मधुबनी : युवा साहित्यकार पंचम के पुस्तक का हुआ विमोचन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

मधुबनी : युवा साहित्यकार पंचम के पुस्तक का हुआ विमोचन

pancham-book-release-in-madhubani
मधुबनी : दिनांक 22 अक्टूबर 2020 दिन वृहस्पतिवार को स्थानीय अतिथि रेस्टॉरेंट के हॉल में मधुबनी के युवा साहित्यकार एवं मधुबनी इप्टा के सक्रिय युवा सदस्य पंचम प्रकाश के पुस्तक का विमोचन हुआ। विमोचन कार्यक्रम में मुख्य विमोचनकर्ता सह मुख्य अतिथि के रूप में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित वरिष्ठ मैथिली साहित्यकार श्री उदय चन्द्र झा विनोद थे। पुस्तक का विमोचक श्री अरविंद प्रसाद, प्रसिद्व शिक्षाविद डॉ० एस० एन० लाल, डॉ० आर०एस०पाण्डेय,  और उदय जायसवाल जी ने मुख्य विमोचनकर्ता सह मुख्य अतिथि के साथ संयुक्त रूप से किया। उदय चंद्र झा विनोद ने पुस्तक का विमोचन करते हुए कहा कि पंचम प्रकाश द्वारा यह पुस्तक 'उसने कहा आई हेट राइटर' भविष्य के युवा साहित्यकारों के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इस छोटी सी रचना में पंचम ने एक क्राइम स्टोरी एवं कटाक्ष को बहुत ही सरल तरीके से व्यक्त किया है। कार्यक्रम में रिजिनल स्कूल के निदेशक श्री रामश्रृंगार पांडे ने कहा कि बहुत ही खुशी की बात है कि हमारे विद्यालय का एक छात्र आज इस मुकाम तक पहुँचा है। मधुबनी के शिक्षाविद श्री एस एन लाल ने पुस्तक का विमोचन करते हुए कहा कि हमारे क्षेत्र में ऐसे साहित्य के क्षेत्र में बढ़ावा के लिए यह पुस्तक प्रेरणास्रोत है। काफी हर्ष की बात है कि हमारे बीच के युवा साहित्य के क्षेत्र में अग्रसर हैं। इसी क्रम में वरिष्ठ कवि श्री उदय जायसवाल ने कहा कि अभी के समय मे पंचम की यह कदम नए सीखने वालो के लिए प्रेरणादयी है। अभी के विपरीत स्थिति में यह पुस्तक एक सकारात्मक संदेश देगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मधुबनी इप्टा के अध्यक्ष एवं प्रलेस मधुबनी के सचिव श्री अरविंद प्रसाद ने कहा कि साहित्य की कोई सीमा नहीं होती है, पूरा संसार ही साहित्य है। अपने अध्यक्षीय शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने कहा हमारे युवा साथियों को साहित्य के विभन्न क्षेत्र में निरंतर अग्रसर रहना चाहिए। इनके अतिरिक्त कई वक्ताओं ने कार्यक्रम को सम्बोधित किया। आपको जानकारी के लिए बात दें कि पंचम प्रकाश द्वारा कई नाटक और लेख पूर्व में लिखे जा चुके हैं, जिसमे से नाटक 'मांझी रे' का पूर्व में मंचन भी हो चुका है। कार्यक्रम का संचालन मधुबनी इप्टा के सक्रिय युवा सदस्य अभिषेक आकाश ने किया। कार्यक्रम में स्वागत श्री गजेन्द्र प्रसाद ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन पंचम प्रकाश ने किया। कार्यक्रम में बिहार इप्टा के राज्य सचिव इंद्र भूषण रमण बमबम, सुरेश बैरोलिया, अजयधारी सिंह, शैलेन्द्र प्रसाद, प्रदीप कुमार, स्मृति सिन्हा, पीयूष कुमार, विजय रमन, रमेश, अर्जुन, रंजीत, प्रभात, रोचक, सपना, सरिता, स्वेता समेत शहर के कई लोग उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: