बिहार : तीन काला कानून वापस ले मोदी सरकार : माले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 5 दिसंबर 2020

बिहार : तीन काला कानून वापस ले मोदी सरकार : माले

cpi-ml-demand-withdraw-farmer-law
आरा,5 दिसंबर। आज शनिवार को भाकपा-माले ने आरा में किया सड़क जाम।भाकपा-माले,आखिल भारतीय किसान महासभा और खेत मजदूर सभा के बैनर तले ,दिल्ली में नई कृषि कानूनों को रद्द करने को लेकर आंदोलित किसानों के समर्थन में और सरकार को बाध्य करने को लेकर आरा बस स्टैंड बाईपास रोड़ पर सुबह 8 बजे से 10 बजे तक दो घंटे तक सड़क जाम कर विरोध जताया गया। सड़क जाम को सम्बोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय नेता व तरारी विधायक सुदामा प्रसाद ने कहा कि केन्द्र सरकार किसानों की धैर्य की परीक्षा न लें, बल्कि किसान नेताओं के साथ सम्मानजनक वार्ता कर कृषि कानूनों को वापस ले,केंद्र सरकार जब कुल 23 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करती है तो किसानों को समर्थन मूल्य से कम कीमत क्यों मिलता है। उन्होंने कहा कि यह कानून किसानों को डरा रहा है,किसान भयभीत हैं कि इस कानून से मंडिया और MSP खत्म हो जाएगी,हमारी उत्पादों के साथ निजी कम्पनियां खरीदारी करने में नंगा खेल करेगी,किसान भयभीत हैं कि कंटैक्ट फार्मिंग के तहत बहुराष्ट्रीय कम्पनियों से बीज और कीटनाशक दवाइयां खरीदना पड़ेगा जिससे हमारी खेती प्रभावित होगी,इसलिए सरकार बिना देर किए इस कानून को वापस ले। सड़क जाम के दौरान सभा की अध्यक्षता आरा नगर सचिव दिलराज प्रीतम ने किया!इस सड़क जाम को सम्बोधित करने वालों में भाकपा-माले राज्य कमेटी सदस्य क्यामुद्दीन अंसारी, जिला कमेटी सदस्य गोपाल प्रसाद,परशुराम सिंह,बिष्णु ठाकुर,नंदजी,रामानुज जी,नगर कमेटी सदस्य अमीत बंटी,सुरेश पासवान, सत्यदेव कुमार,अभय कुशवाहा,रौशन कुशवाहा, संतविलास राम,सुरेन्द्र पासवान,प्रमोद रजक,छोटेलाल सिंह,मुन्ना गुप्ता,सुशील पाल,महेश्वर सिंह आदि लोग शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: