महबूबा के जम्मू आगमन पर विरोध,दिखाया काला झंडा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 6 नवंबर 2020

महबूबा के जम्मू आगमन पर विरोध,दिखाया काला झंडा

black-flag-to-mahbooba-mufti
जम्मू, 05 नवंबर, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती के सात नवंबर काे गुप्कर घोषणा के लिए जन सम्मेलन (पीसीजीडी) में भाग लेने के लिए गुरुवार को यहां पहुंचने पर शिव सेना और बजरंग दलों के समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया और काले झंडे भी दिखाये। सुश्री मुफ्ती पीसीजीडी की बैठक में भाग लेने के लिए यहां आई हैं। इस सम्मेलन की अध्यक्षता फारूक अब्दुल्ला करेंगे जो शनिवार सुबह यहां पहुंचेंगे। इस बीच श्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिव सेना की जम्मू-कश्मीर इकाई के कार्यकर्ताओं ने सुश्री मुफ्ती के आगमन पर हवाई अड्डे पर विरोध प्रदर्शन किया। शिव सेना कार्यकर्ता ‘महबूबा वापस जाओ’ के नारे लगा रहे थे। प्रदर्शनकारियों ने सुश्री मुफ्ती को काला झंडा भी दिखाया। उधर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने भी सुश्री मुफ्ती के आगमन का विरोध किया तथा उनके खिलाफ नारेबाजी भी की। गुप्कर घोषणा के लिए पीपुल्स एलायंस को अनुच्छेद 370 और 35 ए की बहाली के लिए आक्रामक तरीके से लड़ने के लिए तैयार किया गया है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पांच अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 और 35 ए के अधिकांश प्रावधानों को समाप्त कर दिया जिससे राज्य को हासिल विशेष दर्जा भी समाप्त हो गया। इतना ही नहीं केंद्र ने राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में भी विभाजित कर दिया। विभिन्न राजनीतिक दलों , सामाजिक एवं गैर सरकारी संगठनों ने पीपुल्स एलायंस का कड़ा विरोध किया है तथा इसकी बैठक को भी खारिज कर दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं: