बिहार : नीतीश कैबिनेट ने लगाई 64 बिल पर मुहर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 19 सितंबर 2020

बिहार : नीतीश कैबिनेट ने लगाई 64 बिल पर मुहर

कारगिल चौक से NIT मोड़ तक बनेगा एलिवेटेड रोड
nitish-cabinet-passed-64-bills
पटना : बिहार विधान सभा चुनाव में पहले बिहार के रसोइया, अंगनबाड़ी सेविका, किसान सलाहकार से लेकर विकास मित्रों को बिहार सरकार ने चुनावी वर्ष में तोहफा दिया। कैबिनेट की बैठक में आज 64 एजेंडे ओर मुहर लगी है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आज कैबिनेट की बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें सभी मंत्री व अधिकारी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए थे। इस बैठक में सरकार ने कारगिल चौक से NIT मोड़ तक एलिवेटेड रोड का निर्माण समेत 64 एजेंडे पर मुहर लगाई। इसमें से सरकार ने मदरसा बोर्ड और संस्कृत बोर्ड के शिक्षकों के वेतनमान में 15 फीसदी की वृद्धि की है। साथ ही कैबिनेट ने तालीमी मरकज, शिक्षा सेवक, रसोइया, किसान सलाहकार, विकास मित्र के मानदेय में वृद्धि की है। तालीमी मरकज के मानदेय में 1 हजार रुपये प्रतिमाह का इजाफा किया गया है। मानदेय में वृद्धि होने के बाद अब उन्हें 11 हजार रुपये प्रतिमाह मिलेंगे। इसके अलावा मिड डे मील रसोइया के मानदेय में 150 रुपये प्रतिमाह की वृद्धि की गई है। अब उन्हें1650 रुपये प्रतिमाह मानदेय मिलेगा। किसान सलाहकार के मानदेय में भी 1 हजार रुपये प्रतिमाह का इजाफा किया गया है। अब उन्हें13 हजार रुपये मिलेंगे।विकास मित्रों के मानदेय में 1200 रुपये प्रतिमाह की वृद्धि की गई है। मानदेय वृद्धि का लाभ अप्रैल 2021 से मिलेगा। कैबिनेट ने एक और बड़ा निर्णय लेते हुए कारगिल चौक, गांधी मैदान से NIT मोड़, अशोक राजपथ में एलिवेटेड रोड बनाएगी। इसके लिए 422 करोड़ रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति मिली है। कैबिनेट ने सचिवालय स्पोर्ट्स को नया रूप देते हुए अब सचिवालय स्पोर्ट्स फाउंडेशन बनाया जाएगा। राज्य सरकार ने मोटर एक्ट बिल में संसोधन कड़ते हुए यह निर्णय ली है कि स्कूली वाहनों में सीट से अधिक स्कूली बच्चे बैठाने पर जुर्माना तथा गाड़ी का लाइसेंस रद्द किया जाएगा। कैबिनेट ने गांव-गांव बिजली पहुंचाने के लिए बिजली कम्पनी के लिए 569.64 करोड़ रुपये जारी की है। इस राशि का प्रयोग घर-घर बिजली पहुंचाने में की जाएगी। साथ ही भूमि दाख़िल खारिज नियमावली में भी संसोधन किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: