आगरा में ‘हैलो गैंग’ के आठ सदस्य गिरफ्तार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 दिसंबर 2020

आगरा में ‘हैलो गैंग’ के आठ सदस्य गिरफ्तार

hello-gang-arrest-in-agra
आगरा, 30 दिसम्बर, उत्तर प्रदेश के आगरा में नौकरी देने के नाम पर ठगी करने वाले ‘हैलो गैंग’ के आठ सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि चार सदस्य फरार हो गये है। एसएसपी बबलू कुमार ने बुधवार को पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि ‘हैलो गैंग’ चंबल किनारे बीहड़ में चल रहा था। उन्होंने बताया कि इस गिरोह के सदस्य लोगों को स्पा सर्विसेज, फ्रैंडशिप क्लब, वर्क फ्रॉम होम का पार्ट टाइम जॉब, पर्सनल लोन, सरकारी योजना आदि का लालच देकर अपने जाल में फंसाते थे और इसके बाद प्रोसेसिंग फीस के नाम पर ई-वॉलेट में रुपये हस्तांतरित कराते थे। उन्होंने बताया कि इस गिरोह के सदस्यों ने उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली, मध्यप्रदेश राजस्थान, हरियाणा, छत्तीसगढ़, झारखंड, महाराष्ट्र सहित कई अन्य राज्यों के लोगों को अपना शिकार बनाया हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ने सचिन, सतीश, सनी, दयानंद, सुनील, श्री किशन और देव किशन को गिरफ्तार किया है जबकि गिरोह के चार सदस्य फरार हो गए। उन्होंने बताया कि पुलिस ने इनके पास से एक लैपटाप, 23 मोबाइल फोन और 14 फर्जी सिम कार्ड बरामद किये हैं। भाषा सं देवेंद्र देवेंद्र 3012 2256 आगरा जसजस आवश्यक .आगरा प्रादे 162 उप्र ठगी गिरफ्तार आगरा पुलिस ने ‘हैलो गैंग’ के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया आगरा, 30 दिसम्बर (भाषा) उत्तर प्रदेश की आगरा पुलिस ने नौकरी देने के नाम पर ठगी करने वाले ‘हैलो गैंग’ के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया है जबकि चार सदस्य फरार हो गये है। एसएसपी बबलू कुमार ने बुधवार को पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि ‘हैलो गैंग’ चंबल किनारे बीहड़ में चल रहा था। उन्होंने बताया कि इस गिरोह के सदस्य लोगों को स्पा सर्विसेज, फ्रैंडशिप क्लब, वर्क फ्रॉम होम का पार्ट टाइम जॉब, पर्सनल लोन, सरकारी योजना आदि का लालच देकर अपने जाल में फंसाते थे और इसके बाद प्रोसेसिंग फीस के नाम पर ई-वॉलेट में रुपये हस्तांतरित कराते थे। उन्होंने बताया कि इस गिरोह के सदस्यों ने उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली, मध्यप्रदेश राजस्थान, हरियाणा, छत्तीसगढ़, झारखंड, महाराष्ट्र सहित कई अन्य राज्यों के लोगों को अपना शिकार बनाया हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ने सचिन, सतीश, सनी, दयानंद, सुनील, श्री किशन और देव किशन को गिरफ्तार किया है जबकि गिरोह के चार सदस्य फरार हो गए। उन्होंने बताया कि पुलिस ने इनके पास से एक लैपटाप, 23 मोबाइल फोन और 14 फर्जी सिम कार्ड बरामद किये हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: