कोरोना मृत्युदर पर लगाम लगायें महाराष्ट्र, आंध्र और कर्नाटक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 5 सितंबर 2020

कोरोना मृत्युदर पर लगाम लगायें महाराष्ट्र, आंध्र और कर्नाटक

order-maharashtra-andhra-karnataka-reduce-covid-death
नयी दिल्ली 05 सितंबर, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक से कोरोना मृत्युदर को नियंत्रित कर उसे एक प्रतिशत से कम करने का निर्देश दिया है। पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के कारण हुई मौतों में से 35 प्रतिशत मामले अकेले महाराष्ट्र के हैं जबकि सम्मिलित रूप से इन तीन राज्यों में मौत का आंकड़ा 52 प्रतिशत है। मंत्रालय ने आज कहा कि ये तीनों राज्य कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगाने के लिए सख्त कदम उठायें और साथ ही यह सुनिश्चित करें कि राज्य में कोरोना मृत्यु दर एक प्रतिशत से कम रहे। इन राज्यों को मृत्यु दर कम करने के लिए जांच गति तेज करने और प्रभावी चिकित्सकीय प्रबंधन की सलाह दी गयी है। उन्हें साथ ही कई स्तरों पर प्रभावी निगरानी करने का परामर्श भी दिया गया है।



पिछले 24 घंटे के दौरान देशभर में सामने आये संक्रमण के कुल मामलों में से करीब 46 प्रतिशत मामले इन तीन राज्यों के हैं। बीते 24 घंटे के दौरान अकेले महाराष्ट्र में संक्रमण के 22 प्रतिशत मामलों की पुष्टि हुई है। मंत्रालय ने बताया है कि महाराष्ट्र में पुणे, नागपुर, कोल्हापुर, सांगली, नासिक, अहमदनगर, रायगढ, जलगांव, सोलापुर, सतारा और पालघर जिलों में प्रभावी कंटेनमेंट रणनीति लागू करने और संक्रमितों के संपर्क में आये व्यक्तियों को चिह्नित करने की अधिक जरूरत है। इसी तरह आंध्रप्रदेश में प्रकाशम और चित्तूर जिलों के प्रत्येक कोविड फैसिलिटी में होने वाली मौत की निगरानी जरूरी है और साथ ही अस्पताल में सुविधाओं को बढाने , आईसीयू बेड, ऑक्सीजन बेड की संख्या को बढाने तथा प्रभावी चिकित्सकीय प्रबंधन की आवश्यकता है। कर्नाटक में कोप्पल, मैसूरु, देवनगिरि और बेल्लारी जिलों में आरटी-पीसीआर टेस्ट लैब का समुचित इस्तेमाल करने , सक्रिय मामलों को चिह्नित करने और स्वास्थ्यकर्मियों को सुरक्षित रखने पर जोर देने के लिए कहा गया है। देश में कोरोना के कारण अब तक हुई मौतों में 70 प्रतिशत मामले देश के पांच राज्यों महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, दिल्ली और आंध्र प्रदेश के हैं। मौत के कुल मामलों में 37.33 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र के हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: