ऋषभ पंत बल्लेबाजी के लिये उतर सकते हैं। रहाणे से टीम में अपनी भूमिका के बारे में पूछा गया, उन्होंने कहा, ‘‘मैं नहीं जानता। हमें इंतजार करना होगा क्योंकि अभी हमें अभ्यास सत्र शुरू करना है और तभी इस पर बात होगी। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपने पूरे करियर के दौरान पारी का आगाज किया और मैंने इसका पूरा लुत्फ उठाया। लेकिन यह पूरी तरह से टीम प्रबंधन पर निर्भर करेगा कि वह टीम में मुझे क्या भूमिका देना चाहते हैं। मैं वह भूमिका शत प्रतिशत निभाऊंगा।’’ क्या टी20 में फिनिशर की भूमिका उनके अनुकूल होगी, तो रहाणे ने कहा कि वह इसके लिये तैयार हैं। टी20 क्रिकेट में 196 मैचों में 4988 रन बनाने वाले रहाणे ने कहा, ‘‘अगर मुझे नंबर पांच या छह पर बल्लेबाजी के लिये कहा जाता है तो निश्चित तौर पर ऐसा करना चाहूंगा क्योंकि यह मेरे लिये नयी भूमिका होगी और इससे मुझे अपना खेल को विस्तार देने में मदद मिलेगी। इसलिए अगर आप मुझसे पूछते हो तो मेरा जवाब हां होगा, मैं तैयार हूं। ’’ रहाणे को अब भी पिछले साल विश्व कप में टीम का हिस्सा नहीं बन पाने की निराशा है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा वास्तव में मानना है कि मुझे विश्व कप में नंबर चार बल्लेबाज के तौर पर होना चाहिए था। यह अब अतीत की बात है और लक्ष्य वनडे टीम में वापसी करना और सीमित ओवरों की क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करना है। ’’

कोई टिप्पणी नहीं: