बेतिया : सावधानीपूर्वक कर्तव्यों एवं दायित्वों का निवर्हन करने का निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 17 सितंबर 2020

बेतिया : सावधानीपूर्वक कर्तव्यों एवं दायित्वों का निवर्हन करने का निर्देश

स्वच्छ, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन सम्पन्न कराने में सेक्टर पदाधिकारियों की भूमिका अहम: जिला निर्वाचन पदाधिकारी.....
betiyah-dm-order-for-duty
बेतिया,17 सितम्बर। जिला निबंधन एवं परामर्श केन्द्र में सेक्टर पदाधिकारियों के साथ की गयी समीक्षा बैठक।जिला निर्वाचन पदाधिकारी, श्री कुंदन कुमार ने कहा कि स्वच्छ, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण तरीके से निर्वाचन सम्पन्न कराने में सेक्टर पदाधिकारियों की भूमिका बेहद अहम है। आपके कंधों पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दी गयी है।  भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार आप सभी अपने-अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निवर्हन पूरी सावधानीपूर्वक करें ताकि किसी भी प्रकार की गलती की गुंजाईश नहीं रहे। निर्वाचन प्रक्रिया की समाप्ति तक किसी भी प्रकार की चूक नहीं होनी चाहिए, कोई भी कार्य बेहतर प्लानिंग एवं मैनेजमेंट के तहत करें। उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्य में छोटी-छोटी बातों पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है तथा आने वाली समस्याओं का ससमय निराकरण करना होगा। 

उन्होंने कहा कि भी सेक्टर पदाधिकारी अपने-अपने बूथों का भौतिक सत्यापन दो दिनों के अंदर प्रतिवेदन निर्वाचन शाखा को उपलब्ध करायेंगे तथा कार्यक्षेत्र में होने वाली निर्वाचन संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए निर्वाचन शाखा से तुरंत संपर्क करेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्य बूथ सहित आॅग्जलरी बूथ, टेम्प्रोरी बूथ का सत्यापन अच्छे तरीके से करना है। छोटी-छोटी बातों की भी जानकारी सत्यापन प्रतिवेदन अंकित होनी चाहिए ताकि उनका निराकरण ससमय कराया जा सके। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि बूथों तक जाने वाली सड़कों का मुआयना भी करना अत्यंत जरूरी है। साथ ही बूथों तक ईवीएम, वीवी-पैट, पोलिंग पार्टी आदि को जाने हेतु वाहनों के आवागमन की भी समुचित जानकारी प्राप्त कर लें। अगर कहीं सड़क क्षतिग्रस्त हो, आने-जाने का कोई मार्ग ही नहीं हो अथवा नाव का सहारा लेने पड़े आदि से संबंधित अद्यतन जानकारी उपलब्ध करायी जाय। उन्होंने कहा कि बारिश के कारण जिले की लगभग 209 क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मति कराकर आवागमन सुचारू कर दिया गया है। फिर भी बूथों तक जाने वाला कोई मार्ग क्षतिग्रस्त हो तो इसकी सूचना तुरंत दें ताकि उसकी मरम्मति करायी जा सके।  उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्य में आप सभी कोविड-19 का विशेष ध्यान रखेंगे। सभी अधिकारी एवं कर्मी मास्क का प्रयोग करेंगे तथा 02 गज की दूरी बनायें रखेंगे। उन्होंने कहा कि निर्वाचन के लिए बूथों पर की जा रही तैयारियां भी कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए की जाय ताकि मतदाताओं को कोई परेशानी नहीं हो तथा कोविड-19 के संक्रमण से बचा जा सके। 

 इसके साथ ही सेक्टर पदाधिकारियों को निम्न निर्देश दिए गए।
(1) आवंटित मतदान केन्द्रों का रूटचार्ट विभिन्न मार्ग से अलग-अलग तैयार करना। सभी मतदान केन्द्र पर पहुंचने में लगने वाले समय का भी आकलन करना।
(2) मतदान केन्द्रों पर उपलब्ध मूलभुत सुविधाओं यथा-पानी, शेड, रैम्प, बिजली, शौचालय, दूरभाष, मतदान भवन की स्थिति पर भौतिक सत्यापन करना।
(3)मतदान केन्द्रों के स्थान के सम्बद्ध में व्यापक प्रचार-प्रसार करना।
(4) मतदान केन्द्र के इर्द-गिर्द अवस्थित भवनों में निवाास करने वाले व्यक्तियों का नाम/मोबाईल नंबर आदि का संकलन करना।
(5) मतदान केन्द्र के लिए बनाये गये बूथ अवेयरनेस ग्रुफ (बैग) के क्रियाकलाप का अनुश्रवण करना।
(6) यह सुनिश्चित करना कि मतदान केन्द्र पर मोाबइल नंबर के किन-किन कंपनियों की सेवायें/नेटवर्क उपलब्ध है।
(7) मतदान क्षेत्र का नजरी नक्शा तैयार करना।
(8) मतदाताओं को मतदान सूची/मतदान केन्द्र के संबंध में जानकारी प्राप्त करने हेतु अपने मतदान के बीएलओ को जानने की सूचना प्रदान करना।

कोई टिप्पणी नहीं: