अमित शाह का बंगाल दौरा बृहस्पतिवार से - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 नवंबर 2020

अमित शाह का बंगाल दौरा बृहस्पतिवार से

amit-shah-bangal-trip-from-tomorow
नयी दिल्ली, नवंबर, केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी की तैयारियों को बल देने के लिए बृहस्पतिवार से राज्य का दो दिवसीय दौरा करेंगे और इस दौरान सांगठनिक स्थिति का जायजा भी लेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने बुधवार को बताया कि अपनी यात्रा के दौरान शाह जनजातीय और शरणार्थी परिवारों के साथ दोपहर का भेजन करेंगे। शाह के दौरे की विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि वह अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान बांकुड़ा और कोलकाता में बूथ स्तरीय भाजपा कार्यकर्ताओं से लेकर प्रभावी और सामाजिक नेताओं के साथ बैठकें करेंगे। पांच नवम्बर को अपनी यात्रा के पहले दिन शाह बांकुड़ा में पार्टी कार्यकर्ताओं और समाज के विभिन्न नेताओं के साथ बैठक करेंगे। पश्चिम बंगाल के दक्षिणी हिस्से की 70 विधानसभा सीटों के कार्यकर्ता इस बैठक में शिरकत करेंगे। शाह बांकुड़ा जिले के चतुर्धी गांव के एक दलित परिवार के यहां दोपहर का भोजन करेगे। कोविड-19 महामारी के बाद से शाह की राज्य की यह पहली यात्रा होगी। उन्होंने एक मार्च को राज्य का दौरा किया था। पिछले साल हुए आम चुनाव में पश्चिम बंगाल की 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटों पर जीत दर्ज कर भाजपा राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की मुख्य प्रतिद्वंद्वी के तौर पर उभरी है। भाजपा नेताओं ने विश्वास जताया है कि वे अगले साल अप्रैल-मई में प्रस्तावित विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के 10 साल के शासन को समाप्त कर देंगे। अगले दिन वह कोलकाता में राज्य के नेताओं के साथ एक बैठक करेंगे। इस बैठक में 80 से अधिक विधानसभा क्षेत्रों के नेता और पार्टी पदाधिकारी शिरकत करेंगे। शाह का यह दौरा प्रदेश भाजपा में बड़े संगठनात्मक बदलाव के बाद हो रहा है। इसके महासचिव (संगठन) सुब्रत चट्टोपाध्याय को हटा दिया गया था और उनके कनिष्ठ अमिताभ चक्रवर्ती को केंद्रीय नेतृत्व द्वारा उस पद पर नियुक्त किया गया था। बंगाल में विधानसभा चुनाव 2021 अप्रैल-मई में होने की संभावना है। यह भाजपा के लिए महत्त्वपूर्ण होगा क्योंकि वह राज्य की राजनीति में अपनी बढ़ती प्रमुखता को भुनाने की कोशिश करेगी, जबकि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तीसरी बार सत्ता में वापसी की कोशिश करेंगी।

कोई टिप्पणी नहीं: