पहला टेस्ट नहीं जीते तो कोहली के बिना होगी मुश्किल : कुंबले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 11 दिसंबर 2020

पहला टेस्ट नहीं जीते तो कोहली के बिना होगी मुश्किल : कुंबले

india-will-have-to-won-first-test-kumble
नयी दिल्ली, 11 दिसंबर, पूर्व राष्ट्रीय कोच अनिल कुंबले को लगता है कि अगर भारत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरूआती दिन-रात्रि टेस्ट में जीत हासिल नहीं की तो करिश्माई कप्तान विराट कोहली की अनुपस्थिति में मेहमानों के लिये काफी मुश्किल हो जायेगी। भारत 17 दिसंबर से एडीलेड में दिन-रात्रि टेस्ट के साथ बार्डर-गावस्कर टेस्ट श्रृंखला की शुरूआत करेगा और कुंबले को लगता है कि यह मैच भारत के लिये ‘बड़ी चुनौती’ होगी। कप्तान कोहली शुरूआती टेस्ट के बाद अपने पहले बच्चे के जन्म के लिये स्वदेश लौट आयेंगे। इस महान स्पिनर ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘अगर हम पहले टेस्ट मैच में जीत हासिल करके आगे हो जाते हैं तो भारत के पास पिछले आस्ट्रेलिया दौरे की उपलब्धि को दोहराने का बढ़िया मौका होगा। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर टीम में वापसी कर रहे हैं और फिर विराट भी तीन टेस्ट मैचों में नहीं खेल पायेगा तो यह निश्चित रूप से भारत के लिये बड़ा कारण बन जायेगा। लेकिन यह कहने के बावजूद, टीम में काफी काबिलियत मौजूद हैं, भले ही वो बल्लेबाजी हो या फिर गेंदबाजी। ’’ भारतीय खिलाड़ियों के पास शीर्ष स्तर के क्रिकेट में गुलाबी गेंद से खेलने का ज्यादा अनुभव नहीं हैं और टीम ने केवल एक ही मैच गुलाबी गेंद से खेला है जो पिछले साल बांग्लादेश के खिलाफ था जिसमें उसने पारी और 46 रन के अंतर से जीत हासिल की थी। वहीं आस्ट्रेलियाई टीम ने पिछले कुछ वर्षों में काफी दिन-रात्रि मैच खेले हैं।


कुंबले को लगता है कि भारत का तेज गेंदबाजी आक्रमण आस्ट्रेलिया के बराबर ही है जबकि मेहमान बल्लेबाजी में मेजबानों से आगे हैं लेकिन यह सब पहले टेस्ट के नतीजे पर निर्भर करेगा। उन्होंने कहा, ‘‘अगर हम गुलाबी गेंद के टेस्ट में जीत हासिल कर बढ़त हासिल कर लेते हैं - जिसमें आस्ट्रेलिया निश्चित रूप से मजबूत है और उन्होंने एडीलेड में जब भी गुलाबी गेंद से मैच खेले हैं तो काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। ’’ कुंबले ने कहा, ‘‘इसलिये अगर भारत पहले टेस्ट में आस्ट्रेलिया के खिलाफ बढ़त हासिल कर लेता है तो मैं भारत का समर्थन करूंगा। लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो विराट के बिना अगले तीन टेस्ट में यह काफी मुश्किल होगा। ’’ पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा कि भारत को किसी को ढूंढना होगा जो श्रृंखला में 500 से ज्यादा रन जुटा सके जैसा कि चेतेश्वर पुजारा ने पिछली बार किया था। द्रविड़ भी इस वर्चुअल कार्यक्रम का हिस्सा थे, उन्होंने कहा, ‘‘पिछली बार की तरह हमारा पुजारा कौन होगा? मैं ऐसा इसलिये कह रहा हूं क्योंकि पुजारा ने पिछली बार 500 से ज्यादा रन जुटाये थे इसलिये आपको इसी तरह के एक बल्लेबाज की जरूरत होगी जो ऐसा कर सके। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘या तो वह खुद पुजारा होगा - निश्चित रूप से, यह कोहली नहीं हो सकता क्योंकि वह पूरे दौरे पर टीम के साथ नहीं होगा। लेकिन मेरी राय में आपको चार टेस्ट मैचों में अपने एक बल्लेबाज की जरूरत होगी जो 500 से ज्यादा रन जुटा सके। ’’ द्रविड 2003-04 बार्डर गावस्कर श्रृंखला में भारत के लिये शीर्ष स्कोरर रहे थे, उन्होंने 619 रन जोड़े थे। उन्होंने कहा, ‘‘भारत के पास ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है जो उन परिस्थितियों में 20 विकेट झटक सकता है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘वहां के हालात चुनौतीपूर्ण होंगे। आस्ट्रेलिया ऐसा विकेट बनाने की कोशिश करेगा जो तेज गेंदबाजों के लिये मददगार हो। तो क्या हम इसकी बराबरी कर पायेंगे तो मुझे लगता है कि हम पांच दिन में 20 विकेट चटका पायेंगे। ’’

कोई टिप्पणी नहीं: