मधुबनी : समीर महासेठ के जनसंपर्क अभियान को मिल रहा असीम आशीर्वाद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 19 अक्तूबर 2020

मधुबनी : समीर महासेठ के जनसंपर्क अभियान को मिल रहा असीम आशीर्वाद

samir-mahaseth-door-to-door-caimpaign
मधुबनी : बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर गहमागहमी तेज हो गई 36-मधुबनी विधानसभा के सिटिंग राजद विधायक समीर कुमार महासेठ द्वारा लगातर अपने विधानसभा क्षेत्र में जनसंपर्क चलाया जा रहा है। चूँकि मधुबनी विधानसभा नगर के 30वार्डों सहित 36पंचायत से लैस बड़ा क्षेत्र है, इसे लेकर राजद प्रत्याशी समीर कुमार महासेठ ने समय की महता समझते हुये जनसंपर्क अभियान तेज कर दिया है। वे रहिका प्रखंड के कई गांवो में घर-घर जाकर जनसंपर्क किया, एवं जनता का दुख-दर्द बांटा। इस दौरान राजद प्रत्याशी समीर कुमार महासेठ ने कई चौक-चौराहों पर चौपाल लगाकर जनता को संबोधित भी किया।जनता ने भी उन्हें जगह-जगह सम्मानित कर असीम आशीर्वाद दिया और एक सुर में कहा कि आप ही हमारे विधायक बनेंगें।कई जगह किये गये चुनावी चौपाल में जनता को संबोधित किया। राजद प्रत्याशी समीर कुमार महासेठ अपने कामो के आधार पर जनता से वोट देने की अपील कर रहे है, साथ ही अपने किये हुये कामों का जनता को रिपोर्ट कार्ड एक विवरणी भी दे रही है। वे कह रह है मेरे द्वारा 05वर्षो में किये गये कामों की तुलना 15वर्षो से राज किये गये पूर्व भाजपा विधायक से करें, और विश्लेषण करें। आपको स्वतः पता चलेगा की मैने 06गुणा अधिक काम किया है, फिर भीं मैं कहता हूँ की मैने सिर्फ पचास प्रतिशत ही काम किया है, बाकी बचे हुये कामो को पूर्ण करने,सत्ता परिवर्तन एवं तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिये हमें भारी मतों से वोट कर हमें जीत का आशीर्वाद दे। इस दौरान समीर महासेठ ने नीतीश एवं मोदी सरकार पर जमकर हमला बोलते हुये वर्तमान सरकार की पोल खोली। गौरतलब है की राजद प्रत्याशी समीर कुमार महासेठ के पिताजी स्वर्गीय राजकुमार महासेठ जनता के काफी लोकप्रिय नेता थे। उनकी राजनीतिक पकड़ काफी मजबूत थे। वे कई बार अपने क्षेत्र का प्रतिधिनित्व कर चुके है। बिहार के पशुपालन मंत्री का भीं वे पद संभाल चुके है। उनकी दूरदृष्टि एवं सूझबूझ के सभी कायल थे। वे जमीनी नेता थे, और जनताओं के बीच आसानी से उपलब्ध रहते थे।

कोई टिप्पणी नहीं: