खाद्यान्नों की पैकेजिंग अब शत प्रतिशत जूट की बोरी में - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 30 अक्तूबर 2020

खाद्यान्नों की पैकेजिंग अब शत प्रतिशत जूट की बोरी में

food-in-jute-packet
नयी दिल्ली 29 अक्टूबर, सरकार ने जूट की खेती को बढावा देने के लिए खाद्यान्नों के पैकेजिंग में शत प्रतिशत जूट की बोरी तथा कम से कम 20 प्रतिशत चीनी के लिए जूट बोरी का उपयोग करने का निर्णय लिया है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की गुरुवार को यहां हुयी बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी । सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बैठक की जानकारी देते हुये बताया कि सरकार के इस निर्णय से जूट की खेती को बढावा मिलने के साथ ही मजदूरों को रोजगार मिलेगा ।पश्चिम बंगाल , ओडिशा , असम , मेघालय , त्रिपुरा आदि राज्यों में बड़े पैमाने पर किसान जूट की खेती करते हैं । जूट उद्योग में चार लाख से अधिक मजदूरों को रोजगार मिलता है । श्री जावड़ेकर ने कहा कि जूट की उत्पादकता और गुणवत्ता में वृद्धि के लिए एक कार्यक्रम चलाया जा रहा है और इसके तहत किसानों के प्रमाणिक बीज उपलब्ध कराये जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि इससे किसानों की आय प्रति हेक्टेयर दस हजार रुपये बढेगी । बंगलादेश से आने वाले जूट पर शुल्क बढाया गया है ।  

कोई टिप्पणी नहीं: