बंगाल में तैनात तीन आईपीएस अधिकारी केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर तलब - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 12 दिसंबर 2020

बंगाल में तैनात तीन आईपीएस अधिकारी केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर तलब

bangal-3-ips-call-for-center-duty
नयी दिल्ली 12 दिसम्बर, केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के काफिले पर गुरूवार को पश्चिम बंगाल में पथराव की घटना पर एकतरफा कार्रवाई करते हुए राज्य पुलिस में तैनात तीन आईपीएस अधिकारियों को केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर तलब करने का आदेश दिया है। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण बंगाल रेंज में तैनात आईपीएस अधिकारी राजीव मिश्रा, प्रेजिडेन्सी रेंज के उप महानिरीक्षक प्रवीण कुमार और डायमंड हार्बर के पुलिस अधीक्षक भोलानाथ पांडेय को केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर तलब किया गया है। ये तीनों अधिकारी श्री नड्डा के बंगाल दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिम्मेदार थे। इन अधिकारियों को अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों से संबंधित नियमों के तहत तलब किया गया है। यह माना जा रहा है कि इस निर्णय से केन्द्र और पश्चिम बंगाल सरकार के बीच विवाद बढ सकता है क्योंकि इन अधिकारियों को प्रतिनियुक्ति पर तलब करने से पहले राज्य सरकार से सलाह नहीं ली गयी है। उल्लेखनीय है कि गुरूवार को डायमंड हार्बर जाते समय से श्री नड्डा के काफिले पर पथराव किया गया था। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा था कि केन्द्र इस मामले को गंभीरता से ले रहा है। इसके बाद गृह मंत्रालय ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में राज्य सरकार तथा राज्यपाल से रिपोर्ट मांगी थी। राज्यपाल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति सही नहीं है। मंत्रालय ने राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को भी सोमवार को तलब किया था हालाकि दोनों अधिकारियों ने दिल्ली आने से मना कर दिया था। माना जा रहा है कि गृह मंत्रालय ने इसके बाद ही तीनों आईपीएस अधिकारियों को केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर तलब करने का निर्णय लिया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: