बिहार : डॉक्टरों से घर बैठे ऑनलाइन करवाएं इलाज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 8 सितंबर 2020

बिहार : डॉक्टरों से घर बैठे ऑनलाइन करवाएं इलाज

online-treatment-from-home-bihar
पटना : कोरोना संक्रमण काल में लोगों के बीच अस्पताल जाने को लेकर भय की स्थिति उत्पन्न हो गई है। लोगों को यह लग रहा है कि कहीं अस्पताल जाने से वह संक्रमित ना हो जाए। इस बीच अब कोरोना महामारी के दौर में पटना एम्स के साथ साथ देश के कई नामी डॉक्टर ऑनलाइन इलाज करने के प्रस्ताव को लेकर समाज के बीच आए हैं । दरसअल कोरोना महामारी के मद्देनजर प्राइमरी हेल्थ केयर को लेकर एक ऐप बनाया गया है। इस ऐप को पटना के शुभम शशांक और आदित्य पांडेय ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और रोबोटिक्स का इस्तेमाल कर तैयार किया। इन दोनों छात्रों ने इसे स्टार्टअप के तौर पर शुरू किया गया है।इस ऐप के बारे में पूछे जाने पर शुभम कहते हैं कि उनका ये ऐप कोविड-19 को देखते हुए तैयार किया गया है। फिलहाल इस ऐप का फोकस प्राइमरी हेल्थ केयर को बेहतर बनाने के लिए है जिसके लिए क्लाउडस्पिटल तैयार किया गया है। जानकारी हो कि कोरोना काल में लोगों को बेहतर स्वस्थ्य सुविधा देने के लिए क्लाउडस्पिटल ने पटना एम्स के कम्युनिटी आउट रिच एंड टेली मेडिसिन डिपार्टमेंट ने करार किया है। टेली मेडिसिन के हेड डॉ अनिल इस सेवा से काफी प्रभावित हैं। इस सुविधा को नवंबर में लोगों के लिए जारी कर दिया जायेगा। फ़िलहाल इस ऐप का सफल ट्रायल हो गया है।अभी इसमें और भी अधिक अच्छे डॉक्टरों को जोड़ने की प्रक्रिया जारी है।



एप पर डॉक्टर्स सेलेक्ट करना होगा, उसके बाद दिये गये समय पर अपने नजदीकी क्लाउडस्पिटल सेंटर पर जाना होगा। सेंटर पर वीडियो कॉल पर डॉक्‍टर उपलब्‍ध होंगे। डॉक्टर वहां से मरीज को देखेंगे। मरीज ही क्लाउडस्पिटल सेंटर पर मौजूद स्टेथोस्कोप को खुद से लगायेंगे और स्टेथोस्कोप का रिजल्ट डॉक्टर के पास शो करेगा। दिव्यांग जनों के लिए वहां पर विशेष सुविधाएं दी गयी हैं। दिव्यांग के लिए रोबोटिक्स स्टेथोस्कोप काम करेगा। क्लाउडस्पिटल सेंटर पर पेशेंट का हार्ट बीट, बीपी, शरीर का तापमान, वजन, डीएमआइ, बॉडी मास इंडेक्स, फैट प्रतिशत, मेटाबॉलिक एज आदि की जानकारी मशीन से ही डॉक्टर के पास चली जायेगी। पेशेंट को देखने के बाद डॉक्टर के इलाज का विवरण पेशेंट के मोबाइल और इमेल आइडी पर चला जायेगा। साथ ही दवाओं की जानकारी भी दे दी जायेगी। इस ऐप पर शीर्ष स्‍तर के हृदय रोग विशेषज्ञों, कैंसर विशेषज्ञों, स्‍त्री रोग विशेषज्ञों, जेनरल फिजिसियन के साथ अन्य विशेषज्ञों से सलाह लेने की सुविधा मिलेगी।इसके साथ फिजियोथेरेपी की सुविधाएं भी मिलेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: