साबले ने राष्ट्रीय हाफ मैराथन रिकार्ड तोड़ा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 29 नवंबर 2020

साबले ने राष्ट्रीय हाफ मैराथन रिकार्ड तोड़ा

  • 61 मिनट से कम समय निकालने वाले पहले भारतीय

avinash-sable-breack-national-record
नयी दिल्ली, 29 नवंबर, तोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके अविनाश साबले ने रविवार को यहां एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन में भारतीय शीर्ष धावकों में एक मिनट 30 सेकेंड के समय से राष्ट्रीय रिकार्ड तोड़ा। वह सभी भारतीयों में काफी आगे रहे और ओवरआल 10वें स्थान पर रहे। पिछले साल विश्व एथलेटिक्स चेम्पियनशिप के दौरान 3000 स्टीपलचेज में तोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके 26 वर्षीय साबले इस तरह पहले भारतीय बन गये जिसने हाफ मैराथन 61 मिनट से कम समय में पूरी की हो। साबले का प्रदर्शन इतना शानदार था कि वह अपने भारतीय प्रतिद्वंद्वियों से काफी आगे रहे। श्रीनू बुगाथा दूसरे स्थान पर रहे जिन्होंने 1:04:16 का समय निकाला जबकि दुर्गा बहादुर बुद्धा 1:04:19 के समय से तीसरे स्थान पर रहे। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) के अधिकारिक रिकार्ड के अनुसार पूर्व राष्ट्रीय हाफ मैराथन रिकार्ड 1:03:46 के समय से महाराष्ट्रीय के कालीदास हिरावे के नाम पर था। खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने रेस आरंभ की थी, उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मैं यह देखकर बहुत खुश हूं कि एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन को उचित स्वास्थ्य सुरक्षा उपायों के साथ आयोजित किया गया। शीर्ष अंतरराष्ट्रीय मैराथन धावकों के अलावा भारत के अविनाश साबले ने नया राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया। सभी विजेताओं और प्रतिभागियों को बधाई। ’’ साबले ने एयरटेल दिल्ली हाफ मैराथन में भारतीयों के कोर्स रिकार्ड को भी बेहतर किया जो बुगाथा के नाम था जिन्होंने एक घंटे चार मिनट 33 सेकेंड का समय लिया था, उन्होंने पिछले साल भारतीयों में रेस जीती थी। साबले 2018 में अभिषेक पाल के पीछे दूसरे स्थान पर रहे थे। महाराष्ट्र में मांडवा गांव के किसान के बेटे साबले ने पिछले साल दोहा में विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप पुरूषों की 3000 मीटर स्टीपलचेज फाइनल में आठ मिनट 21.37 सेकेंड के समय से ओलंपिक क्वालीफाइंग मानक समय (8:22.00 सेकेंड) निकाला था और 13वें स्थान पर रहे थे। भारतीय सेना में इस समय हवलदार के पद पर काबिज साबले ने पिछले साल एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 3000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में रजत पदक जीता था।

कोई टिप्पणी नहीं: