सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 14 दिसंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 दिसंबर

प्रशासन द्वारा तोडफ़ोड़ पर यादव समाज ने लगाया भेदभाव का आरोप


sehore news
सीहोर। यादव समाज के वरिष्ठ नेता राहुल यादव के होटल यशिका पैलेश पर प्रशासन द्वारा तोडफ़ोड़ को लेकर यादव समाज ने भेदभाव का आरोप लगाते हुए समाज के वरिष्ठ ओकांर यादव और गब्बर यादव सहित अन्य समाजजनों ने एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा है। इस संबंध में तुलावट संघ के अध्यक्ष ताराचंद्र यादव ने कहा कि राहुल यादव के होटल को अतिक्रमण के नाम पर जमीदोज किया गया है, जबकि उनके पास वैध दस्तावेज है। यादव समाज का कहना है कि प्रशासन अतिक्रमण के नाम पर भेदभावपूर्ण कार्रवाई कर रहा है, जबकि अनेक निर्माण अवैध रूप से है, शासन किसी भी प्रकार से एक पक्षीय कार्रवाई न करते हुए जितने भी अवैध निर्माणधारी है उन पर कार्रवाई करे। ज्ञापन देने वालों में प्रवीण यादव, ओकांर यादव, कैलाश यादव, जगदीश यादव, निर्मल यादव, मनीष यादव, तरुण यादव, जीवन यादव, यक्ष यादव, नरेन्द यादव, विजय यादव, नीरज यादव, सन्नी यादव, रूपित यादव, सौरव याद, विनय यादव और अमरचन्द्र यादव आदि शामिल है।

आज किया जाएगा महापुराण कथा में शिव विवाह का प्रसंग शिव महापुराण में बताया सोमवती अमावस का महत्व

सीहोर। हर अमावस्या को दान और पुण्य करना चाहिए। ब्राह्मणों को दान करने से करने से उन्नति और प्रगति होती है। सोमवार को पडऩे वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहा जाता है। यह अमावस्या वर्ष में एक या दो बार ही आती है। पांडव पूरे जीवन तरसते रहे, परंतु उनके जीवन में सोमवती अमावस्या नहीं आई। ग्रंथों में कहा गया है कि सोमवार को अमावस्या बड़े भाग्य से ही आती है। इस अमावस्या का विशेष महत्व है। विवाहित स्त्रियों द्वारा पतियों की दीर्घायु कामना के लिए इस व्रत का विधान है। इस दिन मौन व्रत रहने से सहस्र गोदान का फल प्राप्त होता है। उक्त विचार जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितोडिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में जारी सात दिवसीय शिव महापुराण कथा के दूसरे दिन भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहे। सोमवार को सोमवती अमावस्या का महत्व बताया गया। इस मौके पर पंडित श्री मिश्रा ने नदियों में होने वाले प्रदूषण को रोकने के संबंध में श्रद्धालुओं को आह्वान किया नदी-जलाशय आदि को प्रदूषित होने से रोका जाए। सोमवार चंद्रमा का दिन है। इस अमावस्या को सूर्य तथा चंद्र एक सीध में रहते हैं। इसलिए यह पर्व विशेष पुण्य देने वाला है। सोमवार भगवान शिव का दिन है और सोमवती अमावस्या भगवान शिव को समर्पित है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने से पितरों की आत्मा को शांति प्राप्त होती है। अमावस्या के दिन वृक्ष से पत्ता तोडऩा भी वर्जित है। सोमवती अमावस्या पर पीपल के वृक्ष की पूजा का विधान है। इस दिन विवाहित स्त्रियां पीपल के वृक्ष की दूध, जल, पुष्प, अक्षत, चंदन से पूजा कर इसकी परिक्रमा करती हैं। इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती और तुलसी की पूजा करें। श्री मिश्रा ने कहा कि मान्यता है कि इस अमावस्या पर सूर्यदेव को अदर्ध देने से घर से दरिद्रता दूर हो जाती है। यह अमावस्या स्नान, दान के लिए श्रेष्ठ मानी जाती है। इस संबंध में जानकारी देते हुए विठलेश सेवा समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने मंगलवार को शिव महापुराण के तीसरे दिन भगवान शिव के विवाह का विस्तार से वर्णन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए सीधा प्रसारण आस्था चेनल  सहित अन्य फेबुक,यूट्यूब चैनल पर किया जा रहा है। जिससे श्रद्धालुओं को घर बैठे ही कथा का श्रवण करने का मौका मिल रहा है। 

सीईओ जिला पंचायत हर्ष सिंह ने किया बुदनी के ग्रामीण क्षेत्रों का औचक भ्रमण 

जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह ने सोमवार को बुदनी जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्रामों का अंौचक दौरा कर ग्रामीण विकास की योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिती को परखा । श्री सिंह सबसे पहले ग्राम खाण्डावड पहुंचे यहा पर  उन्होंने ग्राम  पंचायत  परिसर में ग्रामीण जनों से चर्चा कर उनकी परेशानियों को समझा तथा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री धर्मेद्र यादव को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने इसके पश्चात ग्राम में संचालित आंगनबाडी का निरीक्षण किया एवं  बच्चों को वितरित की जाने वाली खिचडी़ दलिया एवं दवाहयों के पेकिट का निरीक्षण किया  और संबधित अमले को सुरक्षा मानको का ध्यान रखने हेतु निर्देशित किया । दौरे के अंत में श्री सिंह ने  ग्राम पंचायत बांयां अतंगर्त  आॅपरेटिव्ह सोसायटी  का निरीक्षण किया एवं उपस्थित सोसायटी प्रबंधक को  नवीन पात्रता पर्ची धारको को खाद्यान्न वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। सोसायटी मे सामग्री की दरें सूचना पटल पर लेख किए जाने एवं तौल कांटे का सत्यापन नाप तौल विभाग से कराने के निर्देश भी  श्री सिंह द्वारा  सोसायटी प्रबंधक को दिए गये। 

विधानसभा क्षेत्र सीहोर में 6 करोड़ 60 लाख 37 हजार से बनाए जाएंगे तीन बैराज सैकड़ों किसानों को मिलेगा सीधा लाभ  
वर्चुअल समारोह के दौरान मुख्यमंत्री के साथ विधायक राय ने किया शिलान्यास                                          सीहोर।
sehore news
सोमवार को जल संसाधन विभाग कार्यालय परिसर में आयोजित वर्चुअल समारोह के दौरान विधायक सुदेश राय के मुख्य अतिथि में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा  विधानसभा क्षेत्र सीहोर के अंतर्गत  सिंचाई सुविधाओं का विस्तार करने के लिए  निपानियाखुर्द बैराज त्रिवेणी बैराज, मुंजखेडा बैराज निर्माण का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया।  कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा किसानों से सिंचाई सुविधाओं को लेकर चर्चा भी की गई। कार्यक्रम में उपस्थित किसानों के मध्य विधायक सुदेश राय ने बताया कि निपानिया खुर्द बैराज की लागत 2 करोड़ 12 लाख रुपए है इस बैराज से 140 हेक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होगी। त्रिवेणी बैराज की लागत दो करोड़ सात लाख ₹12 हजार रुपए है इस बैराज के माध्यम से 185 हेक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होगी और सिरा डी  सहित ग्राम जेटली के ग्रामीण लाभान्वित होंगे। इसी प्रकार मूजखेड़ा बैराज की लागत 2 करोड़ 43 लाख ₹25 हजार है इस बैराज से 130 हेक्टेयर कृषि भूमि को पानी मिलेगा। हजारों किसानों को उक्त सिंचाई परियोजनाओं का लाभ प्राप्त होगा। विधायक सुदेश राय ने कहा कि उन्नत सिंचाई सुविधाओं का विकास सुनिश्चित करने के लिए किसानों के हित में किसानों की सरकार काम कर रही है विधानसभा क्षेत्र में स्वीकृत सिंचाई परियोजनाओं से कृषि समृद्धि को नया आधार मिलेगा जिसका सीधा लाभ क्षेत्र के किसानों को प्राप्त होगा उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।   वर्चुअल समारोह के दौरान विधायक सुदेश राय इछावर विधायक करण सिंह वर्मा, जिला कलेक्टर अजय गुप्ता, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग अधिकारी ने सिंचाई परियोजनाओं का विधिवत शिलान्यास किया। कार्यक्रम में  भाजपा जिला अध्यक्ष रवि मालवीय, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष सीताराम यादव, भाजपा जिला प्रवक्ता राजकुमार गुप्ता, युवा मोर्चा जिला मंत्री सुदीप सम्राट,जल संसाधन विभाग के अधिकारी कर्मचारी और किसान गांव सम्मिलित रहे। 

आज किया जाएगा महापुराण कथा में शिव विवाह का प्रसंग शिव महापुराण में बताया सोमवती अमावस का महत्व

sehore news
सीहोर। हर अमावस्या को दान और पुण्य करना चाहिए। ब्राह्मणों को दान करने से करने से उन्नति और प्रगति होती है। सोमवार को पडऩे वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहा जाता है। यह अमावस्या वर्ष में एक या दो बार ही आती है। पांडव पूरे जीवन तरसते रहे, परंतु उनके जीवन में सोमवती अमावस्या नहीं आई। ग्रंथों में कहा गया है कि सोमवार को अमावस्या बड़े भाग्य से ही आती है। इस अमावस्या का विशेष महत्व है। विवाहित स्त्रियों द्वारा पतियों की दीर्घायु कामना के लिए इस व्रत का विधान है। इस दिन मौन व्रत रहने से सहस्र गोदान का फल प्राप्त होता है। उक्त विचार जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितोडिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में जारी सात दिवसीय शिव महापुराण कथा के दूसरे दिन भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहे। सोमवार को सोमवती अमावस्या का महत्व बताया गया। इस मौके पर पंडित श्री मिश्रा ने नदियों में होने वाले प्रदूषण को रोकने के संबंध में श्रद्धालुओं को आह्वान किया नदी-जलाशय आदि को प्रदूषित होने से रोका जाए। सोमवार चंद्रमा का दिन है। इस अमावस्या को सूर्य तथा चंद्र एक सीध में रहते हैं। इसलिए यह पर्व विशेष पुण्य देने वाला है। सोमवार भगवान शिव का दिन है और सोमवती अमावस्या भगवान शिव को समर्पित है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व है। इस दिन पवित्र नदी में स्नान करने से पितरों की आत्मा को शांति प्राप्त होती है। अमावस्या के दिन वृक्ष से पत्ता तोडऩा भी वर्जित है। सोमवती अमावस्या पर पीपल के वृक्ष की पूजा का विधान है। इस दिन विवाहित स्त्रियां पीपल के वृक्ष की दूध, जल, पुष्प, अक्षत, चंदन से पूजा कर इसकी परिक्रमा करती हैं। इस दिन भगवान शिव, माता पार्वती और तुलसी की पूजा करें। श्री मिश्रा ने कहा कि मान्यता है कि इस अमावस्या पर सूर्यदेव को अदर्ध देने से घर से दरिद्रता दूर हो जाती है। यह अमावस्या स्नान, दान के लिए श्रेष्ठ मानी जाती है। इस संबंध में जानकारी देते हुए विठलेश सेवा समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने मंगलवार को शिव महापुराण के तीसरे दिन भगवान शिव के विवाह का विस्तार से वर्णन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए सीधा प्रसारण आस्था चेनल  सहित अन्य फेबुक,यूट्यूब चैनल पर किया जा रहा है। जिससे श्रद्धालुओं को घर बैठे ही कथा का श्रवण करने का मौका मिल रहा है।

सीएम और गृहमंत्री से शिकायत करने के बाद भी नहीं हो रही दोषियों पर कार्रवाई

सीहोर। पुलिस के यहां पर फरियाद लेकर आने वालों के साथ अहमदपुर थाने में मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण फरियादी अब कलेक्टर और एसडीएम के चक्करर कटाने को विवश है। इस संबंध में जानकारी देते हुए ग्राम अजमतनगर निवासी खुमान सिंह ने बताया कि पिछले दिनों में पुत्र के साथ विवाद हो गया था, जिसकी शिकायत लेकर जब में अहमदपुर थाना पहुंचा तो यहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने अंदर ले जाकर डंडे आदि से हम तीन चार लोगों के साथ मारपीट करते हुए बिना किसी कारण के रात भर थाने में बंद रखा। इस संबंध में श्री गुर्जर का कहना है कि वह पिछले 13 दिनों से लगातार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, मानव अधिकार आयोग, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और एसडीएम आदि को शिकायत कर चुका हूं, लेकिन इसके बावजूद अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पुलिस द्वारा मारपीट की घटना में मेरे हाथ में चोटें आई है और मेरा मान सम्मान पर भी ठेस पहुंची है। मानव अधिकार आयोग को भेज अपने आवेदन में कहा कि पिछले 30 अक्टूबर को मेरे पुत्र के साथ कुछ विवाद हो गया था, इस सिलसिले में जब अहमदपुर थाने पहुंचा तो उन्होंने मेडिकल कराने का कहा, जैसे-तैसे मेडिकल कराने के बाद जब हम थाने पहुंचे तो पुलिस ने तानाशाही दिखाते हुए हमारे साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया, पुलिस द्वारा मारपीट की शिकायत उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, आईजी और मानव अधिकार आयोग आदि स्थानों पर की है, उन्होंने कहा कि उनके साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। 

सीएम और गृहमंत्री से शिकायत करने के बाद भी नहीं हो रही दोषियों पर कार्रवाई

सीहोर। पुलिस के यहां पर फरियाद लेकर आने वालों के साथ अहमदपुर थाने में मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण फरियादी अब कलेक्टर और एसडीएम के चक्करर कटाने को विवश है। इस संबंध में जानकारी देते हुए ग्राम अजमतनगर निवासी खुमान सिंह ने बताया कि पिछले दिनों में पुत्र के साथ विवाद हो गया था, जिसकी शिकायत लेकर जब में अहमदपुर थाना पहुंचा तो यहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने अंदर ले जाकर डंडे आदि से हम तीन चार लोगों के साथ मारपीट करते हुए बिना किसी कारण के रात भर थाने में बंद रखा। इस संबंध में श्री गुर्जर का कहना है कि वह पिछले 13 दिनों से लगातार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, मानव अधिकार आयोग, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और एसडीएम आदि को शिकायत कर चुका हूं, लेकिन इसके बावजूद अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। पुलिस द्वारा मारपीट की घटना में मेरे हाथ में चोटें आई है और मेरा मान सम्मान पर भी ठेस पहुंची है। मानव अधिकार आयोग को भेज अपने आवेदन में कहा कि पिछले 30 अक्टूबर को मेरे पुत्र के साथ कुछ विवाद हो गया था, इस सिलसिले में जब अहमदपुर थाने पहुंचा तो उन्होंने मेडिकल कराने का कहा, जैसे-तैसे मेडिकल कराने के बाद जब हम थाने पहुंचे तो पुलिस ने तानाशाही दिखाते हुए हमारे साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया, पुलिस द्वारा मारपीट की शिकायत उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, आईजी और मानव अधिकार आयोग आदि स्थानों पर की है, उन्होंने कहा कि उनके साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। 

कृषि कानून किसानों के लिए फायदेमंद  :- राजो मालवीय

sehore news
सीहोर। भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश की प्रवक्ता राजो मालवीय द्वारा जिला मुख्यालय पर  होटल क्रिसेंट रिसोर्ट में एक पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए बताया कि केंद्र सरकार के तीनों कानून किसानों को यह अवसर देते हैं कि वे अपनी उपज का उचित मूल्य हासिल करने के लिए उसे मंडी के बाहर भी बेच सकें, उनके पास फसलों की बिक्री के लिए अधिक विकल्प हों और वे बिचौलियों के जाल से मुक्त हों। केंद्र सरकार कई बार यह भी स्पष्ट कर चुकी है कि न तो न्यूनतम समर्थन मूल्य की प्रणाली को खत्म किया जा रहा है और न ही मंडी व्यवस्था समाप्त की जा रही है। किसानों के जो समूह देश की राजधानी को घेरे बैठे हैं उन्हें यह समझना होगा कि महज उनके लिए केंद्र सरकार नए कृषि कानूनों को वापस नहीं लेने वाली, क्योंकि ये किसानों के हित में सुविचारित नीतियों का प्रतिफल हैं। कॉरपोरेट जगत का हौवा दिखाकर नए कानूनों का विरोध सच्चाई की अनदेखी करना है। यह समझने की जरूरत है कि आढ़ती भी व्यापारी ही हैं। फिर कॉरपोरेट जगत के रूप में निजी क्षेत्र का डर दिखाकर एक दूसरे किस्म के व्यापारियों की ढाल बनने का क्या मतलब? अगर किसान आढ़तियों पर भरोसा कर सकते हैं तो कॉरपोरेट जगत पर अविश्वास का क्या आधार हो सकता है? इससे भी अधिक कांट्रैक्ट फार्मिंग के सकारात्मक नतीजों की अनदेखी कैसे की जा सकती है?

कृषि उत्पादकता बढ़ाने में निजी क्षेत्र का सहयोग आवश्यक
भारत में कृषि क्षेत्र की उत्पादकता दुनिया की तमाम बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के मुकाबले कहीं पीछे है। अधिकांश किसानों की गरीबी का यह सबसे बड़ा कारण है। यह उत्पादकता तब तक नहीं बढ़ने वाली जब तक कृषि के आधुनिकीकरण के कदम नहीं उठाए जाएंगे। यह काम सरकार अकेले नहीं कर सकती है। इसमें निजी क्षेत्र का सहयोग आवश्यक है। निजी क्षेत्र अगर कृषि में निवेश के लिए आगे आएगा तो इसके लिए कानूनों की आवश्यकता तो होगी ही। जो लोग इस मामले में किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं वे वामपंथी सोच से ग्रस्त हैं। यह वह सोच है जो सब कुछ सरकार से चाहने-मांगने पर भरोसा करती है। सच्चाई यह है कि जो देश विकास की होड़ में आगे हैं उन सभी ने मुक्त बाजार की अवधारणा पर ही आगे बढ़कर कामयाबी हासिल की है। देश के किसानों को भी आगे आकर मुक्त बाजार की अवधारणा को अपनाना चाहिए। तीनों नए कृषि कानून किसानों को बंधे-बंधाए तौर-तरीकों से आजाद कर वैश्विक पटल पर ले जाने वाले हैं। इनके विरोध का मतलब है सुधार और विकास के अवसर खुद ही बंद कर लेना।

किसान आंदोलन के नाम पर सस्ती सियासत
विरोध के अधिकार के नाम पर किसान आंदोलन के बहाने जो कुछ हो रहा है वह संकीर्णता और अंधविरोध की पराकाष्ठा ही है। दुर्भाग्य से यह सब राष्ट्रीय हितों की कीमत पर किया जा रहा है। ऐसी राजनीति देश का क्या भला करेगी जो न तो किसी तर्क से संचालित हो और न राष्ट्रहित पर केंद्रित हो, बल्कि सरकार और समाज का ध्यान भटकाने का काम करे? किसान आंदोलन को हवा दे रहे राजनीतिक दल हाशिये पर पहुंच जाने के बाद अब झूठ और दुष्प्रचार के आधार पर लोगों को बरगलाने का काम कर रहे हैं। उन्हें इसकी भी चिंता नहीं है कि इस आंदोलन के नाम पर जो सियासत की जा रही है वह देश को कमजोर करने का काम करेगी। मोदी सरकार में यह पहला अवसर नहीं है जब किसी मामले में दुष्प्रचार और गलत तथ्यों के आधार पर झूठा माहौल बनाने की कोशिश की गई हो और वह भी सिर्फ इसलिए कि विरोधी दल राजनीतिक रूप से भाजपा अथवा प्रधानमंत्री मोदी का सामना नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे दल अपने अस्तित्व को बचाने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार नजर आ रहे हैं।

सीएए को लेकर भी लोगों को बरगलाने की हुई थी कोशिश
यह विस्मृत नहीं किया जा सकता कि एक समय किस तरह बेजा तरीके से यह स्थापित करने की कोशिश की गई थी कि राजग सरकार में अनुसूचित जाति का उत्पीड़न बढ़ गया है। लोगों को बरगलाने की ऐसी ही कोशिश नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भी की गई। शाहीन बाग में धरने के जरिये राजधानी को जिस तरह महीनों तक अपंग बना दिया गया था वह सस्ती और स्वार्थी राजनीति का सबसे बड़ा उदाहरण था। इसी तरह इसकी भी अनदेखी नहीं की जा सकती कि किस तरह एक खास विचारधारा से प्रेरित लोगों ने मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में पुरस्कार वापसी का अभियान छेड़कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की छवि धूमिल करने का प्रयास किया था। किसान आंदोलन में भी वही दोहराने की कोशिश हो रही है। पत्रकारवार्ता में भाजपा जिलाध्यक्ष रवि मालवीय , विधायक सुदेश राय , पूर्व जिलाध्यक्ष सीताराम यादव भाजपा जिला प्रवक्ता राजकुमार गुप्ता मंडल अध्यक्ष प्रिन्स राठौर राजू सिकरवार हृदेश राठौर सहित नगर के सभी गण मान्य पत्रकार उपस्थित थे

मुख्‍यमंत्री ने वर्चुअल प्रक्रिया से सीहोर में किया लगभग तैंतीस करोड़ इकसठ लाख रूपये के बैराजों का लोकार्पण

सी.एम. शिवराज सिंह चौहान ने किया तैतीस करोड इकसठ लाख रूपये की लागत से बने 13 सिंचाई योजनाओं बैराजों का लोकार्पण वीडीओ कॉन्‍फ्रेसिं ग के द्वारा किया जिनके माध्‍यम से लगभग दो हजार दो सौ अठारह हेक्‍टेयर भूमि की सिंचाई हो सकेगी । जिसके द्वारा सीहोर जिले के निपानिया खुर्द, जेटली एवं सिराडी, मुजखेड़ा, मुस्‍करा, भौरी कलां एवं हरनावदा, मालीखेड़ी, लाखिया, मुरावर, जावर,चिचलाह, जहानपुर, मोगरा, जवाहरखेड़ा गांव लाभान्वित होंगे । लोकार्पण के दौरान सीएम ने निपानिया खुर्द के कृषक शुभम मीणा से वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के माध्‍यम से बात की जिसमें कृषक ने बताया कि इस योजना से उसके गांव निपानिया खुर्द की 140 हेक्‍टेयर जमीन पर सिंचाई संभव हो पयेगी जिससे लगभग गांव के 60 किसानों को बहुत ही लाभ होगा गांव सभी कृषकों की ओर से शुभम मीणा ने सीएम श्री शिवराज सिंह चौहान को बहुत धन्‍यवाद दिया । मुख्‍य कार्यक्रम जल संसाधन संभाग, सीहोर के प्रांगण में रखा गया लोकार्पण । जिलास्‍तर पर मुख्‍य कार्यक्रम में सीहोर विधायक सुदेश राय, इछावर विधायक करणसिंह वर्मा, कलेक्‍टर सीहोर अजय गुप्‍ता, रवि मालवीय, एवं कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग एवं अन्‍य जनप्रतिनिधि तथा ग्रामों से लाभान्वित कृषकगण भी उपस्थित थे ।

आकाषवाणी पर आशा फोन इन कार्यक्रम का प्रसारण 15 दिसंबर को होगा

सीहोर। 15 दिसंबर 2020 को आषा फोन इन कार्यक्रम का प्रसारण आकाषवाणी के भोपाल केन्द्र से 15 दिसंबर को दोपहर 12 बजे  से 01 बजे तक प्रसारित किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि आषा फोन इन कार्यक्रम में राष्ट्रीय आयोडिन अल्पता विकार नियंत्रण कार्यक्रम पर विस्तार से चर्चा की जाएगी। कार्यक्रम प्रसारण के दौरान श्रोता आकाषवाणी के फोन नंबर 0755-2660902, 2660903 पर सवाल पूछ सकते है। समस्त आशायें , महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ता, इस कार्यक्रम को ग्राम आरोग्य केन्द्र में बैठकर रेडियों पर स्थानीय ग्रामीण महिलाओं के साथ खुद सुन सकेंगे तथा गांव के अन्य लोगों को कार्यक्रम की जानकारी देकर सुनने के लिए प्रेरित करेंगी। डॉ.डेहरिया ने बताया कि जिले के समस्त ब्‍लॉक कम्यूनिटी मोबीलाईजर को निर्देषित किया गया है कि ग्राम स्तर पर सभी आषाएं इसे सुने इसके लिए जानकारी उन तक पहुचाने के निर्देष दिए गए है।

अवैध मदिरा के विरूद्ध चलाया जा रहा है विशेष अभियान

कलेक्‍टर श्री अजय गुप्‍ता के निर्देशानुसार तथा अन्‍य अवैधम मदिरा के सेवन से हुई जनहानियां को देखते हुए जिला आबकारी अधिकारी सीहोर ने अवैध मदिरा के विरूद्ध आवकारी विभाग द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है  जिला आबाकारी अधिकारी सीहोर श्रीमती कीर्ति दुबे द्वारा दिनॉंक 07 दिसंबंर से 13 दिसंबर तक अवैध मदिरा के विरद्ध म0प्र0 आबकारी अधिनियम की विभिन्‍न धाराओं में 14 प्रकरण कायम कर 14 व्‍यक्तियों को गिरपतार किया गया है । कार्यवाही  8.36 बल्‍क लीटर देशी व 3.75 बल्‍क लीटर विदेशी मदिरा  कच्‍ची मदिरा जप्‍त की गई । सहायक जिला आवकारी अधिकारी श्री अमिताभ जैन, आबकारी उपनिरीक्षक श्री प्रहलाद सिंह मीना व सुश्री शारदा कारोलिया,तथा 02 ली. हाथ भटटी कच्‍ची मदिरा जप्‍ब दी गई । कार्यवाही में सहायक जिला आबकारी अधिकारी मुख्‍य आबकारी आरक्षक एवं आरक्षक का सराहनीय योगदान रहा साथ ही अवैध मदिरा के विरूद्ध अभियान निरंतर जारी रहेगा ।

 अवैध मदिरा के विरूद्ध चलाया जा रहा है विशेष अभियान

कलेक्‍टर श्री अजय गुप्‍ता के निर्देशानुसार तथा अन्‍य अवैधम मदिरा के सेवन से हुई जनहानियां को देखते हुए जिला आबकारी अधिकारी सीहोर ने अवैध मदिरा के विरूद्ध आवकारी विभाग द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है  जिला आबाकारी अधिकारी सीहोर श्रीमती कीर्ति दुबे द्वारा दिनॉंक 07 दिसंबंर से 13 दिसंबर तक अवैध मदिरा के विरद्ध म0प्र0 आबकारी अधिनियम की विभिन्‍न धाराओं में 14 प्रकरण कायम कर 14 व्‍यक्तियों को गिरपतार किया गया है । कार्यवाही  8.36 बल्‍क लीटर देशी व 3.75 बल्‍क लीटर विदेशी मदिरा  कच्‍ची मदिरा जप्‍त की गई । सहायक जिला आवकारी अधिकारी श्री अमिताभ जैन, आबकारी उपनिरीक्षक श्री प्रहलाद सिंह मीना व सुश्री शारदा कारोलिया,तथा 02 ली. हाथ भटटी कच्‍ची मदिरा जप्‍ब दी गई । कार्यवाही में सहायक जिला आबकारी अधिकारी मुख्‍य आबकारी आरक्षक एवं आरक्षक का सराहनीय योगदान रहा साथ ही अवैध मदिरा के विरूद्ध अभियान निरंतर जारी रहेगा ।

कोविड-19 वैक्‍सीन के शुभारंभ की तैयारी के लिए  जिला टास्‍क फोर्स की बैठक 15 दिसंबर को

कलेक्‍टर सीहोर श्री अजय गुप्‍ता के निर्द्रशानुसार कोविड-19 वैक्‍सीन के संबंध में जिला टास्‍क फोर्स की बैठक 15 दिसंबर को प्रत: 11 बजु कलेक्‍ट्रेट के सभाकक्ष में रखी गई है । जिसमें कोविड-19 वैक्‍सीन के शुभारंभ के लिए विभन्‍न गतिविधियों के सुगम क्रियान्‍वयन अभियान के पूर्व तैयारियों की समीक्षा एवं टीकाकरण की समस्‍त प्रक्रिया का प्रबंधन करने की दृष्टि से मंगलवार को को बैठक अयोजित होना है बैठक में जिला टास्‍क फोर्स के सभी सदस्‍यों को अनिवार्य रूप से उपस्थित होने के निर्देश कलेक्‍टर द्वारा दिये गये है ।

05 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 120 है

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले पिछले 24 घंटे के दौरान 05 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के कुल 03 संक्रमित मिले जिसमें मण्‍डी एवं हाउसिंग बोर्ड से संक्रमित कुल 03 मिले  एवं,  बुदनी 02 व्‍यक्ति संक्रमित मिला है।   जिले में एक्टिव/संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 120  है। आज कुल  18  व्यक्तियों को रिकवर होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया। कुल रिकवर की संख्या 2363  है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 388  सैम्पल लिए गए है । सीहोर शहरी क्षेत्र से 30 सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 70 आष्टा से 82, इछावर से 98, श्यामपुर से 38,  बुदनी से 70 सैम्पल लिए गए है ।   आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2531 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2363 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 120 है। आज 388 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 49993 हैं जिनमें से 47003  सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 381 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 388 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति या उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है ।

1 टिप्पणी:

Unknown ने कहा…

Also Read भारतीय मंदिरों के बारे में कुछ सोच-विचार करने वाले तथ्य क्या हैं? here https://hi.letsdiskuss.com/What-are-some-thought-provoking-facts-about-Indian-temples