झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 दिसंबर 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 दिसंबर

व्यापारी संघ द्वारा आयोजित रात्री कालीन प्लासटीक बाल क्रिकेट प्रतियोगीता का हुआ समापन, टीम वी 8 ने लहराया परचम


jhabua news
पारा । सकल व्यापारी संघ पारा द्वारा आयोजित चार दिवसीय प्लास्टीक बाल क्रिकेट प्रतियोगीता समापान सोमवार कि मध्यरात्री को हुआ ।  चार दिनो तक चली इस क्रिकेट प्रतियोगीता मे 18 टिम ने भाग लिया जिसमे फायनल मे वी 8 टिम ने अपना परचम लहराया। गत 25 दिसम्बर से व्यापारी संघ पारा द्वारा आयोजित रात्री कालीन प्लास्टीक बाल क्रिकेट प्रतियोगीता का आयोजन नगर के स्थानिय बस स्टेण्ड पर दुधिया रोशनी मे देर रात्री तक प्रतिदिन खेला गया। जिसमे नगर कि 18 टीम ने भाग लिया प्रति दिन 8 टिम ने 6 ओवर के चार मंेच खेले। जिसमे राबिन राउड मे सभी टीमो ने एक दुसरे को पछाड कर अंतिम 8 मे प्रवेश लिया जहा से चार टिम सेमिॅफायनल के लिए निकली। अंतिम दिन संेमिफायलन मेच 7 अवर का खेला गया । प्रतियोगीता का फायनल मेच वी 8 व आरसीपी के बिच खेला गया। जो कि 8 अवर का था। जिसमे  टीम वी 8 ने आरसीपी टीम को 5 विकेट से पराजित किया। सेमी फायनल मे पराजित टीम नामचले व राॅक स्टार के बिच मे तीसरे नम्बर के मेच हुआ जिसमे नामचले ने विजयी प्राप्त कर तीसरे के पुरस्कार के लिए अपनी दावेदारी कि। प्रतियोगीता का समापन देर रात्री को हुआ इस अवसर पर जमकर अतिरूा बाजी कि गई। समापन मे विजेता टीम वी 8 को जिले के उधोगपति ब्रजेन्द्र शर्मा चुन्नु भैया द्वारा 7777 रुपए का नगद प्रथम पुरस्कार दिया गया। गुरु कृपा स्टोन के्रसर के मालिक निलेश कटारा द्वारा 2222 रुपए का पुरसकार दिया गया। फेना डिर्टजेन्ट के डिसट्रीब्युटर अमित नाहटा द्वारा 1111रुपए का पुरस्कार दिया गया। वही उपविजेता टिम आरसीपी को एचडीएफसी बैक शाखा झाबुआ के बेक मेनेजर व स्टाफ द्वारा 4444 का नगद पुरस्कार दिया गया। तृतीय पुरस्कार 2222 रुपए भण्डारी ब्रदर्स के मालीक अतुल भण्डारी द्वारा नामचले टीम को दिया गया। मेन आफ द सिरिज का पुरस्कार जेके सुपर सिमेट द्वारा 1111 रुपए व शिल्ड अर्पित काठेड को दिया गया। बेस्ट बेटसमेन का खिताब अशोक बलसोरा व जय जिनेन्द्र कलेक्शन द्वारा सोरभ पंचोली व जयदिप चैहान को दिया गया। बेस्ट बालर का खिताब उमेश भटेवरा के द्वार अभिेषेक सिसोदिया को दिया गया। बेस्ट फिल्डर का खिताब अशोक बलसोरा कि तरफ से हेमेन्त बसेर व मितेश बसेर को दिया गया। टुनर्समेन्ट मे भाग लेने वाली बच्चो कि टीम गली क्रिकेट क्लब को श्रीकृष्ण ट्रेर्डस रमेश चन्द्र राठोर द्वारा 1111 रुपए का पुरस्कार दिया गया। पुरे क्रिकेट टुर्नामेन्ट मे फेयर प्ले अवाड राॅक स्टार टीम को 5555 रुपए का टी वी एस शोरुम के आनर दिव्य चैपडा चिनु द्वारा दिया गया। टुर्नामेन्ट मे बेस्ट अम्पायर राजा सरतलीया, बेस्ट काॅमेन्टेटर गोतम राठोड बेस्ट स्कोरर नवनित राठोड को दिया गया। इस पुरे टुर्नामेन्ट मे व्यापारी संध के अध्यक्ष नितिन राठोड, सचिव सोरभ कोठारी उपाध्यक्ष इदरीस आम्बावाला सहसचिव तरुण तलेसरा, कोषाध्यख तरुण चोधरी संगठन मंत्री आकाश कांकरीया का विशेष योगदान रहा।


भाजपा मंडल पेटलावद की कार्यकारिणी घोषित, महामंत्री संजय कहार एवं कालूसिंह मेड़ा बनाए गए


झाबुआ। प्रदेष भाजपा संगठन की अनुसंषा एवं भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक की सहमति से पेटलावद भाजपा मंडल की कार्यकारिणी का गठन मंडल अध्यक्ष संदीप मांडोत ने किया। जिसमंे 19 मंडल पदाधिकारी एवं 61 कार्यकारिणी सदस्य सम्मिलित किए गए है। जानकारी देते हुए भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर ने बताया कि पिछले दिनों भाजपा जिला कार्यालय पर हुई भाजपा के 19 मंडलों की कार्यकारिणी में से 2 मंडल मेघनगर एवं पेटलावद की कार्यकारिणी की घोषणा होना शेष रह गई थी। जिसके बाद मेघनगर मंडल और अब पेटलावद मंडल की कार्यकारिणी मंडल अध्यक्ष श्री मांडोत ने भाजपा जिलाध्यक्ष श्री नायक की सहमति से की है।


यह है मंडल पदाधिकारी

गठित कार्यकारिणी मंे 6 मंडल उपाध्यक्ष श्रीमती ममता प्रवीण पंवार (पेटलावद), सुभाषचन्द्र गंगाराम राठौार (करडावद), रमेष वरदा सोलंकी (अजब बोराली), प्रदीप मोहनलाल काग (रूपगढ़), गौतम धन्नालाल गेहलोत (पेटलावद) एवं विनेष सुरतान कटारा (कोदली), 2 मंडल महामंत्री संजय शंकरलाल कहार (पेटलावद) एवं कालूसिंह देवीसिंह मेड़ा (दुलाखेड़ी), 6 मंत्री श्रीमती पान्ना दुलेसिंह बारिया (नाहरपुरा), हीरालाल अंबालाल पाटीदार (अमरगढ़), दीपक रमेषचन्द्र राठौर (पेटलावद), राजाराम दषरथ आंजना (करड़ावद), दयाराम गलिया भाबर (गोपालपुरा) एवं जितेन्द्र बाबुलाल जाटव (पेटलावद), 1 कोषाध्यक्ष संजय कन्हैयालाल मालवीय (पेटलावद), 1 कार्यालय मंत्री जितेन्द्र रतनलाल मेहता (पेटलावद), 1 कार्यालय सह-मंत्री भारतसिंह चैहान (पेटलावद), 1 मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र (लोकू) रमेष परिहार (पेटलावद) तथा एक आईटी सेल संयोजक उत्सव राजेष सोनी (बामनिया) को मनोनीत किया गया है। इसके अलावा 61 कार्यकारिणी सदस्यों में मंडल क्षेत्र के सक्रिय भाजपा कार्यकर्ता शामिल है।


सकल व्यापारी संघ की वीपीएल आयोजन को लेकर महत्वपूर्ण बैठक 30 दिसंबर, बुधवार को,   आयोजन को लेकर अंतिम रूप प्रदान किया जाएगा


jhabua news
झाबुआ। सकल व्यापारी संघ झाबुआ द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित किए जाने वाले रात्रिकालीन क्रिकेट प्रतियोगिता (व्यापारी प्रीमियर लीग) बीपीएल के आयोजन को लेकर व्यापारी संघ के अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर की अध्यक्षता मंें स्थानीय पैलेस गार्डन पर आपात बैठक का आयोजन कर मंथन किया गया। जिसमें निर्णय लिया गया कि आगामी 30 दिसंबर, बुधवार रात्रि 8 बजे व्यापारियों, सहयोगियों, खिलाड़ियों एवं पदाधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन कर विस्तृत चर्चा की जाएगी एवं आयोजन के संबंध मंे अंतिम निर्णय लिया जाएगा। बैठक के दौरान उपस्थित पदाधिकारी-सदस्यों में सकल व्यापारी संघ सचिव पंकज जैन मोगरा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश पटेल, सह-सचिव हरिशशाह लालाभाई, कोषाध्यक्ष राजेश शाह, अमित जैन, युवा व्यापारी खिलाड़ी पराग रनवाल, मयंक रूनवाल, अंकुश काठी, विवेक कटकानी, वाहिद शेख, रत्नदीप सकलेचा आदि ने अपने-अपने विचार व्यक्त कर वीपीएल का आयोजन आगामी जनवरी माह 2010 में किए जाने की बात पर विशेष बल दिया।


वीपीएल को लेकर व्यापारी खिलाड़ियों में है उमंग और उत्साह

रात्रिकालीन इस टूर्नामेंट को लेकर 30 दिसंबर, बुधवार को आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में विस्तृत कार्ययोजना बनाई जाएगी। व्यापारी प्रीमियर लीग को लेकर अभी से व्यापारी खिलाड़ियों में उत्साह का माहौल देखा जा रहा है, क्योंकि गत वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण इस प्रतियोगिता का आयोजन नहीं हो पाया था। उसके पूर्व 2 वर्ष तक की गई इस प्रतियोगिता को अभूतपूर्व सफलता प्राप्त हुई थी।


भव्य स्तर पर होता है आयोजन

रात्रिकालीन इस आयोजन को देखने के लिए शहर की महिलाएं, बच्चे विशेषकर बड़ी संख्या में शिरकत करते हैं। साथ ही सभी के बैठने की अलग-अलग सुव्यवस्थित व्यवस्था भी की जाती है। ,क्रिकेट ग्राउंड को हमेशा दुल्हन की तरह सजाया जाता है। शहरवासियांे में इस आयोजन को लेकर काफी उत्साह का माहौल बना हुआ है।


थांदला सिविल अस्पताल में चलन से बाहर हुई एक्सरें का अभी भी उपयोग

  • थांदला शासकीय सिविल अस्पताल में डिजिटल एक्सरे की आवश्यकता

jhabua news
थांदला। झाबुआ जिला मुख्यालय की अगर बात अगर छोड़ दी जाए तो पूरे वनांचल में सर्वाधिक मरीज थांदला ब्लॉक में आते है बावजूद इसके यहाँ मूलभूत सुविधाओं की मांग जस की तस बनी हुई है। थांदला सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को सिविल अस्पताल का दर्जा मिल जाने से यहाँ 30 बेड के स्थान पर 60 नही अपितु 100 बेड स्वीकृत हो चुके है लेकिन आज भी यहाँ न तो पर्याप्त बेड उपलब्ध हो पाए है न ही अन्य कोई सुविधा। स्वीकृत स्टॉफ की संख्या भी पूरी नही हो पाने से मरीजों की जान पर बन आती है।  यहाँ स्थापित अधिकांश उपकरण तो अब चलन से ही बाहर हो चुके है व अब उनकी रिपोर्ट भी सही नही आती है बावजूद इसके आज भी यहाँ उन्ही का उपयोग किया जा रहा है। आज से 40 वर्ष पूर्व वर्ष 1980 में स्थापित हुई एक्सरे मशीन को वर्ष 1983 से आज तक एम एस सिसौदिया इकलौते ऐसे ऑपरेटर है जो इस मशीन को चलाने में सक्षम है, लेकिन अब इस मशीन का चलन खत्म हो गया है। वैसे भी शासन की गाइड लाइन के अनुसार यह मशीन सन 2016 में ही डिस्मेंटल (खत्म) मानी जा चुकी है लेकिन फिर भी इसको थांदला स्वस्थ्य विभाग चलाने को मजबूर है। जिसका कारण यहाँ की डूंगरनुमा बसावट के साथ साथ पेटलावद रोड़ व कुशलगढ़ रोड़ के घाट सेक्शन है जहाँ आए दिन कोई न कोई दुर्घटना होती ही रहती है। सूत्रों की माने तो चलन से बाहर यह मशीन झाबुआ ही नही अपितु पूरे मध्यप्रदेश में शायद इकलौती बची है बावजूद इसके यहाँ नई डिजिटल एक्सरे मशीन स्थापित नही होने के पीछे राजनीतिक दबाव व अन्य स्थानों के निजी क्लिनिक में स्थापित डिजिटल एक्सरे मशीन के लिए कमीशन को बड़ा फेक्टर माना जा रहा  है। शासन प्रशासन ने पूर्व में यहाँ बन्द पड़ी सोनोग्राफी मशीन भी प्रदान की जो एक वर्ष से ज्यादा समय होने पर भी शुरू नही हो पाई है तथा वह भी अब चलन से बाहर होने की कागार पर है। जिला स्वास्थ्य प्रबंधन इस मामले में इतना लापरवाह है फिर भी ऐसे लापरवाह गैर जिम्मेदार पर कार्यवाही नही होना बड़ी सेटिंग की तरफ इशारा कर रहा है। हालांकि इनकी लापरवाही का खामियाजा थांदला विकासखण्ड की जनता को भुगतना पड़ रहा है जो छोटी छोटी बीमारी व सर्जरी के लिए बाहर जाने पर मजबूर हो रही है। हर सप्ताह होने वाली बैठक में जिला कलेक्टर यदि इस दिशा में कोई पहल करें तब ही कोई निर्णय निकल सकता है।

जिम्मेदार बोलें ---1.नगर में चिकित्सा व्यवस्था चरमराई हुई है। रोगी कल्याण समिति भी नाम मात्र की बन कर रह गई है ऐसे में थांदला के मरीजों का बाहर जाना मजबूरी बन गया है। शासन प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।  : विक्रम सिंगाड़  समाजसेवी

2.थांदला नगर में आये दिन एक न एक एक्सीडेंट केस आते ही है ऐसे में यहाँ आर्थोपेडिक सर्जन व एक्सरे का न होना दुर्भाग्यपूर्ण है। जिला स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी को इस और ध्यान देना चाहिए। : बीएल पाटीदार विपणन संस्था प्रबंधक

3.राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की पहल पर यहाँ सोनोग्राफी मशीन मिली तो सही पर वह भी बन्द पड़ी है, वही एक्सरे का हाल बेहाल है ऐसे में अब मरीजों को अपनी जान आफत में डालने से बेहतर है, बाहर जाकर ईलाज करवाये यह स्वास्थ्य विभाग की मौजूदा नाकामी है जो यहाँ के खाली पड़े अस्पताल बता रहे है जिसे जल्द सुधार किया जाना आवश्यक है। : पवन नाहर (समाजसेवी संगठन प्रमुख)

4.थांदला सिविल अस्पताल में पर्याप्त स्टॉफ के साथ बेड, डिजिटल एक्सरे व सोनोग्राफी मशीन की सुविधा बहाल होना चाहिए वरना इनकी कमी से क्षेत्र में होने वाली मौत के लिए प्रशासन जिम्मेदार है उसे अपनी जिम्मेदारी का ठीक निर्वहन करना चाहिए। : श्रीमती आशुका कमलेश लोढ़ा (पार्षद)

5 थांदला में आवश्यक सामग्री का व एक्सरे मशीन आदि के विषय में अनेक बार जिला स्वास्थ्य प्रबंधन को लिखा जा चुका है, अब हमारें हाथ में कुछ नही है। : डॉ. अनिल राठौर (ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर)

6.थांदला नगर की आवश्यकताओं को जल्द दूर करने का प्रयास किया जाएगा। रही बात एक्सरे व सोनोग्राफी मशीन की तो जल्द ही उन्हें बदला जाएगा इस सम्बंध में वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा की जा रही है। : डॉ. जयपालसिंह ठाकुर (जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी)


दूध में मिलावट की मौके पर जांच


jhabua news
थांदला । नगर में सुबह खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा नगर में विक्रय किये जा रहे दूध की मौके पर ही मैजिक बॉक्स की सहायता से जांच की गई है। सुबह 7 बजे पहुँची टीम में पंकज कुमार अंचल और राहुल सिंह अलावा मौजूद रहे, जिनके द्वारा थांदला नगर में विक्रय के लिए और डेयरी पर बेचने के लिए जा रहे दूध विक्रेताओं को रोककर मौके पर ही मैजिक बॉक्स की सहायता से दूध में यूरिया, नमक, माल्टोस और पानी की जांच की गई, जिसमे पानी की मात्रा में आंशिक अंतर पाए जाने पर 2 दूध के नमूने जांच के लिए लिये गए है जिन्हें फैट और ेद िकी जांच के लिए भोपाल भेजा जा रहा है।इसके बाद टीम मेघनगर पहुँचे जहाँ रम्भापुर रोड स्थित रामामृत डेयरी पर निरीक्षण कर मैजिक बॉक्स से दूध और घी की जांच की गई और गाय के दूध का नमूना जांच के लिए लिया गया है।खाद्य सुरक्षा अधिकारी पंकज कुमार अंचल द्वारा बताया गया कि मिलावट से मुक्ति अभियान में जिले भर में कार्यवाही लगातार की जा रही है, आगामी दिनों में पुनः दूध विक्रेताओं से दूध के नमूनों की जांच की जावेगी।


एक परिसर एक शाला


झाबुआ। विभाग अंतर्गत एक ही परिसर में विभिन्न स्तर की शालायें पृथक-पृथक ईकाई के रूप संचालित है तथा उक्त विद्यालयों का शैक्षणिक एवं प्रशासकीय नियंत्रण अलग-अलग प्रधानाध्यापक, प्राचार्य के द्वारा किया जा रहा है। एक ही परिसर में स्थित विभिन्न विद्यालयों में उपलब्ध मानवीय एवं भौतिक संशाधनों का अधिकतम और प्रभावी उपयोग एवं एक ही परिसर में संचालित आश्रम, शालाओं, प्राथमिक, माध्यमिक, हाईस्कूल, हायर सेकेण्डरी को एकीकृत विद्यालय के रूप में संचालित करने से निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 आर.टी.ईत्र के प्रावधान की पूर्ति के साथ ही विभिन्न शालाओं पर पृथक-पृथक होने वाले व्यय को एकीकृत करने से समग्र रूप से राशि की बचत होगी। सहायक आयुक्त श्री प्रशांत आर्या ने अवगत कराया कि जिले में आदिम जाति कल्याण विभाग अंतर्गत 150 मीटर की परिधि में लगने वाले आश्रम, शालाओं, प्राथमिक, माध्यमिक, हाईस्कूल, हायर सेकेण्डरी 707 स्कूलों को एकीकृत कर 309 परिसर निर्मित कर शालाओं के रूप में संचालित किया जावेगा। उक्त योजना में कोई भी शाला को बन्द नहीं किया जा रहा है, जबकि शैक्षणिक एवं प्रशासकीय व्यवस्था को सृदृढ़ बनाये जाने का प्रया किया जा रहा है।


अपर कलेक्टर (विकास) श्री जैन द्वारा जन सुनवाई , 39 आवेदन पत्र प्राप्त


jhabua news
झाबुआ,। अपर कलेक्टर (विकास) श्री सिद्धार्थ जैन ने मंगलवार को यहां कलेक्टेªट सभा कक्ष में जन सुनवाई की। इस जन सुनवाई में 39 आवेदन पत्र प्राप्त हुए। श्री जैन ने इस अवसर पर छः वृद्ध जनों को कम्बल प्रदान किए। श्री जैन ने ग्रामीणों की समस्याएं सहानुभूति पूर्वक सुनी और समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिए। इस जन सुनवाई में पेटलावद तहसील के ग्राम बेंगनबर्ड़ी के ग्रामीण ने गांव के ही व्यक्ति द्वारा शासकीय भूमि पर अनाधिकृत कब्जा कर मकान निर्माण कर रास्ता रोकने की शिकायत की और रास्ते पर से अतिक्रमण हटाने का अनुरोध किया। ग्राम गोपालपुरा के कालूसिंह पिता चेनसिंह हिहोर ने माही नहर पेटलावद की लाईनिंग व मजदूरी व अन्य कार्य की राशि दिलवाने का अनुरोध किया। रायपुरिया में स्थित शिर्वी मोहल्ला की श्रीमती पार्वती पति स्व. कालू भारती ने आवेदन प्रस्तुत कर अनुरोध किया की कुछ व्यक्तियों द्वारा मुझे घर से बाहर निकालने का प्रयास कर रहे है इन व्यक्तियों पर नियमानुसार कार्यवाही कर मदद उपलब्ध कराई जाए। ग्राम मेघनगर में गणेश मंदिर के पीछे रोड़ पर अतिक्रमण किया गया है रहवासियों द्वारा इस अतिक्रमण को हटाने की मांग की गई। ग्राम पंचायत छापरी रणवास के ग्रामीण ने तालाब निर्माण में लगाए गए टेªक्टर की राशि ग्रामीण यांत्रिकी विभाग से दिलाने के लिए आवेदन पत्र प्रस्तुत किया। जयस के अनिल कटारा ने शासन प्रबंधन के मंदिरों की सम्पत्ति पर किए गए अतिक्रमण की जांच कर हटाने की मांग की गई है। झाबुआ में स्थित वार्ड नंबर 9 मालिसेरी टेकरी पटवारी काॅलोनी में मूल-भूत सुविधाएं जैसे पानी, बिजली, सड़क, नाली निर्माण, साफ-सफाई तथा बगीचें की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए रहवासियों ने आवेदन पत्र प्रस्तुत किया है। राणापुर थाना क्षेत्र के ग्राम वागलावाट भूरिया के ग्रामीणों ने खेल मैदान का स्थान परिवर्तन करने का अनुरोध किया। इस जन सुनवाई में रायपुरिया के ज्ञानमल मूणन तथा संस्कार मूणन ने प्राथमिक कन्या शाला में सुरक्षा प्रदान करने, उमरिया बेजन्त्री के ग्रामीणों ने सरपंच द्वारा खाते की जमीन पर जबरन रोड़ निर्माण करने पर जमीन व पेडों का मुआवजा राशि दिलाने, पेटलावद तहसील के ग्राम गोपालपुरा तथा ग्राम झावलिया की महिलाएं उचित मूल्य की दुकान का भवन का निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण कराने का अनुरोध किया। इसके अलावा इस जन सुनवाई में आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने अटेचमेंट समाप्त करने, मोटर दिलाने, एक बत्ती कनेक्शन दिलाने इत्यादि से संबंधित आवेदन पत्र प्रस्तुत किए गए। अपर कलेक्टर विकास श्री जैन ने इस जन सुनवाई में प्राप्त आवेदन पत्रों का शीघ्र निराकरण करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। इस जन सुनवाई में अपर कलेक्टर (राजस्व) श्री जे.एस.बघेल, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एम.एल.मालवीय, डिप्टी कलेक्टर सुश्री ज्योति परते, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी मौजूद थे।


फिट इण्डिया सायक्लोथोन, आओ सब सेहत बनाये सब मिलकर सायकल चलायें


jhabua news
झाबुआ। शारीरिक गतिविधि,खेलकूद को नागरिकों के दैनिक जीवन का एक अंग बनाने के लिए एवं सभी नागरिकों में स्वयं के स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा फिट इण्डिया कैम्पेनिंग दिसम्बर 2020 - ’’फिटनेस का डोज-आधा घंटा रोज’’ के अन्तर्गत फिट इण्डिया सायक्लोथान का शुभारंभ मंगलवार को कलेक्टर श्री रोहित सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता के द्वारा हरी झण्डी दिखा कर कलेक्टर कार्यालय से किया गया। फिट इण्डिया सायक्लोथान कलेक्टर कार्यालय से प्रारम्भ होकर पुलिस लाईन, राजगढ नाका, गोपाल कालोनी, भण्डारी पेट्रोल पम्प, ट्ंटया मामा चैराहा, काॅलेज मार्ग, राजवाडा चैक, बुनियादी शाला, उत्कृष्ट विद्यालय खेल मैदान झाबुआ पर सम्पन्न हुई। फिट इंण्डिया सायक्लोथोन में लगभग 125 प्रतिभागियों ने भाग लिया । ’’फिट इण्डिया सायक्लोथान 2020’’ में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को फिट इण्डिया की ओर से ई- सर्टिफिकेट प्रदान किया जावेगा यह जानकारी जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी विजय सलाम ने दी । सायक्लोथोन का मुख्य आकर्षण जिला कलेक्टर श्री सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री गुप्ता रहें, अधिकारीद्वय के द्वारा सायक्लोथोन में स्वयं सायकिल चलाकर सभी युवाओं,खिलाडियांे का उत्साहवर्धन किया एवं फिटनेस का डोज-आधा घण्टा रोज के तहत सभी को फिट रहने का संदेश दिया । इस अवसर पर कलेक्टर श्री सिंह के द्वारा उपस्थित युवाओ, खिलाडियों एवं शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होना चाहियें, फिट इण्डिया कैम्पेनिंग 2020 अन्तर्गत यह बहुत अच्छी पहल हैं, जिले में इस तरह के आयोजन होते रहना चाहिये । इस अवसर पर नेहरू युवा केन्द्र की जिला युवा अधिकारी सुश्री प्रिती, नायक तहसीलदार हर्षल बहरानी, कोषालय अधिकारी श्री मनोज सोलंकी, कुलदीप धबाई, नरेश पुरोहित, योगेश गुप्ता, अवलोक शर्मा, जयन्तीलाल परमार, जेवेन्द्र बोराडे, सूर्य प्रताप सिंह, कमल सोलंकी, राहुल चैहान, बादल पाण्डे, विजय बारिया, विजय गामड, भमरू मेडा फुलसिंह मुजाल्दे, दूले सिंह यातायात पुलिस झाबुआ एवं पैरामैडिकल स्टाफ आदि का सहयोग रहा। 

कोई टिप्पणी नहीं: