बिहार : सुशांत सिंह राजपूत के न्याय की आवाज़ पटना में भी बुलंद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 16 अक्तूबर 2020

बिहार : सुशांत सिंह राजपूत के न्याय की आवाज़ पटना में भी बुलंद

voice-for-sushant-in-bihar
पटना. सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त गणेश हिवारकर न्याय की आवाज मुम्बई में बुलंद करने के बाद दिल्ली पहुंचे जंतर-मंतर.बुधवार को राजधानी पटना में आ गये.हजारों की संख्या में बिहार के लाल और दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के न्याय की आवाज़ बुलंद करने वाले मिले. सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त गणेश हिवारकर पटना आए और पटना में सुशांत के दोस्तों और समर्थकों के साथ मिलकर शान्तिपूर्वक प्रदर्शन किया और सुशांत के लिए न्याय की माँग की. सुशांत के लिए न्याय की लड़ाई में पटनावासियों ने गणेश का पूरा समर्थन किया और "No Justice , No Vote" का नारा लगाया. एयरपोर्ट रोड पर स्थित हज भवन के पीछे पहले बच्चों में T-Shirt , mask और  खाने के सामान का वितरण किया गया. फिर बोरिंग रोड चौराहा पर प्रदर्शन किया गया. "जब तक सूरज चाँद रहेगा , सुशांत तेरा नाम रहेगा" , "सुशांत को न्याय दो", "दोषियों को फाँसी दो", "सुशांत हम शर्मिंदा हैं, तेरे क़ातिल ज़िंदा हैं", "आवाज़ दो हम एक हैं", "No Justice, No Vote", "We want Justice", "Justice For Sushant" के नारों से आज पटना गूँज उठा. शाम को 4:00 बजे से गांधी मैदान, गांधी मूर्ति के पास प्रदर्शन किया गया और वहाँ से पदयात्रा कर कारगिल चौक पर मोमबत्ती जला कर सुशांत के आत्मा की शांति के लिए मौन रहकर प्रार्थना की गयी. ग़ौरतलब है कि 14 जून से 14 अक्टूबर तक सीबीआई के द्वारा मौत पर से पर्दा नहीं हटाया जा सका है. सुशांत की मौत को चार महीने पूरे हो चुके हैं पर सुशांत को अभी तक न्याय नहीं मिला है. दिल्ली एम्स की फ़ोरेंसिक रिपोर्ट में गड़बड़ी और सीबीआई की तरफ़ से कोई भी औपचारिक संवाद नहीं आने की वजह से सुशांत के दोस्त, समर्थक और न्याय की माँग करने वाला हर इंसान बस यही सवाल पूछ रहा है कि आख़िर सुशांत को न्याय कब मिलेगा? सुशांत के दोस्त गणेश हिवारकर आज 15  अक्टूबर को वाराणसी में सुशांत के न्याय के लिए गंगा पूजन और शांतिपूर्वक प्रदर्शन करेंगे. और 17 अक्टूबर को कोलकाता में प्रदर्शन कर सुशांत के लिए न्याय की आवाज़ को बुलंद करेंगे. सुशांत को न्याय दिलवाने के लिये पदयात्रा व कैंडल लाइट,कारगिल चौक पर पुलिस की तैनाती होने के बाद कैंडल लाइट पर बाधा पहुंचा.

कोई टिप्पणी नहीं: