बिहार : अपने पैतृक गांव में होंगे पंचतत्व में विलीन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 13 सितंबर 2020

बिहार : अपने पैतृक गांव में होंगे पंचतत्व में विलीन

raghuvansh-will-be-cremated-in-village
पटना : देश के वंचितों की आवाज तथा केंद्र में मंत्री रहते हुए मनरेगा को गांव-गांव पहुँचाने वाले नेता रघुवंश प्रसाद सिंह का आज दिल्ली स्थित एम्स में निधन हो गया। उनके निधन से पूरा देश मर्माहित है। सभी लोग अपनी भावनाओं को प्रकट करते हुए रघुवंश प्रसाद सिंह (ब्रह्म बाबा) के निधन पर शोक व्यक्त कर रहे हैं। रघुवंश प्रसाद सिंह ने इस दुनिया को 74 साल की उम्र में अलविदा कह दिया। बिहार के साथ-साथ पूरे देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। देश के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, बिहार के मुख्यमंत्री समेत कई दिग्गजों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर आज शाम की फ्लाइट से पटना पहुंचेगा और रघुवंश बाबू के पैतृक गांव में उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। जानकारी हो कि रघुवंश बाबू का पैतृक गांव वैशाली महनार का पानापुर गांव है जहां कल उनका अंतिम संस्कार किया जाना है। रघुवंश बाबू वैशाली के लगातार पांच बार सांसद रह चुके हैं । उन्होंने कुछ दिन पूर्व राजद छोड़ने पर सीएम नीतीश को लिखी चिट्ठी लिख कर उन्होंने वैशाली का विकास करवाने की अपील भी की थी।

कोई टिप्पणी नहीं: