लगातार दूसरे दिन घरेलू शेयर बाजार पर रहा बिकवाली का दबाव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 29 अक्तूबर 2020

लगातार दूसरे दिन घरेलू शेयर बाजार पर रहा बिकवाली का दबाव

sensex-under-pressure
मुम्बई 29 अक्टूबर, अधिकतर एशियाई बाजारों से मिले कमजोर संकेतों के बीच दिग्गज कंपनियों के तिमाही परिणाम से हतोत्साहित निवेशकों ने गुरुवार को लगातार दूसरे दिन बिकवाली जारी रखी जिससे घरेलू शेयर बाजार आज भी लाल निशान में बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 172.61 अंक लुढ़ककर 39,749.85 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 58.80 अंक फिसलकर 11,670.80 अंक पर बंद हुआ। बाजार विश्लेषकों ने बताया कि लार्सन एंड टुर्बो (एलएंडटी) ने बुधवार को अपने तिमाही परिणाम जारी किये, जिसके मुताबिक चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में उसका एकल शुद्ध लाभ 45 फीसदी घट गया। एलएंडटी आज सेंसेक्स और निफ्टी की सबसे अधिक नुकसान उठाने वाली कंपनी रही। वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी के आज जारी तिमाही परिणाम के मुताबिक उसका एकल शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में गत वित्त वर्ष की तुलना में एक प्रतिशत बढ़कर 1,358.6 करोड़ रुपये से 1,371.6 करोड़ रुपये हो गया। इस बढ़ाेतरी के बावजूद कंपनी का परिणाम अनुमान के मुकाबले कम रहा जिससे इसके शेयरों के दाम में भी गिरावट दर्ज की गयी। विश्लेषकों का कहना है कि कंपनियों के तिमाही परिणाम के अतिरिक्त बाजार पर वैश्विक परिदृश्य का भी असर रहा। अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव और कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर फ्रांस और जर्मनी में दोबारा लगाये गये लॉकडाउन से निवेशकों का रूझान जोखिम भरे निवेश में कम रहा। 

कोई टिप्पणी नहीं: