इस जीत से टीम का मनोबल और बढ़ा : रोहित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 17 अक्तूबर 2020

इस जीत से टीम का मनोबल और बढ़ा : रोहित

win-increase-confidance-rohit-sharma
अबु धाबी, 17 अक्टूबर, कोलकाता नाइट राइडर्स को पराजित करने के बाद मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा है कि लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल करना विशेष है और इस जीत से टीम का मनोबल और बढ़ा है। मुंबई ने कोलकाता के 149 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए क्विंटन डी कॉक के नाबाद 78 रन की अर्धशतकीय पारी के दम पर आठ विकेट से जीत हासिल की। मुंबई की टूर्नामेंट में यह लगातार पांचवीं जीत है। रोहित ने कहा, “लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल करना विशेष है और इससे टीम का मनोबल पहले से बढ़ा है। टूर्नामेंट के पहले हॉफ में हमने ज्यादा लक्ष्य का पीछा नहीं किया लेकिन मेरे ख्याल से हम बल्ले और गेंद दोनों से अच्छा कर रहे हैं तथा कोलकाता के खिलाफ टीम ने उम्मीद के अनुरुप ही प्रदर्शन किया।” उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि हमने शुरुआत से ही मैच में पकड़ बना ली थी। मेरा मानना है कि मैच में कई बार उतार-चढ़ाव आते हैं लेकिन हमें टीम के रुप में सफलता हासिल हुई है। मैच की परिस्थिति को समझना जरुरी है और यह स्वाभाविक भी है।” कप्तान ने कहा, “क्रुणाल पांड्या और राहुल चाहर ने भी आंद्रे रसेल को गेंदबाजी की लेकिन मुझे पता था कि जसप्रीत बुमराह उनके खिलाफ बेहतर साबित होंगे। डी कॉक के साथ मैं बल्लेबाजी करना पसंद करता हूं और वह काफी सरल हैं तथा पहली गेंद से ही गेंदबाज पर दबाव बनाते हैं लेकिन साथ ही परिस्थिति को भी देखते हैं। मैं उन्हें उनके हिसाब से खेलने देना चाहता हूं और डी कॉक पर दबाव नहीं बनाना चाहता।” रोहित ने कहा, “यह टूर्नामेंट काफी मजेदार है और हम ऐसे समय कोई गलती नहीं कर सकते। हमने कई बार देखा है कि टीम अच्छा करते हुए हार जाती है। खिलाड़ियों में खेलने की भूख है, इन्होंने पिछले छह महीनों से नहीं खेला है। ईशान किशन हों या हार्दिक पांड्या, ये खिलाड़ी खेलना और जीत हासिल करना चाहते हैं।”  

कोई टिप्पणी नहीं: