ब्रिक्स ने नयी आतंकवाद रोधी रणनीति अपनाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 18 नवंबर 2020

ब्रिक्स ने नयी आतंकवाद रोधी रणनीति अपनाई

bricks-policy-against-terorisam
नयी दिल्ली, 17 नवंबर, पांच देशों के समूह ब्रिक्स ने आतंकवादी नेटवर्कों के वित्तीय चैनलों को बंद करने समेत अनेक कदमों के माध्यम से इस खतरे से प्रभावी तरीके से निपटने के लिहाज से सदस्य देशों के बीच द्विपक्षीय तथा बहुपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की आतंकवाद रोधी रणनीति मंगलवार को जारी की। ब्रिक्स के वार्षिक सम्मेलन में नयी रणनीति को अपनाया गया। सम्मेलन डिजिटल तरीके से आयोजित किया गया। सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, ब्राजील के राष्ट्रपति जेअर बोलसोनारो और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने भाग लिया। ‘आतंकवाद निरोधक रणनीति’ नामक दस्तावेज में ब्रिक्स (ब्राजील-रूस-भारत-चीन-दक्षिण अफ्रीका) ने कहा कि वह आतंकवादी गतिविधियों को आयोजित करने, उकसाने, सहायता प्रदान करने, आर्थिक मदद देने और बढ़ावा देने में शामिल पाये गये लोगों के खिलाफ समन्वित कदम उठाने पर विचार करेगा। इसमें सभी देशों से आतंकवाद के केंद्रों या आतंकवादी गतिविधियों के प्रसार के लिए उनके क्षेत्रों के इस्तेमाल को रोकने के लिए उचित कदम उठाने का भी आह्वान किया गया है। ब्रिक्स ने कहा कि रणनीति का उद्देश्य सदस्य देशों के सुरक्षा और कानून प्रवर्तन प्राधिकारों के बीच व्यावहारिक सहयोग मजबूत करना है ताकि समय पर और सटीक जानकारी साझा करने के साथ ही आतंकवाद से लड़ा जा सके और उसे रोका जा सके। ब्रिक्स ने यह भी कहा कि ‘आतंकवाद के और भौगोलिक विस्तार’ को रोकने के लिए प्रयास किये जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: