रविशंकर प्रसाद ने उमंग एप का अंतरराष्ट्रीय संस्करण किया लॉन्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 27 नवंबर 2020

रविशंकर प्रसाद ने उमंग एप का अंतरराष्ट्रीय संस्करण किया लॉन्च

ravi-shankar-prasad

केंद्र सरकार ने 23 नवंबर 2020 को उमंग ऐप (Umang App) का अंतरराष्ट्रीय संस्करण पेश करने की घोषणा की है।यह संस्करण विदेश जाने वाले भारतीय पर्यटकों, प्रवासी भारतीयों और भारतीय अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए उपयोगी होगा। इस ऐप की तीसरी वर्षगांठ के मौके पर सूचना प्रौद्योगिकी और संचार मंत्री रविशंकर ने एक वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित किया. इसी दौरान इसके अंतरराष्ट्रीय संस्करण को पेश करने की घोषणा भी की गई।


केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने क्या कहा 

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उमंग ऐप ने वहां तक पहुंच बनायी है जो यह अहम है कि इसे आवाज के निर्देश पर काम करने वाली ऐप बनाने पर ध्यान दिया जाए और इसके लिए एआई की संभावनाओं को तलाशा जाए।उन्होंने यह भी कहा कि इसको करने में ध्यान रखा जाए कि यह उन लोगों की भाषा समझने में सक्षम हो जो डिजिटल दुनिया की भाषा के साथ सहज नहीं है।


उमंग एप का अंतरराष्ट्रीय संस्करण  

अब उमंग ऐप का अंतरराष्ट्रीय संस्करण अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, संयुक्त अरब अमीरात, नीदरलैंड, सिंगापुर और न्यूजीलैंड में उपलब्ध होगा।


इसका फायदा

इस ऐप की मदद से प्रवासी भारतीय, भारतीय छात्र एवं पर्यटक किसी भी समय पर भारत सरकार और राज्य सरकार की सेवाओं का उपयोग कर पाएंगे। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि देश में 3.75 लाख साझा सेवा केंद्रों (सीएससी) के माध्यम से उमंग ऐप पर सेवाएं नागरिकों को उपलब्ध हैं।


एआई प्रौद्योगिकी के उपयोग की संभावना 

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के माध्यम से इसे ऐसे लोगों तक पहुंचाया जा सकता है जो डिजिटल दुनिया की भाषा को आसानी से नहीं समझते हैं।उन्होंने कहा कि उमंग ऐप को आवाज के निर्देश पर काम करने वाली ऐप के तौर पर विकसित करने के लिए एआई प्रौद्योगिकी के उपयोग की संभावना पर ध्यान देना चाहिए।


उमंग ऐप क्या है?

प्रधानमंत्री मोदी ने नागरिकों तक एक ही मोबाइल एप के माध्यम से प्रमुख सरकारी सेवाओं को पहुँचाने के लिये साल 2017 में उमंग ऐप लॉन्च किया था।उमंग का पूर्ण रूप ‘नए युग के शासन के लिये एकीकृत मोबाइल एप्लिकेशन’ (Unified Mobile Application for New-age Governance) है। यह भारत सरकार का ऑल-इन-वन सिंगल, एकीकृत, सुरक्षित, मल्टी-चैनल, मल्टी-प्लेटफॉर्म, बहुभाषी, मल्टी सर्विस मोबाइल ऐप है जो केंद्र एवं राज्य सरकार के विभिन्न संगठनों की महत्त्वपूर्ण सेवाओं की सुविधा प्रदान करता है।

कोई टिप्पणी नहीं: