विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 18 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 18 नवंबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 18 नवम्बर

एसडीएम द्वारा नहरों का जायजा


vidisha news
संजय सागर बांध की नहरों का  आज नटेरन शमशाबाद एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ भ्रमण कर वस्तु स्थिति का जायजा लिया है। एसडीएम श्री प्रजापति ने बताया कि ग्राम मक्षेरा से रिनिया तक की नहर का निरीक्षण किया गया है। वहीं  d1 नहर की रफ्तार को कम  कर d2की ओर पानी की पूर्ति बढ़ाई गई है। श्री प्रजापति ने बताया कि किसानों को सिंचाई हेतु नहरों से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित कराई गई है। इस कार्य में कोई व्यवधान उत्पन्न ना हो इसके लिए जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री सहित अन्य को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि नहर क्षेत्रों का समय अंतराल में स्वयं एवं अधीनस्थ अमले को भ्रमण कराने के निर्देश देते रहें ताकि किसी प्रकार की समस्या नजर आती है तो उसका समाधान शीघ्र किया जा सके। निरीक्षण भ्रमण के दौरान संजय सागर बांध के कार्यपालन यंत्री श्री   मुकेश रैकवार तथा एसडीओ एवं अन्य स्टाफ भी साथ मौजूद रहा


समग्र आईडी प्रस्तुत कर राशन प्राप्त कर सकते हैं हितग्राही।


संयुक्त कलेक्टर एवं प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया कि जिले के हितग्राहियों को नवंबर माह का नियमित आवंटन एवं प्रधानमंत्री योजना अंतर्गत खाद्यान्न आवंटन जारी किया जा चुका है। जिले के ऐसे नवीन जोड़े गए परिवार हितग्राही जिन्हें पात्रता पर्ची जारी की गई है और प्राप्त नहीं होने की स्थिति में संबंधित उचित मूल्य दुकान में पहुंचकर समग्र आईडी प्रस्तुत करने के उपरांत पीएसओ मशीन के माध्यम से राशन प्राप्त कर सकते हैं।


जिला स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक आज


जिला स्तरीय सलाहकार समिति (डीएलआरएसी) की बैठक आज 19 नवम्बर गुरूवार को आयोजित की गई है। संस्थान के डायरेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि डीएलआरएसी की बैठक सायं साढे चार बजे से नवीन कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित की गई हैं। इस बैठक में पिछली बैठक के एजेण्डे की समीक्षा, आगामी तिमाही कार्ययोजना पर चर्चा, जिला पंचायत, एसआरएलएम से प्रशिक्षण व्यय दावा राशि पर चर्चा, स्टेट डायरेक्टर आरसेठी द्वारा बताए कार्यो पर चर्चा, एनयूएलएम से प्रशिक्षण व प्रशिक्षण व्यय प्रतिपूर्ति हेतु चर्चा, आगामी प्रशिक्षण कार्यक्रम व जागरूकता शिविरों के आयोजन पर चर्चा की जाएगी। 


पोषित परिवार-सुपोषित म.प्र. के अन्तर्गत अति गंभीर कुपोषित बच्चों के परिवारों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि


सुपोषित प्रदेश की संकल्पना को साकार करने के लिए कुपोषण जैसे गंभीर विषय पर समुदाय एवं परिवार की सहभागिता पर विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इसके तहत ‘‘पोषित परिवार-सुपोषित मध्यप्रदेश‘‘ कार्यक्रम के अन्तर्गत अति गंभीर कुपोषण की श्रेणी में आने वाले बच्चों के परिवार को बच्चे के पोषण स्तर में उनके सक्रिय प्रयास से आयें सुधार के लिए प्रोत्साहित एवं सम्मानित किया जायेगा। यह प्रोत्साहन राशि एक परिवार को 200 रुपये प्रति किश्त की दर से दो किश्तों में 400 रूपये दी जायेगी। इसके तहत दो प्रावधान सुनिश्चित किये गए है। पहले प्रावधान में ऐसे पंजीकृत अति गंभीर कुपोषित बच्चे जिनका पोषण स्तर में अति गंभीर कुपोषण की श्रेणी से मध्य गंभीर कुपोषण की श्रेणी में आ गया हो, ऐसे परिवार को प्रोत्साहन की प्रथम किश्त की राशि देय होगी।  दूसरे प्रावधान में ऐसे पंजीकृत अति गंभीर कुपोषित बच्चे जो ब्.ै।ड कार्यक्रम में मध्यम गंभीर कुपोषण की श्रेणी में आने के बाद सामान्य पोषण स्तर की श्रेणी में आ गए है, ऐसे परिवार को द्वितीय किश्त की राशि भी देय होगी। इसके अतिरिक्त बच्चे से संबंधित अन्य स्वास्थ्य सेवाओं जैसे बच्चे की उम्र अनुसार टीकाकरण सारणी का अनुपालन, 6 माह से 2 वर्ष की आयु हो उनके 6 माह के बाद बच्चे के ऊपरी आहार की शुरूआत एवं उसकी निरन्तरता का स्तर निर्धारित मानक अनुसार है या नहीं तथा परिवार द्वारा अपनाये जाने वाले स्वास्थ्य एवं पेषण व्यवहार अथवा शिक्षा के स्तर का भी आंकलन किया जायेगा। वर्तमान में सम्भाग के सभी जिलों में अति गंभीर कुपोषित बच्चों के समुदाय आधारित पोषण प्रबंधन कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत अति गंभीर कुपोषित बच्चों के चिन्हाकंन एवं पंजीयन के बाद 12 सप्ताह अथवा 3 माह तक सतत प्रयास कर उन्हें सामान्य पोषण स्तर पर लाया जाता है।  इस दौरान बच्चों के परिवार को परामर्श देकर उनके सहयोग से बच्चों के पोषण एवं स्वास्थ्य स्थिति में सुधार का प्रयास किया जाता है। ‘‘पोषित परिवार- सुपोषित मध्यप्रदेश‘‘ में इन परिवारों का सम्मान किया जायेगा जिनके प्रयासों से पंजीकृत अति गंभीर कुषोषित बच्चों के पोषण स्तर में बदलाव परिलक्षित हो रहा है।


’19 नवंबर तक अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन किए जा सकते है’


अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2021 के लिए इच्छुक अभ्यर्थी 20 अक्टूबर से आगामी 19 नवंबर के मध्य ंपेममण्दजंण्दपबण्पद पर केवल ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। परीक्षा शुल्क का भुगतान डेबिट क्रेडिट कार्ड या इंटरनेट बैंकिंग या पेटीएम वॉलेट का उपयोग करते हुए पेमेंट गेटवे के माध्यम से किया जाएगा। देश भर के 33 सैनिक स्कूलों में कक्षा 6वीं एवं कक्षा 9वीं में शैक्षणिक वर्ष 2021-22 में प्रवेश के लिए एआईएसएसईई 2021 का संचालन करेगा। सैनिक स्कूल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबद्ध का अंग्रेजी माध्यम आवासीय एवं सीबीएसई से संबद्ध और सैनिक स्कूल सोसायटी द्वारा संचालित विद्यालय हैं। यह विद्यालय राष्ट्रीय रक्षा अकेडमी, भारतीय नौसेना अकेडमी तथा अन्य प्रशिक्षण अकेडमी में प्रवेश के लिए कैडेटों को तैयार करते हैं। परीक्षा की तिथि आगामी 10 जनवरी 2021 रहेगी। परीक्षा का मोड पेन एवं पेपर ओएमआर आधारित रहेगा। पेपर पेटर्न बहुविकल्पीय प्रश्नों का होगा। कक्षा 6वीं में प्रवेश के लिए उम्मीदवार की आयु 31 मार्च 2021 को 10 वर्ष से 12 वर्ष के बीच होना चाहिए। सभी सैनिक स्कूलों में लड़कियों के लिए प्रवेश परीक्षा केवल कक्षा 6वीं में उपलब्ध है। कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए उम्मीदवार की आयु 31 मार्च 2021 तक 13 वर्ष से 15 वर्ष के बीच होनी चाहिए और प्रवेश के समय मान्यता प्राप्त स्कूल से कक्षा 8वीं में उत्तीर्ण होना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं: