बिहार : हस्ताक्षर छूट जाने से नामांकन रद्द - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

बिहार : हस्ताक्षर छूट जाने से नामांकन रद्द

तू न मिलेगी तो योगी बन जाएंगे। इसी तर्ज पर सुगौली विधानसभा के नामांकन रद्द होने वाले सुजीत रमन ने अख्तियार कर लिया है।वह किसी भी राजनैतिक दल को सपोर्ट नहीं करेंगे।खुद और उनके समर्थक नोटा पर वोट करेंगे। जो ऐसा करेंगे रामगढ़वा प्रखंड के सभी पंचायतों के पदों खड़ा करवाकर विजयी बनावेंगे।इसके बाद 2025 में विधानसभा में किस्मत अजमाएंगे...

nomination-rejected-missing-signature-missing
सुगौली। पूर्वी चम्पारण जिले में पड़ता है  सुगौली विधानसभा। सुगौली विधानसभा में एसडीएम के कुलीला से चुनाव के पूर्व ही एक प्रत्याशी पराजित हो गया।इस तरह का कारनामा लोकतंत्र के साथ बड़ा भद्दा मजाक है।एक साजिश के तहत द प्लुरल्स पार्टी के सुजीत रमन के नामांकन पत्र ही रद्द करा दिया गया। सुगौली विधानसभा में 16 प्रत्याशियों ने नामांकन किया था। मोतिहारी विस के निर्वाची पदाधिकारी राकेश रमण व सुगौली विस के निर्वाची पदाधिकारी प्रियरंजन राजू ने प्रत्याशियों के समक्ष नामांकन पत्रों की समीक्षा की। मोतिहारी में संवीक्षा के दौरान सभी नामांकन पत्रों को स्वीकृत कर लिया गया। जबकि मोतिहारी में सुजीत रमण का नामांकन पत्र रद्द कर दिया गया।उन्होंने आवेदन पर दस्तखत नहीं किया था। इस संवाददाता को सुजीत रमन ने बताया कि  द प्लुरल्स पार्टी के प्रत्याशी के रूप में सुगौली विधानसभा क्षेत्र  के बूथ नम्बर 11 से नामांकन किये थे। उन्होंने कहा कि मेरे साथ बहुत बड़ा षड्यंत्र किया गया है। इसमें साजिस में एसडीएम भी शामिल हैं।एसडीएम साहब ने दो करोड़पति प्रत्याशी पूर्व मंत्री के इशारे में नाइंसाफी कर दिये.कम्प्यूटर प्रिंट में स्वीकृत में 16 है और किस महाशक्ति के बल पर  एसडीएम साहब को मैनुअली 15 लिखने को मजबूर होना पड़ा। यह तो निसंकोच लोकतंत्र का गला घोंट दिया गया।सुजीत रमन ने कहा कि मैं चुपचाप बैठने वालों में से नहीं हूं। सुगौली विधानसभा क्षेत्र के 11 बूथ संख्या में गरीबों के हित में काम करने वाले सुजीत रमन ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज  उठाकर उनको सज़ा दिलवाने का कार्य बदस्तूर जारी रहेगा। मेरे साथ लोकतंत्र में भद्दा मजाक किया गया।एक प्रत्याशी के साथ जिसके पास गाड़ी और पैसे नहीं थे उस को हराने के लिए साजिश के तहत यह सब किया गया। इस बीच नामांकन रद्द होने के बाद सुजीत रमन का कहना है कि सुगौली विधानसभा क्षेत्र के जितने भी हमारे  टीम से जुड़े युवा भाई हैं अभी किसी भी भ्रम में ना रहेंगे हम अपने पूरे जोश और जुनून  के साथ अपने उद्देश्य में लगे हैं और लगे रहेंगे दुनिया  की कोई ताकत हमारे टीम या हमें नहीं खरीद सकती है ना बंदूक की गोली के दम पर झुका सकती है।  मैं सुजीत रमन पूर्व प्रत्याशी सुगौली विधानसभा क्षेत्र 11 किसी कारणवश मेरा नामांकन रद्द किया गया। पूरी टीम हताश हो गई थी। पिछले 2 दिनों से हमने विकल्प का तलाश किया हमारा एजेंडा क्लियर था कि हम कभी भी किसी पार्टी को सपोर्ट नहीं करेंगे। लेकिन कहीं ना कहीं हमारी विचारधारा उनसे नहीं मिली जिसके लिए आज हम पूरे होशो हवास में अपने टीम के साथ ऐलान करते हैं। हमारा चुनाव चिन्ह नोटा रहेगा। हम भ्रष्टाचार के खिलाफ नोटा को सपोर्ट करेंगे , जो भी नोटा को वोट देंगे हमारी पहली प्राथमिकता उनके लिए ही रहेगा ।आगे हम सभी मिशन 2021 ग्राम पंचायत चुनाव में सुगौली और रामगढ़वा प्रखंड के सभी पंचायत में वार्ड सदस्य लेकर समिति सरपंच मुखिया एवं जिला परिषद उम्मीदवार मैदान में उतारेंगे और जिताएंगे । उसके बाद अगले 5 साल तक सुगौली विधानसभा क्षेत्र के हर एक युवा किसान मजदूर असहाय लोगों के लिए 24 घंटा सुख दुख में मौजूद रहेगी। यह हमारा वादा है और 2025 विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाएंगे। सुजीत रमन मैदान में उनके अन्य साथी गण राकेश राज जी, जयनारायण शर्मा ,नितिन मिश्रा, संजय मिश्रा जी ,ओम प्रकाश जी,अमित प्रकाश,मुकेश राज ,बिरजू कुमार लालबबू महतो,सोनू यादव,प्रिंस शर्मा भूमिहार,दया देवी, ल्लक्ष्मिना देवी,राजू कुमार, रिजवान, उमेश सोनी चुन्नू मुराद आलम, आदि मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: