कृषि सुधार का वादा करने वाले आज फैला रहे भ्रम : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 19 सितंबर 2020

कृषि सुधार का वादा करने वाले आज फैला रहे भ्रम : मोदी

opposition-rumor-on-agriculture-bill-modi
पटना 18 सितंबर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों के कल्याण और कृषि सुधारों की दिशा में गुरुवार को लोकसभा से पारित विधेयक को किसानों का रक्षा कवच बताया और कहा कि जिन लोगों ने अपने घोषणा पत्र में इसका वादा किया था वही लोग आज इसके बारे में भ्रम फैला रहे हैं। श्री मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बिहार की 12 रेल परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने के बाद कहा कि कल का दिन देश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण था। विश्वकर्मा जयंती के दिन लोकसभा में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयक पारित किया गया। यह विधेयक हमारे अन्नदाता किसानों को अनेक बंधनों से मुक्ति दिलाएगा है। आजादी के बाद किसानों को एक नई आजादी इन सुधारों के जरिए मिली है। अब किसानों को उपज बेचने में और ज्यादा विकल्प और ज्यादा अवसर मिलेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान और ग्राहक के बीच जो भी चोरी होती है और किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा बिचौलिए ले लेते हैं उनसे बचाने के लिए यह विधेयक लाया जाना जरूरी था। ये विधेयक किसानों के लिए रक्षा कवच बन कर आए हैं लेकिन कुछ लोग जो दशकों तक देश में शासन करते रहे हैं, सत्ता में रहे हैं और जिस पर राज किया है वह लोग किसानों को इस विषय पर भ्रमित करने की कोशिश कर रहे हैं। किसानों से झूठ बोल रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि चुनाव के समय किसानों को लुभाने के लिए यही लोग बड़ी-बड़ी बातें करते हैं और अपने चुनाव घोषणा पत्र में इसके लिए वादा भी करते हैं लेकिन चुनाव के बाद उसे भूल जाते हैं। उन्होंने कहा कि आज जब वही चीजें जो दशकों तक देश में राज करने वालों के घोषणा पत्र में है उसे भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार कर रही है जो किसानों को समर्पित है तो ऐसे लोग किसानों में भ्रम फैला रहे हैं ।

कोई टिप्पणी नहीं: